Home Pregnancy गर्भावस्था में रहना है स्वस्थ व सुरक्षित तो इन फलों से रहें...

गर्भावस्था में रहना है स्वस्थ व सुरक्षित तो इन फलों से रहें दूर!

गर्भावस्था के दौरान माँ के साथ-साथ गर्भस्थ शिशु की सेहत का भी ख्याल रखा जाता है क्योंकि अगर माँ स्वस्थ है तभी बच्चा भी स्वस्थ रहेगा.

229
0

गर्भावस्था के दौरान हर महिला के लिए सबसे अहम ड्यूटी है अपनी सेहत का ख्याल रखना. इसका मुख्य कारण है कि होने वाली माँ के उपर ही गर्भस्थ बच्चे का भी शारीरिक विकास निर्भर करता है. आप अगर अपने खान-पान में पोषक तत्वों को शामिल करती हैं तो गर्भ में पल रहा शिशु भी पूरी तरह स्वस्थ रहता है. माँ के भोजन से ही बच्चे के शारीरिक विकास में मदद मिलती है. इस सबके लिए जरूरी है कि गर्भवती महिला को अपने खान-पान की सही जानकारी होना, कि उसके लिए क्या सेवन करना लाभदायक है और क्या हानिकारक.

जिस तरह कटहल, कच्चा पपीता, अल्कोहल, अनानास, धूम्रपान का सेवन प्रेगनेंसी के दौरान भूल कर भी नहीं करनी चाहिए. हर महिला यही चाहती है कि प्रेगनेंसी (pregnancy) के दौरान उसे और शिशु किसी को भी परेशानियों का सामना ना करना पड़े. जबकि इन सबके सेवन का असर माँ के साथ-साथ गर्भ में पल रह शिशु पर भी देखने को मिलता है. मतलब उसे कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है.
[Fruits not to eat in pregnancy]

Dont eat pineapple in pregnancy
[Fruits not to eat in pregnancy] source: thehealthsite

तो आइए आपको बताते हैं कि गर्भावस्था के दौरान किन-किन फलों के सेवन से बचना महिला व बच्चे दोनों के लिए लाभदायक होगा:

1. अनानास (Pineapple):

गर्भावस्था की पहली तिमाही में महिला को अनानास का सेवन बिल्कुल नहीं करना चाहिए. अनानास खाने से आपको गर्भाशय के संकुचन का अनुभव हो सकता है और यह कोई सामान्य सी बात नहीं है बल्कि यह गर्भपात का भी कारण बन सकता है. अनानास में ब्रोमलैन नामक एक एंजाइम होता है जो गर्भाशय ग्रीवा की दीवार को नरम कर सकता है. जिसकी वजह से गर्भाशय के संकुचन के साथ रक्तस्त्राव भी हो सकता है. इसलिए अगर आप गर्भावस्था के दौरान इसके सेवन से बचती हैं तो यह आपके लिए लाभदायक होगा.

2. कच्चा पपीता (Raw Papaya):

कच्चा पपीता को स्वास्थ्य के लिए लाभदायक बताया जाता है क्योंकि उसमें मौजूद मौक्रो न्यूट्रिएंट्स और विटामिन हेल्थ के लिए बेहतर होता है. इसके बावजूद प्रेगनेंसी (pregnancy) के दौरान इस पपीते का सेवन वर्जित किया जाता है क्योंकि पपीता खाने से भी गर्भाशय के संकुचन, रक्तस्त्राव क साथ गर्भपात का चांस भी बढ़ सकता है. पपीता भ्रूण के विकास को भी प्रभावित कर सकती है. गर्भवती महिला के लिए नुकसानदेह साबित होने का एकमात्र मात्र कारण इसमें मौजूद लेटेक्स होता है.

3. अंगूर (Grapes):

अंगूर में पाया जाने वाला रेसवेराट्रॉल एक यौगिक है जिसका सेवन अगर आप गर्भावस्था में करती हैं तो यह आपके लिए काफी नुकसानदेह है. अगर आप काले अंगूर खाती हैं तो इसका छिलका पचाना आपके लिए मुश्किल हो सकता है. काले अंगूर का सेवन करने से आपके पाचन तंत्र के कमजोर होने की संभावना रहती है और फिर आपको एसिडिटी व डायरिया जैसी समस्या भी हो सकती है. इन सबकी वजह से शरीर में पानी की कमी हो जाती है. यही वजह है कि गर्भावस्था के दौरान अंगूर का सेवन बिल्कुल नहीं करने की सलाह दी जाती है.

grapes is unhealthy in pregnancy
[Fruits not to eat in pregnancy] source: onlymyhealth

4. इमली (Tamarind):

गर्भावस्था के दौरान आपके शरीर में होने वाले हार्मोनल परिवर्तन के कारण जीभ के स्वाद में भी परिवर्तन आता है और कई बार आपको इमली खाने का मन कर सकता है. जबकि विटामिन सी से भरपूर इमली का सेवन करना आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। इसलिए प्रेगनेंसी (pregnancy) के दौरान जहां तक संभव हो आप इसका सेवन करने से बचें. इमली का सेवन आपके शरीर में प्रोजेस्टेरोन के उत्पादन को दबा सकती है. इमली से आपके भ्रूण को भी नुकसान पहुंच सकता है. प्रोजेस्टेरोन के स्तर को कम करके यह समय से पहले प्रसव और गर्भपात का भी कारण बन सकती है. इसलिए इमली का अधिक मात्रा में सेवन करने से परहेज करना ही सही उपाय है.

5. तरबूज (Watermelon):

तरबूज में पानी की मात्रा बहुत ज्यादा रहती है. शरीर में पानी की कमी को पूरी करने के कारण इसे सेहत के लिए अच्छा माना जाता है. यह शरीर में पानी की कमी को पूरा करने के अलावा शरीर से जहरीले पदार्थों को भी बाहर निकालता है. अब समस्या है कि अगर आप इसका अधिक सेवन करती हैं तो शायद यह गर्भस्थ शिशु के लिए नुकसानदेह साबित हो जाए. इसी कारण प्रेगनेंसी के दौरान तरबूज का अधिक सेवन करने से बचें.

Watermelon is unhealthy
[Fruits not to eat in pregnancy] source: theindianwire

6. फ्रोजेन जामुन (Frozen berries):

गर्भ में पल रहे शिशु तक सभी पोषक तत्व उच्च मात्रा में पहुंचाने के लिए प्रेगनेंसी (pregnancy) के दौरान आपको ताजे व संतुलित चीजों का सेवन करने की सलाह दी जाती है. गर्भावस्था के दौरान किसी डिब्बाबंद या फ्रोजेन चीजों का सेवन करना ठीक नहीं होता क्योंकि यह आपके साथ-साथ गर्भस्थ शिशु के स्वास्थ्य के लिए भी नुकसानदेह हो सकता है. इसलिए आप फ्रोजेन का जामुन का सेवन बिल्कुल ना करे.

7. खजूर (Dates):

प्रेगनेंसी के दौरान खजूर का सेवन करने से यह आपके शरीर को गर्म करने का काम करती है. प्रेगनेंसी के दौरान विटामिन और अन्य पोषक तत्वों से भरपूर खजूर का अधिक सेवन करने से यह गर्भाशय की मांसपेशियों को उत्तेजित करके गर्भाशय में संकुचन पैदा कर सकता है. बेहतर होगा खजूर का अधिक सेवन करने से दूर ही रहे.

8. केला (Banana):

गर्भवती महिला के लिए केले का सेवन करना ऊर्जा से भरपूर रखने में मददगार साबित होता है, पर अगर आपको शुगर की समस्या है तो फिर आप इसके सेवन से बचें. अधिक पके हुए केले का सेवन करने से आपको गेस्टेशनल डायबिटीज की समस्या का सामना करना पड़ सकता है.

unhealthy in pregnancy
[Fruits not to eat in pregnancy] source: gaonconnection

लेटेस्ट अपडेट इनबॉक्स में प्राप्त करें: 

* आवश्यक

आप जानते हैं कि फलों की परिभाषा है सेहतमंद रखना, पर आपका यह जानना भी जरूरी है कि किस दौरान कौन से फल का सेवन करान उचित है और कौन से फल का नहीं. खासकर जब बात गर्भावस्था (pregnancy) के दौरान सेहत की हो रही हो तो इस मामले में सतर्कता बरतना बहुत ही जरूरी है क्योंकि यह वो पल होता है जब दो जान की देखभाल एक साथ करनी होती है. जिसमें सबसे महत्वपूर्ण माँ की भूमिका होती है क्योंकि उनकी सेहत पर ही गर्भस्थ शिशु का शारीरिक विकास निर्भर करता है. हमने उपर आपको कुछ ऐसे फलों की जानकारी दी है जसको अगर आप फॉलो करेंगी तो निश्चित ही यह आपके व शिशु की सेहत के लिए फायदेमंद साबित होगा. आपको मेरा सुझाव कैसे लगा? अगर इस बारे में आपके भी कोई विचार हो तो‘योदादी’ के साथ अपने अनुभव को कमेंट कर जरूर शेयर करें.

आप इस वीडियो को भी देख सकते हैं:

[Fruits not to eat in pregnancy]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here