Home Parenting परवरिश से जुड़ी बारीक बातें (Parenting Quotes)!

परवरिश से जुड़ी बारीक बातें (Parenting Quotes)!

माता-पिता बनना अपने आप में एक खूबसूरत अनुभव होता है. बच्चे का अच्छा या खराब होना माता-पिता पर ही निर्भर करता है. आपकी परवरिश जैसी होगी, बच्चा भी वैसा ही बनेगा.

माता-पिता बनना अपने आप में एक खूबसूरत अनुभव होता है. इसके बाद बारी आती है परवरिश (Parenting Quotes in Hindi) की. सिर्फ परवरिश और अच्छी परवरिश दोनों में जमीन-आसमान का फासला है. बेहतर अभिभावक बनना एक हुनर है. अगर आप इस हुनर का सही इस्तेमाल करते हैं तो आपका बच्चा अवश्य ही एक बेहतर नागरिक बनेगा. बच्चे का अच्छा या खराब होना माता-पिता पर ही निर्भर करता है. आपकी परवरिश जैसी होगी, बच्चा भी वैसा ही बनेगा. आपकी परवरिश पर ही संतान का भविष्य निर्भर है.

parenting is a important duty
source: tinystep

अगर आपकी परवरिश (Parenting Quotes in Hindi) अच्छी है. आपकी परवरिश में कोई कसर नहीं है तो बच्चा जरूर अच्छा बनेगा. विशेषज्ञ की मानें तो अगर आप सही हैं. आपका संतान पर पूरा ध्यान रहता है. वह क्या कर रहा है, कहां जा रहा है. बच्चे के लिए क्या सही है क्या गलत है. अगर बच्चा कुछ गलत कदम उठा रहा हो तो उसे समय रहते समझाते हैं. बच्चा कुछ भी गलत करे तो उसे बढ़ावा ना देकर समझाने का प्रयास करें. ताकि उसे बचपन से ही सही-गलत की पहचान हो सके. अगर आप इन सभी विषयों पर ध्यान देते हैं तो बच्चे की परवरिश अच्छी होगी.

प्यार से समझाएं (Explain with love)

बतौर अभिभावक आपको कुछ अहम बातों पर ध्यान रखना जरूरी है. आमतौर पर अभिभावकों का मानना होता है कि मारने-पीटने से ही बच्चे अनुशासन में रहते हैं. जबकि ऐसा नहीं है. बल्कि बच्चे को प्यार से समझा कर उन्हें नियंत्रण में रखा जा सकता है. इसके विपरीत अगर बच्चे के साथ हमेशा कड़ा रूख अपनाया जाता है, तो उसका बच्चे पर बुरा प्रभाव पड़ता है. हर बच्चा असाधारण और प्रतिभाशाली होता है.

parenting
source: lithium

जरूरत है शुरू से ही बच्चे को इसके अनुरूप तैयार करने की. इसमें सबसे अहम है बच्चे में छिपी प्रतिभा को समझने की. आप अपनी इच्छा बच्चे पर कभी ना थोपें. बल्कि बच्चा भविष्य में जो बनना चाह रहा हो उसे प्राथमिकता दें. साथ उसे आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहन की भी आवश्यकता होती है.

परवरिश संबंधी कुछ अनमोल वचन –

जिसकी परवरिश अच्छी ना हो, वह किसी का सम्मान नहीं करता. जिसके अपने अच्छे होते हैं, वह कभी किसी से अपमान नहीं सहता.

आपके बच्चे को उपहार की तुलना में आपकी उपस्थिति की आवश्यकता है.

अच्छे संस्कार किसी मॉल से नहीं परिवार के माहौल से मिलते हैं.

न जरूरत बनाती है, न ख्वाहिश बनाती है. इंसान जो बनता है उसे परवरिश बनाती है.

बच्चों को सीख देने का जो श्रेष्ठ तरीका मुझे पता चला है वह यह है कि बच्चों की चाह का पता लगाया जाए और फिर उन्हें वही करने की सलाह दी जाए.

अपना जीवन ऐसे जिएं कि आपके बच्चे अपने बच्चों से कह सकें कि आप न केवल किसी प्रशंसनीय निमित्त के समर्थक थे, आप उसका पालन भी करते थे.

किसी बालक की क्षमताओं को नष्ट करना हो तो उसे रटने में लगा दो.

जन्म देने वाले माता पिता से अध्यापक कहीं अधिक सम्मान के पात्र हैं, क्योंकि माता पिता तो केवल जन्म देते हैं, लेकिन अध्यापक उन्हें शिक्षित बनाते हैं, माता पिता तो केवल जीवन प्रदान करते हैं, जबकि अध्यापक उनके लिए बेहतर जीवन को सुनिश्चित करते हैं.

इसे भी पढ़ें – बच्चे को बताएं इन 10 महत्वपूर्ण आविष्कारों के बारे में!

जब हम अपने बच्चों को जीवन के बारे में सब कुछ बताने की कोशिश कर रहे होते हैं तब हमारे बच्चे हमें बता देते हैं कि जीवन असल में है क्या!

ये कितना अद्भुत है कि बच्चे कितनी जल्दी कार चलाना सीख लेते हैं, पर उन्हें लॉनमूवर, स्नो-ब्लोअर या वैक्यूम क्लीनर समझ नहीं आता.

किसी ने भी अभी तक पूरी तरह से बच्चे की आत्मा में छुपे सहानुभूति, दया और उदारता के खजाने को नहीं जाना है. वास्तविक शिक्षा का प्रयास उस खजाने को खोलना होना चाहिए.

हम अपनी इच्छा अनुसार अपने बच्चों को नहीं बना सकते , हमें उन्हें उसी रूप में स्वीकारना और प्रेम करना होगा जिस रूप में भगवन ने उन्हें हमें दिया है.

यदि आप अपने बच्चों को बुद्धिमान बनाना चाहते हैं तो उन्हें परियों की कहानिया सुनाएं. यदि आप उन्हें और भी बुद्धिमान बनाना चाहते हैं तो उन्हें और अधिक परियों की कहानियां सुनाएं.

parenting
source: shutterstock

अधिकांश माता-पिता की ऐसी सोच होती है कि अगर वे बच्चे की आलोचना करते हैं तो बच्चा अनुशासित होगा. उसका दिमाग विकसीत होगा. जबकि आलोचना करना बिल्कुल गलत है. हर बात पर आलोचना करने से बच्चे के दिमाग पर बुरा प्रभाव पड़ता है. आलोचना करने से बच्चे की किसी बुरी आदत में सुधार नहीं होता. सिर्फ आलोचना करने पर अपना ध्यान केंद्रित ना करके बच्चे की तारीफ करना भी सीखें. तारीफ का बच्चे के दिमाग पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है. उनका आत्मविश्वास बढ़ता है.

इसे भी पढ़ें – कैसे करें अपने बच्चे का नामकरण, जानें कुछ अच्छे नाम!

जिसके बाद बच्चा किसी गलत काम को करने से पहले सोचता है. वह संभव प्रयास करता है कि ऐसा कुछ काम करें जिससे फिर उसकी तारीफ हो. इसके विपरीत अगर आप बच्चे की बात-बात में आलोचना करते हैं को फिर बच्चा की सोच नकारात्मक होने लगती है. ज्यादातर देखा जाता है कि माता-पिता बच्चे की तुलना अपने बच्चे से करते हैं. इस तुलना का भी बच्चे के उपर बुरा प्रभाव पड़ता है. ऐसा करने से बच्चे के अंदर उस बच्चे के प्रति ईर्ष्या की भावना पैदा होती है. इसलिए अच्छी परवरिश से इन सभी चीजों को दूर रखना ही सही है.

आजीवन चलने वाली ड्यूटी (Lifelong duty)

परवरिश (Parenting Quotes in Hindi) शब्द सुनने में जितना खूबसूरत लगता है, यह ड्यूटी उतना ही ज्यादा महत्वपूर्ण है. यह ड्यूटी बच्चे के जन्म से लेकर आजीवन चलती रहती है. अपने दायित्वों का सही से निर्वहन करने के लिए आपको सोच-समझ कर कदम उठाने की जरूरत है. परवरिश कोई आसान काम नहीं है. पर हां अगर आप पर्याप्त प्लानिंग के साथ इसे करते हैं तो यह काम काफी आसान हो जाता है.

वैसे भी कौन माता-पिता नहीं चाहते कि बच्चे को अच्छी परवरिश
(Parenting Quotes in Hindi) दें, अच्छे संस्कार दें. पर इस सपने को पूरा करना आपके उपर ही निर्भर करता है, कि आप बच्चे को कैसा ज्ञान दे रहे हैं, उसे क्या सिखा रहे हैं. उसकी परवरिश की तमाम जरुरतें तो पूरी हो रही है? इसके अलावा भी कई ऐसे पहलू हैं जिस पर अमल करना जरूरी है. तभी आपका बच्चा एक बेहतर नागरिक बनता है.

इसे भी पढ़ें – खेल-खेल में ऐसे बच्चों को दे सकते हैं एडुकेशन!

study is also important in parenting
source: shutterstock

हमने यहां परवरिश (Parenting Quotes in Hindi) से जुड़ी कुछ अहम जानकारियां साझा की है. इसे अगर आप अपने जीवन में भी लागू करते हैं तो इसका बच्चे के भविष्य निर्माण में फायदा मिलेगा. सही परवरिश से ही सुव्यवस्थित समाज का निर्माण होता है. समय रहते अगर इस पर ध्यान नहीं दिया गया तो फिर इसे संभालना मुश्कित होता है. क्या आपको नहीं लगता कि बच्चे की परवरिश एक महत्वपूर्ण जिम्मेदारी है? आपको हमारा विचार कैसा लगा? इसे आप ‘योदादी’ के साथ अपने अनुभव को कमेंट कर जरूर शेयर करें. #ParentingQuotes

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here