Home Blog
गर्भावस्था (Pregnancy) बहुत नाजूक समय होता है. इस दौरान हर कदम फूंक-फूंक कर उठाना पड़ता है. थोड़ी सी भी ऊंच नीच आपके लिए बड़ी संकट खड़ी कर सकती है.
गर्भावस्था में आपके शिशु के शारीरिक विकास हेतु आपको विशेष सावधानी बरतने की जरूरत है. आइए इन्हीं बातों को यहां जानते हैं.
वैश्वीकरण के इस दौर में अंग्रेजी ही क्यों अन्य भाषाएं सीखना भी जरूरी है. लेकिन इससे ज्यादा जरूरी है पहले अपनी मातृभाषा का सम्मान करते हुए इसकी अच्छी जानकारी हासिल करना. मातृभाषा ही आपकी व देश की संस्कृति की पहचान होती है.
जिस तरह बेहतर भविष्य गठन के लिए पढ़ाई जरूरी है, उसी तरह खेल भी. अगर आपकी खेल में भी रुचि है तो इसमें भी भविष्य आजमाएं. ध्यान रहे कि पढ़ाई की अनदेखी न हो.
एनीमिया नवजात शिशु में होने वाली सामान्य बीमारी है. पर यह बीमारी किसी जानलेवा बीमारी का भी घर हो सकती है. इसके कुछ लक्षणों पर ध्यान देकर आप समय रहते अपने बच्चे को इस बीमारी से राहत दिला सकते हैं.
कामकाजी अभिभावकों के लिए बच्चे को डे-केयर में भेजने का प्रचलन काफी तेजी से बढ़ रहा है. आपकी व्यस्तता के बीच बच्चे की देखभाल के लिए यह बेहतर विकल्प भी है. पर हां डे-केयर के बारे में विस्तृत जानकारी हासिल करने के बाद ही बच्चे को यहां भेजना सुरक्षित होगा.
इन दिनों स्वाइन फ्लू का प्रकोप तेजी से बढ़ रहा है. हाल ही में देशभर में इसके करीब 6701 मामले सामने आए हैं. जबकि 226 लोगों की मौत भी हो चुकी है.
कामकाजी महिलाएं घर व ऑफिस को संभालने में तो निपुण होती हैं. पर इन दोनों के बीच अपनी सेहत व खूबसूरती का ख्याल रखना भी आपके लिए बहुत जरूरी है.
किसी भी बच्चे के लिए स्कूल जाने की शुरूआत मुश्किल हो सकती है. पहली बार स्कूल जाने में हर बच्चे को डर लगता है क्योंकि उनके लिए यह दुनिया पूरी तरह से नई होती है. अगर आप कुछ तरीकों को अपनाएंगे तो आपका बच्चा निश्चित ही खुशी-खुशी स्कूल जाने को तैयार रहेगा.
अगर माता-पिता में से किसी एक को भी शराब की लत है तो इससे बच्चे का भावनात्मक विकास काफी प्रभावित होता है.
विज्ञापन

EDITOR PICKS