Home Experts Advice 11 रामबाण नुस्खे आपके लिए, दादी मां की सलाह आज भी है...

11 रामबाण नुस्खे आपके लिए, दादी मां की सलाह आज भी है कारगर!

दादी मां के पास सेहत से जुड़े इतने टिप्स होते हैं कि आपको डॉक्टर के पास जाने की जरूरत ही न पड़े!

दादी मां के पास सेहत से जुड़े इतने टिप्स होते हैं कि आपको डॉक्टर के पास जाने की जरूरत ही न पड़े. घर बैठे ही घरेलू उपचार से आप तंदुरुस्त हो सकते हैं. वाकई पहले न तो इतनी बीमारियां थी और न इतनी सुविधाएं लेकिन फिर भी लोग इतने अवेयर थे कि अपना उपचार घर में ही कर लिया करते थे. इससे धन और समय की बचत होती ही है, साथ में अन्य परेशानियों से गुजरे बिना ही स्वास्थ्य ठीक हो जाता है.

हम बेहद उपयोगी नुस्खों को लेकर आए हैं जिसे घर में आसानी से आजमाया जा सकता है –

navodayatimes

1. बच्चों में उल्टी-दस्त

छोटे बच्चों में उल्टी-दस्त की समस्या आम होती है. कभी-कभी तो ये माता-पिता की चिंता का कारण बन जाता है. ऐसे में पके हुए अनार के फल का रस कुनुकुना गरम करके सुबह, दोपहर और शाम को 1-1 चम्मच पिलाने से अवश्य ही आराम मिल जाता है.

2. सर्दी जुकाम

ठंढ़ के समय सर्दी-जुकाम की समस्या लाजमी है. घरेलू उपचार से इस पर आसानी से काबू पाया जा सकता है. बता दें कि रात को सोने से पहले 1 पाव गाय के गरम दूध में 12 दाना कालीमिर्च एवं 1 तोला मिश्री को पीसकर मिला दें और उसका सेवन करें. एक सप्ताह के भीतर आपको आराम मिल जाएगा. वहीं अगर किसी को कुकुर खांसी की समस्या है तो फिटकरी को तवे पर भून लें और उसे महीन पीस लें। उसके बाद 3 रत्ती फिटकरी के चूर्ण में चीनी मिलाकर सुबह, दोपहर और शाम को दें तो समस्या दूर हो जाएगी.

kidhealthcenter

3. मस्तिष्क की कमजोरी

बच्चे ही नहीं, बड़ों में भी मस्तिष्क की समस्या हो सकती है. खासकर स्मरणशक्ति को लेकर संजीदा रहने की जरूरत होती है. मेहंदी का बीज पीसकर शहद के साथ प्रतिदिन 3 बार लेने से स्मरणशक्ति मजबूत होती है. ये उपाय सिरदर्द में भी आराम पहुंचाने में कारगर साबित होता है.

4. पेट में कीड़े की समस्या

खासकर बच्चों के पेट में कीड़े होने की समस्या देखी जाती है. 1 बड़ा चम्मच सेम के पत्तों का रस शहद के साथ दिन में 3 बार देने से पेट के कीड़े मर जाते हैं. इसके अलावे सुबह-शाम प्याज का रस गरम करके 1 तोला पिलाने से पेट के कीड़ों का सफाया हो जाता है.

5. दांत में दर्द

बच्चे अगर दांत की सही देखभाल न करें तो कई प्रकार की समस्याएं होती हैं जिनमें दांत-दर्द प्रमुख है. हल्दी एवं सेंधा नमक पीसकर उसे सरसों तेल में मिलाकर सुबह-शाम दांत मांजने से दर्द समाप्त हो जाता है. अगर दांतों में सुराख हो तो कपूर को महीन पीसकर दांतों पर मलने से दांतों के दर्द में आराम मिलता है.

thehealthsite

6. पेट की अन्य समस्या

अनियमित खाने से पेट में विकार हो जाता है जिससे लोग परेशान रहते हैं. ऐसी अवस्था में अजवाइन, कालीमिर्च एवं सेंधा नमक को बराबर मात्रा में लेकर इसका चूर्ण बना लें और रात के समय नियमित सोने से पहले गरम पानी के साथ लें. ऐसा करने से उदर विकार दूर हो जाता है.

7. पेशाब में समस्या

अगर पेशाब में चीनी की समस्या है तो जामुन की गुठली सुखाकर महीन पीस लें और प्रतिदिन 3 बार जल के साथ सेवन करें, आराम मिलता है. वहीं ताजे करेले का रस नित्य पीने से भी चीनी की समस्या दूर होती है. इतना ही नहीं, अगर पेशाब में जलन की समस्या हो तो ताजे करेले को महीन-महीन काटकर उसे हाथों से मॉल दें तथा उसके जल को किसी पात्र में जमा कर लें. इस पानी को 50 ग्राम की खुराक बनाकर 3 बार सेवन करने से सुधार दिखेगा.

8. कब्ज दूर करने के उपाय

1 बड़ा नींबू काटकर उसे रात के समय ओस में छोड़ दें और सुबह 1 गिलास चीनी के शरबत में उस नींबू को निचोड़कर उसमें काला नमक डालकर सेवन करें, कब्जियत दूर हो जाती है. वहीं अगर खूनी दस्त की समस्या हो तो 2 तोला जामुन की गुठली को ताजे पानी के साथ पीस लें और फिर छानकर कुछ दिन सुबह 1 गिलास सेवन करें। अगर मंदाग्नि हो तो अदरक के छोटे-छोटे टुकड़े करके नींबू के रस में डालकर और नाममात्र का सेंधा नमक मिलाकर 5-7 टुकड़े नित्य भोजन के साथ खा लें, मंदाग्नि ठीक हो जाएगी.

thehealthsite

9. कान दर्द

कान के दर्द में प्याज का रस बेहद आराम पहुंचाता है. प्याज को पीसकर उसके रस को कपड़े से छान लें। फिर उसे गरम करके 4 बूंद कान में डालें. ऐसा करने से कान का दर्द समाप्त हो जाता है. अगर कान के अंदर कोई फुंसी हो गया हो तो लहसुन को सरसों के तेल में पकाकर उस तेल को दिन में 3 बार कान में 2-2 बूंद डाल लें. ऐसा करने से फुंसी बह जाएगी या फिर बैठ जाएगी और दर्द समाप्त हो जाएगा.

10. गिल्टी का दर्द

गिल्टी कई बार असह्य दर्द देता है. इस दर्द से छुटकारा पाने के लिए प्याज पीसकर उसे गरम कर लें। फिर उसमें गो-मूत्र मिलाकर छोटी-सी टिकरी बना लें और उसे कपड़े से गिल्टी पर बांध लें. इससे न केवल गिल्टी का दर्द बल्कि गिल्टी भी समाप्त हो जाती है. अगर फोड़ा सता रहा हो तो नीम की मुलायम पत्तियों को पीसकर उसे गाय के घी में पका लें. इसके बाद उसे कपड़े में लेकर फोड़े पर हल्के से बांधे. इससे दर्द के साथ ही फोड़ा भी समाप्त हो जाता है.

11. सिरदर्द

सिरदर्द से कौन है जो आजकल परेशान नहीं रहता है. सोंठ को बहुत महीन पीसकर बकरी के दूध में मिलाकर नाक से बार-बार खींचने से बहुत आराम होता है. वहीं अगर अधकपारी का दर्द हो तो 3 रत्ती कपूर तथा मलयागिरि चंदन को गुलाब जल के साथ घिसकर नाक से खींचने पर अधकपारी का दर्द भाग जाता है.

ये कुछ ऐसे सहज-सरल उपाय थे जो कि हम घर में आसानी से आजमा सकते हैं और बेहतर स्वास्थ्य प्राप्त कर सकते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here