Home Health Care International Yoga Day: स्वस्थ जीवन जीने का माध्यम है योग!

International Yoga Day: स्वस्थ जीवन जीने का माध्यम है योग!

योग एक ऐसा प्राकृतिक साधन है जिसकी सहायता से स्वस्थ मन के साथ निरोग शरीर भी प्राप्त होता है. इससे मानसिक चिंताएं दूर होती है व मनोबल मजबूत होता है. Benefits of Yoga

100
0

शरीर व मस्तिष्क व आत्मा को जोड़ने का नाम ही योग है. एक योग कितनी सारी बीमारियों की दवा (Benefits Of Yoga) है. यह आपको तनाव मुक्त कर ब्लड प्रेशर को स्थिर रखता है. योग करना हर किसी के लिए जरूरी है. इसे करने के लिए सुबह का वक्त ही सबसे सही होता है. योग हर किसी के लिए फायदेमंद साबित होता है.

भारत में योग को 5,000 हजार वर्ष पुरानी एक मानसिक, शारीरिक व आध्यात्मिक परंपरा के रूप में देखा जाता है. इसकी उत्पत्ति प्राचीन काल में भारत में ही हुई थी. तब लोगों में शरीर व दिमाग में बदलाव के लिए ध्यान करने की प्रथा थी. योग को भारत की प्राचीन संस्कृति का गौरवमयी भाग बोल सकते हैं. इसकी वजह से ही हमारा देश सदियों तक विश्व गुरु रहा है.

yoga-day
World Yoga Day

योग एक ऐसा प्राकृतिक साधन है जिसकी सहायता से स्वस्थ मन के साथ निरोग शरीर भी प्राप्त होता है. स्वस्थ शरीर (Benefits Of Yoga) के लिए योग बहुत जरूरी है. इससे मानसिक चिंताएं दूर होती है व मनोबल मजबूत होता है. योग से मानसिक शांति प्रदान कर जीवन में ऊर्जा व उत्साह का संचार होता है. योग का लाभ उठाने के लिए खुद भी करें व दूसरों को भी इसके प्रति प्रेरित करें. ताकि ज्यादा से ज्यादा संख्या में लोग इसका लाभ ले सकें.

यह दिमाग से अशुद्धता को बाहर निकालता है. इससे मन में नए-नए सकारात्मक विचार (Benefits Of Yoga) आते हैं. जिससे इंसान की गलत प्रवृतियां नष्ट होती है. यह व्यक्तिगत चेतना को मजबूती व मानसिक नियंत्रण का भी माध्यम है. यह भी कह सकते हैं कि योग जीवन जीने का माध्यम है.

योग करने से क्या-क्या फायदे हैं इसकी विस्तृत जानकारी हम यहां साझा कर रहे हैं-

योग के 10 फायदे – 10 Benefits of Yoga

  • शारीरिक, मानसिक व आध्यात्मिक लाभों के लिए शुरू से ही योग का प्रयोग होता रहा है. योग शारीरिक व मानसिक रूप से किसी भी व्यक्ति के लिए वरदान है.
  • नियमित रूप से योगासन करने पर मांसपेशियों का व्यायाम होता है. इससे पाचन क्रिया सही रहता है और भूख अच्छी लगती है. यह तनाव को दूर कर अच्छी नींद लाता है.
  • योगा (Benefits Of Yoga) करने से रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है. जिससे शरीर में मजबूती आती है और इंसान के बीमार होने की संभावना कम रहती है.
  • इससे चेहरे पर चमक बनी रहती है और शरीर स्वस्थ और निरोग रहता है.
  • योगा से शरीर के सभी अंगो का व्यायाम होता है. जिससे तमाम अंग सुचारू रूप से काम करते हैं.
  • अगर मोटापे से परेशान कोई व्यक्ति रोजाना योगाभ्यास करता है तो शरीर से फैट कम हो जाती है.
  • आजकल ध्यान (मेडिटेशन) का प्रचलन देश के साथ विदेशों में भी काफी है. यह योग का महत्वपूर्ण हिस्सा है. भाग दौड़ भरी जिंदगी में लोगों के उपर मानसिक दबाव काफी बढ़ गया है. यह मानसिक तनाव को दूर कर मानसिक शांति प्रदान करता है.
  • व्यक्ति के अंदर सकारात्मक ऊर्जा का विकास करने व मन की एकाग्रता बनाए रखने का बेहतर साधन है योग.
  • ब्लड सुगर लेवल को घटाकर कोलेस्ट्रोल को कम करता है.
  • योग से बढ़ती उम्र के साथ मिलने वाले रोगों से भी निजात मिलती है.
  • यह जीवन को बेहतर बनाने की एक पद्धति है.

विश्व योग दिवस (World Yoga Day):

योग के प्रति लोगों में जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से ही प्रति वर्ष 21 जून को विश्व योग दिवस (World Yoga Day) का पालन किया जाता है. 21 जून वर्ष का सबसे लंबा दिन होता है. योग भी इंसान को दीर्घ जीवन प्रदान करता है. अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की पहल भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने भाषण से 27 सितंबर 2014 को की थी.

>> ‘कोलकाता की कराटे गर्ल’ आयशा बन चुकी हैं प्रेरणास्रोत!

world-yoga-day
World Yoga Day

जिसमें प्रधानमंत्री जी ने कहा था कि –

“योग भारत की प्राचीन परंपरा का एक अमूल्य उपहार (Benefits Of Yoga) है. यह दिमाग और शरीर की एकाग्रता का प्रतीक है. मनुष्य और प्रकृति के बीच सामंजस्य है. विचार, संयम और पूर्ति प्रदान करने वाला है. स्वास्थ्य के लिए एक समग्र दृष्टिकोण को भी प्रदान करने वाला है. यह व्यायाम के बारे में नहीं लेकिन अपने अंदर एकता की भावना, दुनिया व प्रकृति की खोज के विषय में है. हमारी बदलती जीवनशैली में यह चेतना बनकर हमें जलवायु परिवर्तन से निपटने में मदद कर सकता है. तो आइए अंतरराष्ट्रीय योग दिवस को शुरू करने की दिशा में काम करते हैं.”

फिर 11 दिसंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र में 177 सदस्यों द्वारा 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने के प्रस्ताव को मंजूरी मिली थी. 90 दिनों के अंदर पूर्ण बहुमत के साथ प्रधानमंत्री के इस प्रस्ताव को पारित किया गया था. उसके बाद पहली बार “अंतरराष्ट्रीय योग दिवस” का पालन 21 जून 2015 को किया गया.

उद्देश्य (Objectives):

  • वैश्विक स्तर पर योग के प्रति लोगों का ध्यानाकर्षित करना.
  • लोगों में ध्यान की आदत डालना.
  • इसके प्राकृतिक लाभ की जानकारी सभी के साथ साझा करना.
  • सभी को योग के माध्यम से प्रकृति से जोड़ना.
  • विश्व भर में चुनौतीपूर्ण बीमारियों के दर को घटाना.
  • सभी के अंदर वैश्विक समन्वय को मजबूती प्रदान करना.
  • हर किसी को शारीरिक व मानसिक बीमारियों के प्रति जागरूक करना.
  • शारीरिक व मानसिक स्वास्थ्य का बेहतर आनंद लेने के लिए लोगों को स्वस्थ जीवनशैली के बारे में बताना.
  • व्यस्त दिनचर्या में से स्वास्थ्य के लिए समय निकालना.
  • तनाव से राहत दिलाना.

योग एक ऐसा वरदान है जिसे अपनाकर स्वस्थ शरीर के साथ-साथ स्वस्थ मन भी प्राप्त किया जा सकता है. स्वस्थ शरीर जीवन का सबसे अनमोल उपहार होता है. शरीर को स्वस्थ बनाकर निरोगी काया पाने के लिए आप भी योगा को अपनी रूटीन में शामिल करें. इससे मिलने वाले अद्भूत फायदे का लाभ उठाएं. योगा करें व अपने अनुभवों को ‘योदादी’ के साथ कमेंट कर जरूर शेयर करें. #WorldYogaDay

योगा संबंधी जानकारी हासिल करने हेतु प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी का यह वीडियो जरूर देखें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here