Home Health Care एसिडिटी की दवा ‘रेनिटिडिन’ से कैंसर का खतरा, जारी हुई चेतावनी!

एसिडिटी की दवा ‘रेनिटिडिन’ से कैंसर का खतरा, जारी हुई चेतावनी!

एसिडिटी की बहुत ही प्रसिद्ध दवा 'रेनिटिडिन' में कैंसर का खतरा पाया गया है. स्वास्थ्य विभाग द्वारा चेतावनी जारी की गई है. Acidity Medicine Causes Cancer

जब भी हमें पेट दर्द या एसिडिटी (Acidity Medicine Causes Cancer) की समस्या होती है तो, बगैर डॉक्टर की सलाह के हम एसिडिटी की दवा खा लेते हैं. ऐसी दवाएं खाते ही हमें आराम तो तुरंत मिल जाता है लेकिन क्या आप जानते हैं कि इस मामूली सी बीमारी की दवा सेहत के लिए कितना खतरनाक साबित हो सकती है.

acidity medicine

एसिडिटी की एक बहुत ही प्रसिद्ध दवा ‘रेनिटिडिन’ (Ranitidine) को लेकर चेतावनी भी जारी की गई है. ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया यानी (DCGI) ने इस एंटी एसिडिटी दवा को लेकर चेतावनी जारी की है. इसने सार्वजनिक स्वास्थ्य चेतावनी देते हुए कहा है कि इस दवा में पाए जाने वाले रसायन कैंसर का कारण (Acidity Medicine Causes Cancer) हो सकता है.

बहुत पुरानी दवा है रेनिटिडिन –

रेनिटिडिन बहुत पुरानी दवा है और यह बहुत ही कम कीमत में मिलती है. यही वजह है कि एसिडिटी होते ही तुरंत इस दवा का सेवन करते हैं. स्वास्थ्य सेवा महानिदेशालय के अधीन ड्रग्स कंट्रोलर वी.जी. सोमानी ने सभी राज्यों को निर्देश जारी करते हुए इस दवा के खिलाफ चेतावनी जारी की है.

जिसमें कहा गया है कि मरीजों की सुरक्षा को ध्यान मैं रखते हुए सभी ड्रग निर्माताओं से इसको लेकर कदम उठाने को कहें. अन्य कई देशों के ड्रग रेगुलेटर ने भी इसमें हानिकारक रसायन पाए हैं. जिसके बाद इस दवा को अपने यहां प्रतिबंधित कर दिया है.

रेनिटिडिन में कैंसर (Acidity Medicine Causes Cancer) के कारकों का पता सबसे पहले अमेरिका के फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (एफडीए) ने लगाया था. इसकी जानकारी लगते ही दवा के खिलाफ अलर्ट जारी किया गया था. इंडिया में इस दवा का उत्पादन करने वाली कंपनियों को जल्द से जल्द प्रभाव से इस दवा का उत्पादन रोकने का निर्देश दिया गया है. इस निर्देश के तहत डॉक्टरों को भी परामर्श दिया गया है कि मरीजों को इस दवा लेने की सलाह ना दें.

टैबलेट और इंजेक्शन के रूप में है उपलब्ध – Acidity Medicine Causes Cancer

‘रेनिटिडिन’ (Acidity Medicine Causes Cancer) दवा का उपयोग सिर्फ ऐसिडिटी में ही नहीं बल्कि कई अन्य बीमारियों में भी किया जाता है. जैसे आंत में होने वाला अल्सर, गैस्ट्रोइसोफेगल रिफ्लक्स डिजीज, इसोफैगिटिस व जॉलिंगर-एलिसन सिंड्रोम आदि में भी किया जाता है.

acidity medicine

बगैर प्रिस्क्रिप्शन के भी आसानी से मिल जाती है दवा –

रेनिटिडिन शेड्यूल एच के तहत प्रिसक्रिप्शन ड्रग है. यानी इसे दवा दुकान से खरीदते वक्त डॉक्टर की पर्ची की जरूरत पड़ती है. लेकिन बहुत कम लोग ही ऐसे हैं जो इसे लेने के लिए पर्ची का इस्तेमाल करते हैं. देशभर के कई स्थानों में यह बगैर डॉक्टर की पर्ची के भी आसानी से उपलब्ध है.

इसे भी पढ़ें: प्रतिबंधित हुआ ई-सिगरेट, इससे कैंसर समेत फेफड़े के कई रोगों का खतरा!

नाइट्रोसेमीन से पैदा होता है कैंसर – Acidity Medicine Causes Cancer

अमेरिकी फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (यूएसएफडीए) और यूरोपियन मेडिकल एजेंसी (ईएमए) ने इस दवा को प्रतिबंधित तो नहीं किया है. लेकिन ये दोनों संस्थाएं इस दवा की जांच करा रही हैं. क्योंकि इन्हें शक है कि रेनिटिडिन में नाइट्रोसेमीन नामक रसायन है, जिससे कैंसर हो सकता है.

हालांकि इन्होंने जनता को सतर्क रहने और अपने डॉक्टर से परामर्श के बिना दवा न खाने की भी सलाह दी है. रेनिटिडिन (Acidity Medicine Causes Cancer) बाजार में कई नामों से बिक रही है, लेकिन Zantac नाम सबसे ज्यादा मशहूर है.

देशभर में चलेगा जांच अभियान – Acidity Medicine Causes Cancer

भारत में दवाइयों की क्वॉलिटी, सेफ्टी और क्षमता-गुणवत्ता को नियंत्रित और विनियमित करने का काम करने वाली ‘द सेंट्रल ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गनाइजेशन’ ने रेनिटिडिन से जुड़े इस मामले को विस्तृत एग्जामिनेशन के लिए एक्सपर्ट कमिटी को रेफर कर दिया है. यह पैनल देशभर में अलग-अलग ब्रैंड्स के नाम से बिक रही रेनिटिडिन दवाओं की जांच करेगी. #AcidityMedicine

(योदादी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here