Home Health Care अगर बच्चा जहरीली चीजें निगल ले तो ऐसे करें प्राथमिक उपचार!

अगर बच्चा जहरीली चीजें निगल ले तो ऐसे करें प्राथमिक उपचार!

304
0

बच्चे जब काफी छोटे होते हैं तो प्रायः सबकी आदत होती है कि अपने आस-पास मिली किसी भी चीज को उठाकर मुंह में रख लेना. बच्चे इतने मासूम होते हैं कि उन्हें पता ही नहीं चलता कि वे मुंह में क्या डाल रहे हैं. वैसे तो यह सामान्य आदत है पर इस आदत में ही कभी-कभी बच्चा किसी जहरीली चीजों को भी निगलने से बाज नहीं आता और उसे निगल कर बच्चा बीमार पड़ जाता है. सर्वे में ऐसे कई मामलों का खुलासा हुआ है जिसमें पता चला है कि प्रति वर्ष बच्चे गलती से ऐसी चीजें खा लेते हैं जिसमें रासायनिक तत्व होते हैं, जिसे खाने के बाद बच्चा बीमार पड़ जाता है. बच्चों की सुरक्षा के लिए आपको विशेष सावधानी बरतने की जरूरत है.

baby with toy
mail

थोड़ी सी सावधानी आपको व अपके बच्चो को इस गंभीर परेशानी से निजात दिला सकती है.

1. जहरीली चीजों का प्रभाव

बच्चे के शरीर में जब कोई जहरीला पदार्थ प्रेवश करता है चाहे वो निगलने, छूने, इंजेक्शन या फिर कोई जहरीला कीड़ा ही काट ले तो वह बच्चे को बीमार कर देता है. सफाई में इस्तेमाल होने वाले केमिकल भी बच्चे को बीमार कर सकता है. बच्चे का शरीर इतना कोमल होता है कि जहरीले पदार्थों की छोटी सी मात्रा भी बच्चे के लिए काफी नुकसानदेह साबित हो सकती है.

2. सावधानी

अभिभावक अगर सतर्क रहें तो बच्चे को इस तरह की खतरनाक चीजों से बचाया जा सकता है. ध्यान रखें कि ऐसी चीजें जिसके करीब जाने से बच्चे को हानि पहुंच सकती है, बच्चे को वैसी चीजों से दूर ही रखें, पर कई बार तमाम कोशिशों के बावजूद बच्चे को संभालना मुश्किल होता है. अगर बच्चा गलती से किसी जहरीली वस्तु को मुंह में रख लेता है तो ऐसे में अभिभावक इन लक्षणों से इसका पता लगा सकता हैं.

Read also: आपका बच्चा डिप्रेशन का शिकार तो नहीं है? जानिए ऐसे!

3. लक्षण पहचानें

अगर आपका बच्चा अचानक बीमार पड़ जाए तो आपको ध्यान देना होगा कि बच्चे ने कुछ जहरीला पदार्थ तो नहीं खा लिया जो उसे नुकसान कर गया हो. इस दौरान अगर आपको बच्चे की किसी हरकत पर संदेह हो तो उसके इन लक्षणों को ध्यान से देखें. बच्चे के पेट में दर्द, मुंह में दर्द, पेट दर्द, उल्टी, दस्त, सुस्ती व बुखार आना, त्वचा पर लाल चकत्ते होना, दौड़ा पड़ना, त्वचा और होंठ नीले पड़ना, सांस लेने में दिक्कत, चिड़चिड़ापन, भूख न लगना आदि लक्षणों पर विशेष रूप से ध्यान देने की जरूरत है.

suffering from fever
cloudfront

4. तुरंत क्या करना चाहिए

पहले तो बच्चे का मुंह चेक करें और अगर उसने मुंह में कुछ रखा है तो तुरंत उसे निकाल दें.

अगर बच्चे ने मुंह में अगर कोई केमिकल तत्व या सफाई के लिए इस्तेमाल होने वाले क्लीनर को रखा है तो उसकी बोतल पर एक्सीडेंटल पॉइजनिंग से संबंधी निर्देश को पढ़ना जरूरी है.

त्वचा पर अगर किसी जहरीले तत्व का प्रभाव दिख रहा हो तो उस हिस्से को बहते हुए पानी में रखें.

बच्चे ने आंखों में अगर कोई ऐसी वस्तु रख ली हो जो जिससे उसके आंख लाल हो गए हों और जलन हो रही हो तो आंख को ठंडे पानी से धोएं.

जहरीली कोई वस्तु बच्चे के शरीर के अंदर अगर प्रवेश कर गई हो तो बच्चे तुरंत ताजी हवा में ले जाएं.

Read also: क्या आप भी अपने बच्चे के चाय की लत से हैं परेशान!

बच्चा अगर उल्टी कर दे तो उसे करवट दिलाकर कर लिटाएं जिससे उसे सांस लेने में कोई परेशानी ना हो.

बच्चे में अगर जीवित होने के लक्षण जैसे शरीर में हरकत, सांस लेना या खांसना आदि ना दिखे तो उसे जल्द से जल्द कृत्रिम श्वांस देने की कोशिश शुरू करें.

अगर आपको पता चल गया हो कि बच्चे ने कुछ जहरीला पदार्थ खा लिया है जिससे उसकी स्थित गंभीर होती जा रही है.

ऐसे में बच्चे को तुरंत अस्पताल ले जाएं व डॉक्टर के परामर्श से ही उसे दवा दिलाएं.

stomach pain
babycenter

संभव हो तो बच्चे ने जो चीज खाई है उसका टूकड़ा भी सैंपल के रूप में ले जाएं ताकि चिकित्सक को समझने में आसानी हो.

अगर आपको पता हो कि बच्चे ने कितनी देर पहले वह जहरीला पदार्थ खाया है तो उसकी जानकारी भी चिकित्सक को दें.

5. ये हो सकती हैं जहरीली चीजें

घर की सफाई करने वाला फिनाइल व फ्लोर क्लीनर काफी जहरीला पदार्थ है.

कॉस्मेटिक्स और मेकअप.

Read also: क्या आपके बच्चे के लिए सुरक्षित है डे-केयर?

डॉक्टर के परामर्श पर घर में लाई गई कोई दवाएं.

कभी-कभी बच्चे खेलते हुए खिलौने को भी चबा जाते हैं और फिर खिलौने के टुकड़े को निगल भी जाते हैं.

baby with toy
letidor

कीटनाशक दवाएं.

मालिस के लिए इस्तेमाल होने वाली तेल.

डियोड्रेंट व परफ्यूम.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here