Home Health Care नानी की कोख से नातिन का जन्म, जानिए कैसे हुआ ये चमत्कार!

नानी की कोख से नातिन का जन्म, जानिए कैसे हुआ ये चमत्कार!

बेटी को निःसंतान देखना किसे अच्छा लगता है. बेटी की खुशी ने लिए नानी ने सरोगेसी के माध्यम से नातिन को जन्म दिया. Surrogacy Process in Hindi

दुनिया में आए दिन कुछ न कुछ अजीब घटनाएं सुनने को मिलती है. अब ह्यूस्टन की एक खबर बताते हैं जहां सरोगेसी (Surrogate Grandmother) का एक नया मामला प्रकाश में आया है. जहां एक मां ने बेटी की मां बनने की ख्वाहिश पूरी की. जी हां, एक नानी ने अपनी नातिन को जन्म दिया है.

खबर है कि ह्यूस्टन में रहने वाले केली मैककिससैक (28) और एरोन मैककिसैक (33) पिछले तीन सालों से अपनी फैमिली बढ़ाने की कोशिश कर रहे थे. लेकिन वो मां नहीं बन पा रही थी. हर बार उसका गर्भपात हो जाता था. एक नहीं बल्कि केली को तीन बार गर्भपात के दुःखों से गुजरना पड़ा था.

बच्चे के लिए उन्होंने कई इनफर्टिलिटी उपचार भी कराए लेकिन इच्छा पूरी नहीं हुई. इनविट्रो फर्टिलाइजेशन (आइवीएफ) विधि के अंतिम चरण में गर्भ धारण करने के लिए दंपती के पास मात्र चार अंडे ही बचे थे. तमाम कोशिशों के बावजूद उनके घर का आंगन सूना था. केली की मां ट्रेसी थाम्पसन से बेटी का दर्द देखा नहीं जा रहा था लेकिन वो भी असहाय थी.

नानी ने ही रखा सरोगेट मदर बनने का प्रस्ताव Surrogate Grandmother

फिर एकदिन उन्होंने बेटी-दामाद के सामने सरोगेट मदर बनने का प्रस्ताव रखा. केली की मां की उम्र 54 होने की वजह से सरोगेट की प्रक्रिया उनके लिए मुश्किल थी. क्योंकि इतनी ज्यादा उम्र में उनका शरीर गर्भधारण के लिए मुश्किल था. लेकिन जब वह चिकित्सक के पास गई तो उन्होंने इसे भी संभव कर दिखाया.

इसके बाद गत 6 जनवरी को मां ने केली की बेटी को जन्म दिया. जन्म के बाद केली की बेटी व मां दोनों ही स्वस्थ हैं. नातिन को जन्म देकर (Surrogate Grandmother) ट्रेसी ने सरोगेसी का आदर्श प्रस्तुत किया है. यह पूरी जानकारी टेक्सास स्थित मेडिकल सेंटर ऑफ प्लानो द्वारा दी गई है. मेडिकल सेंटर के अनुसार जन्म के समय बच्ची का वजन छह पाउंड व 11 औंस था.

बेटी के जन्म के बाद केली की खुशी का ठिकाना नहीं था. ‘केली ने कहा कि मेरी मां ने मुझे सबसे बड़ा तोहफा दिया है.’

क्या है सरोगेसी? Surrogacy Process

1. निःसंतान दंपत्ति के लिए सरोगेसी (Surrogate Grandmother) किसी वरदान से कम नहीं है. इसके माध्यम से कोई भी व्यक्ति संतान सुख हासिल कर सकता है.

2. सरोगेसी की जरूरत तब पड़ती है जब किसी महिला को या तो गर्भाशय का संक्रमण हो या फिर वह किसी अन्य कारण से ही गर्भ धारण करने में सक्षम नहीं हो रही हो.

3. बार-बार गर्भपात हो रहा हो या फिर बार-बार आईवीएफ तकनीक फेल हो रही हो.

4. आधुनिक युग में कई तकनीक आ चुकी है जो संतान सुख प्राप्त करने में मदद करती है.

5. जो दंपत्ति अपना खुद का बच्चा चाहता है उसके लिए सरोगेट मां (Surrogate Grandmother) की जरूरत पड़ती है. सरोगेसी में एक अन्य महिला और दंपत्ति के बीच एक एग्रीमेंट होता है. जसमें बच्चे के जन्म होने तक एक अन्य महिला के कोख को किराए पर लिया जाता है.

इसे भी पढ़ें: 74 वर्ष की महिला ने दिया जुड़वा बच्चियों को जन्म, जानें कैसे साकार हुआ मां बनने का सपना!

6. परंपरागत सेरोगेसी में, शुक्राणु का इस्तेमाल करते हुए कृत्रिम गर्भाधान आरोपित किया जाता है या किसी हेल्थ क्लिनिक में इंट्रासर्वाइकल इंसेमिनेशन द्वारा ऐसा किया जाता है.

7. सेरोगेट मां बनने के लिए पहले से तैयार भ्रूण को हस्तांरित करने की जरूरत होती है, इसलिए इस प्रक्रिया को विशेषज्ञ और डॉक्टरों की देखरेख में क्लिनिक में ही किया जाता है.

8. जो महिला किसी और दंपति के बच्चे को अपनी कोख से जन्म देने को तैयार हो जाती है उसे ही ‘सरोगेट मदर’ कहा जाता है.

9. यह सबसे पहले 2014 में स्वीडन में किया गया था.

किस तरह होता है ऑपरेशन?Surrogacy Process in India

सरोगेसी (Surrogate Grandmother) में गर्भाशय देने व लेने वाली दोनों ही महिलाओं को बड़े ऑपरेशन से गुजरना पड़ता है. यह प्रक्रिया लगभग 10 घंटे की होती है. इसमें काफी खतरा भी होता है. ऑपरेशन के दौरान यूटरस के साथ फैलोपियन ट्यूब्स को भी बाहर निकाला जाता है.

ताकि उस धमनी को खोजा जा सके जो गर्भाशय तक खून पहुंचाती हैं. ऐसे मामलों में ज्यादातर मां ही अपनी बेटी को गर्भाशय देती हैं. इसके बाद महिला के अंडाणु लेकर इनविट्रो तकनीक से उन्हें फर्टिलाइज किया जाता है. फिर बाद में उन्हें भ्रूण में ट्रांसप्लांट किया जाता है.

कैबिनेट से पास सरोगेसी रेगुलेशन बिल 2016 में यह साफ है कि अविवाहित पुरुष या महिला, सिंगल, लिव-इन रिलेशनशिप में रहने वाले जोड़े व समलैंगिक जोड़े भी अब सरोगेसी के लिए आवेदन नहीं कर सकते हैं. वहीं अब सिर्फ रिश्तेदारों में मौजूद महिला ही सरोगेसी के माध्यम से मां बन सकती है. #SurrogateMother

(योदादी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here