Home Parenting बेहतर भविष्य के लिए अपने बच्चे को दिलाएं ये 10 संकल्प!

बेहतर भविष्य के लिए अपने बच्चे को दिलाएं ये 10 संकल्प!

आप अपने बच्चे को ये 10 संकल्प दिलाकर देखें सफलता जरूर मिलेगी.

286
0

नव वर्ष के शुरू होने से पहले ही लोग इसकी तैयारियों में जुट जाते हैं और नए वर्ष में कुछ नया करने के लिए संकल्प भी लेते हैं. संकल्प लेना अच्छी बात है पर सिर्फ संकल्प लेना ही नहीं बल्कि उसे पूरा करना भी जरूरी है अन्यथा उस संकल्प का कोई मतलब नहीं रह जाता है. इसलिए आप अपने साथ-साथ अपने बच्चे के बेहतर भविष्य के लिए उन्हें भी संकल्प दिलाएं और संकल्प को पूरा करने का भी प्रयास करें.

Metro Parent

आप अपने बच्चे को ये 10 संकल्प दिलाकर देखें सफलता जरूर मिलेगी.

1. किसी भी बुरी आदत का त्याग करना:

दुनिया में कोई भी इंसान ऐसा नहीं जिसमें कोई बुरी भी आदत ना हो. इस श्रेणी में बच्चे के साथ बड़े भी आते हैं. अगर किसी में 10 अच्छी आदतें हैं तो उसमें कोई बुरी आदत भी है. जहां तक बच्चे की बात है तो उनमें अच्छे-बुरे की कोई पहचान नहीं होती है और वे कुछ भी बहुत जल्दी सीखते हैं. शुरुआती दौर से अगर उन पर ध्यान नहीं दिया गया तो आने वाले दिनों में वह बच्चे को काफी प्रभावित करता है. तो इस वर्ष अपने बच्चे की जो सबसे गंदी आदत हो उसे छोड़ देने का संकल्प दिलाएं.

2. तकनीकी उपकरण का कम इस्तेमाल करना:

आज का युग तकनीक से लैस है. एक तरफ जहां यह तकनीक देश की प्रगति के लिए आशीर्वाद है तो वहीं नई पीढ़ी के बच्चों पर इसका अच्छे के साथ बुरा प्रभाव भी पड़ रहा है. आज कल के बच्चे पढ़ाई से ज्यादा कम्प्यूटर, मोबाइल, फेसबुक व विभिन्न तरह के ऐप में ही व्यस्त रहते हैं. वैसे तो तकनीक सबके लिए जरूरी है पर बच्चों के लिए पहले पढ़ाई फिर ये सब चीजें हैं. बच्चे अगर पढ़ाई से ज्यादा इन सभी चीजों पर ध्यान देने लगे तो पढ़ाई में उनका प्रदर्शन खराब होगा. जरूरी है कि पढ़ाई करने वाले विद्यार्थियों को आप सप्ताह में सिर्फ एक दिन इन सभी चीजों का इस्तेमाल करने दें.

Creative Child Magazine

3. समय के महत्व को समझना:

समय हर इंसान के लिए कीमती है और जो इसके महत्व को समझता है वही अपने लक्ष्यों को प्राप्त करता है. पर इसके लिए जरूरी है कि बचपन से ही समय की अहमियत को समझा जाए क्योंकि बचपन में दी गई सीख पर बच्चे अमल भी करते हैं और इसी पर इनका भविष्य भी निर्भर करता है. तो नए वर्ष पर अपने बच्चे को समय का महत्व समझाते हुए जीवन में आगे बढ़ने का संकल्प जरूर दिलाएं.

4. दूसरों पर ना रहें आश्रित:

अगर आप जीवन में आगे बढ़ना चाहते हैं तो किसी अन्य के भरोसे यह संभव नहीं है. अपना काम खुद से करने के लिए स्वयं को सदैव तैयार रखें. अच्छा-बुरा वक्त हर इंसान का आता है. कई बार ऐसा होता है कि हमें दूसरों से सहायता लेनी पड़ती है पर हर बार दूसरों पर निर्भर रहने से आपकी ही क्षति है. अपना काम स्वयं करने पर सेल्फ रिस्पेक्ट तो बढ़ता ही है व्यक्ति मानसिक तौर पर मजबूत भी रहता है। इसलिए अपने बच्चे को अपना काम स्वयं करने का संकल्प दिलाएं.

firstcry

5. सप्ताह में पांच दिन व्यायाम:

यह तो सभी जानते हैं कि सेहतमंद रहने के लिए व्यायाम एक अच्छा माध्यम है. मानव शरीर के लिए भोजन जितना जरूरी है उतना ही व्यायाम भी. पर कुछ फीसद लोग ही इसे गंभीरता से लेते हुए इस पर अमल करते हैं. सप्ताह में कम से कम पांच दिन व्यायाम करना बेहद लाभदायक है और हर किसी को करना भी चाहिए. अपने बच्चे को भी व्यायाम करने का संकल्प दिलाएं. हो सकता है शुरू करते वक्त आपको परेशनी हो, तो थोड़ा-थोड़ा करके शुरू करना भी ठीक रहेगा.

6. रोजाना पर्याप्त नींद लेना:

रोजाना की जीवनचर्या में सिर्फ व्यस्त रहने से काम नहीं चलेगा. रोजाना के कामकाज के साथ ही स्वस्थ शरीर के लिए अच्छी नींद भी उतना ही जरूरी है जितना शरीर के लिए सेहतमंद खाना. आपके साथ ही बच्चे भी सुबह जल्दी उठते हैं और पूरे दिन स्कूल, ट्यूशन, घर में पढ़ाई व खेलकूद में व्यस्त रहते हैं. जिस कारण बच्चे शारीरिक व मानसिक दोनों रूप से थक जाते हैं. सिर्फ यही नहीं रात को जब वे टीवी देखने लगते हैं तो उससे हटने का नाम नहीं लेते. इस तरह वे देर-रात तक जगे रहते हैं और फिर स्कूल के लिए उन्हें सुबह जल्दी जगना पड़ता है, ऐसे में उनकी नींद पूरी नहीं हो पाती और इसका स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ता है. इसलिए बच्चे को रोजाना कम से कम 7 घंटे सोने का संकल्प दिलाएं क्योंकि सफलता के लिए शरीर का स्वस्थ रहना महत्वपूर्ण है.

Read also: क्या आपके बच्चे के लिए सुरक्षित है डे-केयर?

7. रोजाना समय पर नाश्ता:

सुबह का नाश्ता मानव शरीर को पूरे दिन एनर्जी देता है और यह शरीर संतुलित बनाए रखने में भी मददगार होता है. पर अधिकांश बच्चे नाश्ता करने में आनाकानी भी करते हैं. बच्चे को नाश्ता की खूबियां बताते हुए उसे रोजाना समय पर नाश्ता करने का संकल्प दिलाएं. सही समय पर नाश्ता बच्चे को स्वस्थ बनाए रखता है.

8. दूसरों की बुराई ना करना:

बच्चे में अच्छी व बुरी आदतें दोनों बचपन से ही प्रवेश करती है. कुछ बच्चों में ऐसी आदत होती है कि वह अपने सहपाठियों की बुराई करते नहीं थकते. दोस्तों की अच्छाई देखकर उनके अंदर ईर्ष्या की भावना पनपने लगती है और बच्चा घर आकर उसकी बुराई करता रहता है. ऐसे में आप सिर्फ बच्चे की बातों को सुनकर चुप ना रहें बल्कि उसे दोस्तों के साथ मिलकर और उनकी खुशी में भी खुश होने की नसीहत दें. ऐसे बच्चे को दोस्तों की बुराई नहीं करने व मिलजुल रहने का भी संकल्प दिलाएं.

Uncommon Sense

9. गुस्से पर नियंत्रण:

गुस्सा बहुत बुरी चीज है और इंसान को गुस्सा आना तो प्रकृति की देन है पर बहुत अधिक गुस्सा हर किसी के लिए घातक है. तेज गुस्से में कोई भी इंसान सही फैसला नहीं ले पाता. क्रोध में इंसान अपना आपा खो देता है और कभी-कभी तो वह हिंसक भी हो जाता है. ऐसा बच्चों में भी देखा जाता है कि जिस बच्चे को अधिक गुस्सा आता है वह सिर्फ चिल्लाने तक नहीं बल्कि मारपीट तक भी उतारू हो जाते हैं. ऐसे बच्चे को पहले गुस्से से होने वाली हानि की जानकारी देते हुए तो नए वर्ष पर गुस्सा शांत रखने का संकल्प दिलाना भी सही कदम है.

Read also: क्या आपके बच्चे को भी है एनीमिया, ऐसे करें उपचार!

10. सिर्फ संकल्प लेना नहीं पूरा करना भी जरूरी:

नए साल के उत्साह में ऐसा ना हो कि आप अपने बच्चे को बहुत सारा संकल्प दिला दें. ऐसा करने पर बच्चे का ध्यान हर तरफ विभाजित हो जाएगा और वह किसी भी एक संकल्प पर ध्यान केंद्रित नहीं कर पाएंगा. इससे बेहतर है कि आप बच्चे को कोई एक या दो संकल्प ही दिलाएं जो ज्यादा अहम हो तो उसे वह सफलतापूर्वक पूरा भी कर पाएगा. संकल्प पूरा होने पर वह आत्मविश्वासी भी बनेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here