Home Plays and Toys 0-12 महीने तक के बच्चों के दिमागी विकास के लिए 6 खिलौने

0-12 महीने तक के बच्चों के दिमागी विकास के लिए 6 खिलौने

बच्चे की दिमागी क्षमता का विकास करने वाले खिलौने - Brain development toys for kids in Hindi

शिशु के जन्म लेते ही जहां एक तरफ घर में खुशियां भर जाती है वहीं दूसरी ओर एक और सामान से आपके घर का हर कोना भरना शुरू हो जाता है. इन दिनों आपसे मिलने जो भी दोस्त या रिश्तेदार आते हैं वे आपके बच्चे के लिए खिलौना जरूर लेकर आते हैं. आप खुद के बारे में ही सोचिए, जैसे बाजार जाने पर जैसे ही आपके सामने खिलौना (Brain development toys for kids in Hindi) दिखता है तो आप अपने बच्चे के लिए जरूर खरीदकर लाती होंगी.

वैसे तो सभी खिलौने बड़े प्यारे होते हैं लेकिन मां होने के नाते आपको ये भी पता होना चाहिए कि खिलौनों की इस भीड़ में कुछ खिलौने खास होते हैं. इस तरह के खिलौने आपके शिशु के दिमागी विकास में काफी सहायक होते हैं. अब आपको ऐसे ही विशेष प्रकार के खिलौनों के बारे में बताने जा रहे हैं, जो ना सिर्फ दिमागी विकास में सहायक होते हैं बल्कि ये खिलौने शिशु की विश्लेषण करने की शक्ति को भी बढ़ाते हैं.

बच्चे की दिमागी क्षमता का विकास करने वाले खिलौनेBrain development toys for kids in Hindi

एक रिसर्च के अनुसार शिशु का दिमाग 2 साल का होने तक करीब 80 फिसदी विकसित होता है. बच्चा जब पांच साल का होता है तब उसका दिमाग पूर्ण विकसित हो जाता है. निश्चित रूप से दिमाग के विकसित होने में संतुलित आहार व पोषण का सबसे बड़ा योगदान होता है. वहीं कुछ खिलौने भी हैं जो आपके शिशु के दिमागी विकास में सक्रिय भूमिका निभाते हैं.

1. प्लेमैट्स और बेबी जिम

यह खिलौना 0-1 साल की उम्र के बच्चों के लिए बहुत उपयोगी है. प्लेमैट्स और बेबी जिम बहुत लोकप्रिय भी है और यह आपको हर जगह बड़ी आसानी से उपलब्ध हो सकते हैं. आप चाहें तो इसे ऑनलाइन भी खरीद सकते हैं. इस खिलौने में एक नहीं बल्कि बहुत सारे आकर्षक रंगों का इस्तेमाल होता है. इसकी खासियत ये है कि इससे बच्चे को विभिन्न तरह के रंगों व आकारों से परिचय हो जाता है और ये दिमागी विकास को भी बढ़ाते हैं. प्लेमैट्स में बैठकर आपका बच्चा बड़े आराम से आसपास की चीजों को देख सकता है और खेल सकता है.

2. शेक एंड डांस सॉफ्ट टॉय

3 महीने से 1 साल की उम्र तक के बच्चे के लिए यह खिलौना एकदम परफेक्ट है. आपका बच्चा जब 3 महीने का हो जाता है तो वह अपने आसपास की चीजों को पहचानने लगता है. फिर वह इन चीजों में अपनी रुचि भी दिखाने लगता है. म्यूजिकल खिलौने और हिलने-डुलने वाले खिलौने आपके बच्चे को अपनी ओर ज्यादा आकर्षित कर सकते हैं. सिर्फ यही नहीं बल्कि इन खिलौनों की एक्टिविटीज को देखकर बच्चा भी चलने के लिए उत्साहित हो सकता है. इस खिलौने के साथ आप चाहे तो एक या दो प्रयोग भी कर सकती हैं. ऐसा करें कि इस खिलौने को बच्चे से थोड़ा दूर रखें और फिर उनको आवाज पहचानने के लिए प्रोत्साहित करें.

3. पपेट बुक्स

पपेट वाले खिलौने और बुक्स 6 महीने से ऊपर के बच्चों के लिए बेहतर विकल्प साबित हो सकते हैं. यह बच्चे की किताब पढ़ने में रूचि को बढ़ाने में सहायक साबित हो सकते हैं. आप अगर अपने बच्चे को पपेट बुक्स के साथ मजेदार कहानियां सुनाएंगे तो इससे उनकी जिज्ञासु प्रवृत्ति में वृद्धि होती है.

4. कॉट  मोबाइल

4 महीने की उम्र तक के बच्चों के लिए कॉट मोबाइल काफी फायदेमंद साबित हो सकता है. इसकी सहायता से आपके बच्चे की सुनने और देखने की शक्ति बढ़ती है. इसे देखते ही बच्चा इसको पकड़ने का प्रयास करता है.

5. मोनोक्रोम स्ट्रॉलर

मुख्य रूप से यह खिलौना 3 से 6 महीने के बच्चों के लिए बेहतरीन परिणाम देने वाले साबित हो सकते हैं. इसमें इस्तेमाल होने वाले विभिन्न तरह के रंग आपके बच्चे की दृष्य शक्ति को बढ़ाते हैं. आपका बच्चा इसके साथ खेलने में हमेशा व्यस्त रहेगा, जिससे आप अपने काम को भी बड़ी आसानी से निपटा सकती हैं.

6. बोल पुल

बोल पुल खिलौना 6 महीने से अधिक उम्र के बच्चों के लिए बहुत मजेदार साबित हो सकता है. आपका बच्चा जब 6 महीने का हो जाता है तब वो बैठना शुरू करता है. रंग बिरंगे गेंद बच्चे को बहुत ज्यादा ही आकर्षक लगते हैं. बच्चा जब इस गेंद को उठाता है और फेंकता है तो ये उनकी शारीरिक सक्रियता को बढ़ावा देता है. इसके अलावा ये बच्चे की मोटर स्किल्स को भी बढ़ाते हैं. आसपास के बच्चे भी इस खेल में शामिल हो जाएं तो और अच्छा रहता है.

इन 6 के अलावा और भी कुछ खिलौने हैं जो आपके बच्चे लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं. जैसे आप पजल बोल को ही लीजिए, जिसमें अलग-अलग आकार के हिस्सों को जोड़ने के बाद एक गेंद बनती है. इसे खेलने में बच्चे को मजा भी आएगा और उनकी सोचने की क्षमता का भी विकास होगा. इसी तरह का एक खिलौना (Brain development toys for kids in Hindi) बेबी बाउंसर भी है.

इसके म्यूजिक, इसमें लगे हुए झुनझुने और रोशनी से आपके बच्चे का दिमागी विकास होता है.साथ ही बच्चा आवाजों को भी पहचानने लगता है. अब से ध्यान रखें कि अगली बार जब आप अपने बच्चे के लिए खिलौना लेने जाएं तो ऐसे खिलौने ही लेकर आएं, जिससे आपके बच्चे का मनोरंजन भी हो और उसका दिमागी विकास भी हो.

(योदादी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here