Home Parenting खेलकूद से बच्चों को होनेवाले 14 शानदार फायदे

खेलकूद से बच्चों को होनेवाले 14 शानदार फायदे

बच्चों के स्वस्थ विकास के लिए उनका विभिन्न तरह के खेलों में शामिल होना जरूरी है. Benefits of sports to children in Hindi

अगर आप माता-पिता हैं तो जरूर चाहते होंगे कि आपके बच्चे का विकास स्वस्थ तरीके से हो. ऐसे में बच्चों के स्वस्थ विकास के लिए उनका विभिन्न तरह के खेलों में शामिल होना जरूरी है. बच्चे के शारीरिक विकास में खेल का महत्वपूर्ण योगदान होता है. अन्यथा उनका विकास सही ढ़ंग से नहीं हो पाएगा. यह तो सच है कि आजकल के बच्चे में मोटापा की समस्या आम हो गई है. इस तरह की समस्याओं से बचने के लिए खेल अहम भूमिका (Benefits of sports to children in Hindi) अदा करता है. इसलिए अगर आप अपने बच्चे को खेलने से मना करते हैं तो समझ लीजिए आप उनका बचपन छीन रहे हैं. आइए अब जानते हैं कि खेलकूद से बच्चों को क्या फायदे होते हैं!

Benefits of sports to children in Hindi
फोटो सौजन्य: unsplash

खेलकूद से फायदे ही फायदे – Benefits of sports to children in Hindi

1. मस्तिष्क का विकास

एक रिसर्च में पता चला है कि एक्टिव बच्चों में संज्ञानात्मक कौशल का विकास तीव्र गति से होता है. बाकी बच्चों की तुलना में वे किसी भी काम में अपना ध्यान अच्छी तरह से केंद्रित कर पाते हैं. किसी तरह की शारीरिक गतिविधि होने पर हमारे मस्तिष्क के अंदर जो अंग है उसका विकास होता है. एक पूर्ण रूप से विकसित और सक्रिय मस्तिष्क आपके बच्चे को जल्द सीखने में सहायक होता है. जो बच्चे दिमागी तौर पर पूरी तरह स्वस्थ होते हैं उन्हें किसी भी चीज के बारे में समझाने में परेशानी नहीं होती. यानी वे हर बात को बड़ी आसानी से समझ जाते हैं. अगर आपका बच्चा खेलों में भाग लेता है तो फिर ये फायदे उन्हें जरूर मिलेंगे.

2. सामाजिक कौशल विकास

किसी भी इंसान में सामाजिक कौशल विकास करा होना बहुत अहम है. आपका बच्चा अगर खेलों में हिस्सा लेता है तो उनमें सामाजिक कौशल विकास अच्छे से होता है. क्यूंकि खेलने के दौरान आपका बच्चा बाकी दूसरे बच्चों के साथ भी मिलता है और उन बच्चों के साथ बातचीत भी करता है. यह प्रक्रिया बच्चे के सामाजिक कौशल विकास में सहायक होते हैं. 

3. बच्चे में आती है टीम वर्क की भावना

आपका बच्चा अगर दूसरे बच्चों के साथ खेल में हिस्सा लेता है तो इससे उसमें टीम वर्क की भावना का विकास होता है. क्यूंकि खेलने के दौरान बच्चे को पता चलता है कि टीम की जीत में योगदान कैसे दिया जाता है. बच्चों में विधमान टीम वर्क की भावना उसके बेहतर भविष्य के लिए मददगार होते हैं. खासकर जब बच्चा बड़ा होकर नौकरी करने जाता है तब टीम वर्क करना होता है और तभी इसका महत्व उसे पता चलता है.

4. शारीरिक विकास

खेल या फिर किसी तरह की शारीरिक गतिविधियों से मांसपेशियों का विकास होता है. हड्डियों और मांसपेशियों के बेहतर विकास के लिए आप अपने बच्चे को किसी तरह के खेल या फिर व्यायाम में शामिल होने को प्रोत्साहित कर सकते हैं.

5. अंग विन्यास के विकास में सहायक

यह तो सभी जानते हैं खेलों से शरीर मजबूत होता है, यानी शरीर का बेहतर विकास होता है. सही अंग विन्यास के लिए आपके बच्चे के शरीर की मांसपेशियों का गठबंधन बिल्कुल सही तरीके से होना जरूरी है. खेल आपके बच्चे के शारीरिक विकास में सहायक होता है.

6. स्वस्थ हृदय और स्वस्थ श्वसन

विभिन्न तरह के खेलों से संबंधित गतिविधियां कार्डियो वर्क आउट यानी हृदय से संबंधित व्यायाम के समान होता है. बच्चे के फेफड़े अधिक क्षमता से कार्य करते हैं और इस प्रकार की गतिविधियों से रक्त संचार की प्रक्रिया में भी सुधार आता है.

7. मजबूत होगा इम्यूनिटी सिस्टम

आपका बच्चा जब खेलों में हिस्सा लेता है तो उसकी इम्यूनिटी बढ़ती है. खेलने में भाग लेने के अलावा बच्चे को खुली हवा में छोड़ना भी अच्छा रहता है. ताकि उसे अपने आसपास के वातावरण का ज्ञान हो सके. वास्तव में बच्चा जब बाहर से आता है तो उसके शरीर में विशेष किस्म के बैक्टीरिया के प्रति प्रतिरोध विकसित होता है.

8. प्रतियोगी भावना सीखता है बच्चा

प्रतियोगिता भरे इस युग में सबसे पहले आप बच्चे को यह सिखाएं कि किसी के साथ प्रतियोगिता कैसे की जाती है. और खेल की गतिविधियों के माध्यम से किस तरह उच्च स्थान पर पहुंचकर अपना लक्ष्य पूरा किया जाता है.

9. खिलाड़ी की भावना का विकास

जीत और हार तो हर व्यक्ति के जीवन का हिस्सा है. आपका बच्चा भी जीत और हार के गुण खेल की गतिविधियों में हिस्सा लेने के बाद ही सीखता है. खेल में मिलने वाली हार या जीत दोनों से ही बच्चे में खिलाड़ी की भावना विकसित होती है.

10. प्रवाह के साथ बहना

जो बच्चे विभिन्न तरह के खेलों में भाग लेते हैं वे किसी भी पल पूर्ण ध्यान केंद्रित करने को तैयार रहते हैं. बच्चे के बड़े होने के बाद यह गुण बहुत सहायत होता है. तो ध्यान रखें अगर आपका बच्चा खेल में हिस्सा नहीं लेना चाहता तो उसे इससे होने वाले फायदों के बारे में समझाएं.

11. धैर्य

किसी भी बच्चों में खेल की गतिविधियों से शारीरिक सहनशीलता बढ़ती है. क्योंकि कोई भी खेल आख़िरी तक खेला जाता है और इससे आपके बच्चे को सीख मिलती है कि अधिक समय तक गर्मी में कैसे रहा जाता है. खेल के प्रति बच्चे को प्रोत्साहित करने के लिए उसे प्ले ग्राउंड में लेकर जाएं. 

12. सहनशीलता

हर खेल प्रत्येक खिलाड़ी की सहनशीलता के लिए चुनौती के समान होता है. माता-पिता होने के नाते सुनिश्चित करें कि आपका बच्चा इस प्रकार के खेलों में हिस्सा ले ताकि उसकी सहनशीलता बढ़ सके.

13. जीत की कीमत समझता है बच्चा

आपका बच्चा जब भी कोई गेम जीतता है तो वह समझ जाता है कि जीत हासिल करना कितना कठिन है. आपका बच्चा खेल की गतिविधियों के माध्यम से ही इन सब चीज़ों को सीखता है.

14. गौरवान्वित होंगे आप

आपका बच्चा जब हर बार एक ट्रॉफी जीतता है तो आप गर्व महसूस करेंगे. क्यूंकि खेल के प्रति बढ़ती रुचि से बच्चे इसमें ज्यादा हिस्सा लेंगे और बेहतर प्रदर्शन के लिए ट्रॉफी लेकर आएंगे.  

(योदादी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here