Home Education Suicide: आखिर क्यों पांचवी मंजिल से कूदी 10वीं की छात्रा!

Suicide: आखिर क्यों पांचवी मंजिल से कूदी 10वीं की छात्रा!

लंबे समय से अवसादग्रस्त छात्रा ने पांचवी मंजिल से छलांग लगा दी. कोलकाता के राजारहाट इलाका स्थित हाउसिंग की है ये घटना. Student Suicide

कोलकाता के राजारहाट इलाके में एक छात्रा ने पांचवीं मंजिल से छलांग लगाकर आत्महत्या कर ली. घटना गत शनिवार रात की है और मृतका का नाम रूद्रानी चक्रवर्ती (16) है. वह द न्यू टाउन स्कूल कोलकाता की 10वीं की छात्रा (Student Suicide) थी. प्राप्त जानकारी के अनुसार शनिवार रात करीब 8 बजे रूद्रानी अपने टहलने के लिए फ्लैट से बाहर निकली.

suicide-attempt

करीब 1 घंटे तक जब वह घर वापस नहीं लौटी तो परिवार वालों ने उसकी खोजबीन शुरू की. काफी देर तक ढ़ूंढ़ने के बाद भी जब उसका कुछ पता नहीं चल पाया तो ये लोग न्यू टाउन पुलिस स्टेशन पहुंचे. वहां रूद्रानी के लापता होने की शिकायत दर्ज की गई.

उसके माता-पिता थाने में ही बैठे थे तभी उनकी हाउसिंग के एक व्यक्ति ने थाने में फोन किया. उन्होंने ही बताया कि रूद्रानी अपने ही हाउसिंग कॉम्पलेक्स में लहू-लुहान हालत (Student Suicide) में पड़ी है. घर वाले उसे लेकर तुरंत ही अस्पताल पहुंचे लेकिन वहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

प्राथमिक जांच में पता चला है कि छात्रा लंबे समय से अवसाद की शिकार (Student Suicide) थी. मृतका की मां का कहना है कि वह रात के वक्त कभी टहलने नहीं जाती थी. लेकिन उस दिन वह टहलने का नाम लेकर ही घर से निकली थी और यह असामान्य था. बेटी की मौत के बाद पूरा परिवार सदमें में है.

सोमवार को थी जीव विज्ञान की परीक्षा – Student Suicide

मृतका के सहपाठियों को भी इस घटना पर विश्वास नहीं हो रहा है कि छात्रा ने आत्महत्या की घटना (Student Suicide) को अंजाम दिया है. सोमवार को उसकी जीव विज्ञान की परीक्षा थी. उसके कक्षा की बाकी छात्राओं का कहना है कि वह पढ़ाई में अच्छी थी. पढ़ाई को लेकर उसे कोई समस्या भी नहीं थी.

पढ़ाई में वह बहुत ही अच्छी थी. तो फिर परीक्षा खराब जाना या फिर इसको लेकर चिंतित होने का कोई सवाल ही नहीं उठता. सहपाठियों का यह भी कहना है कि कक्षा में रूद्रानी का अपने सहपाठियों के साथ अच्छी दोस्ती थी. लेकिन एक्सट्रा करिकुलर एक्टिविटीज में वह ज्यादा भाग नहीं लेती थी.

पुलिस का कहना है कि वह काफी दिनों से अवसाद की शिकार (Student Suicide) थी. पूर्वी मेट्रोपोलिटन बाईपास स्थित अस्पताल में एक मनोचिकित्सक से उसका इलाज भी चल रहा था. पुलिस का अनुमान है कि मानसिक स्थिति ठीक नहीं होने की वजह से ही रूद्रानी ने ऐसा कदम उठाया है. शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है.

बहुमंजिली इमारतों से छलांग लगाकर आत्महत्या करने की घटना कोई नई नहीं है. इससे पहले भी ऐसी कई सारी घटनाएं प्रकाश में आ चुकी है. जब कोई अवसादग्रस्त व्यक्ति बिल्डिंग से कूदकर आत्महत्या की घटना को अंजाम देता है.

इसे भी पढ़ें: प्रतिबंधित हुआ ई-सिगरेट, इससे कैंसर समेत फेफड़े के कई रोगों का खतरा!

पहले की तुलना में आत्महत्या के मामले में काफी वृद्धि हुई है. आत्महत्या के बढ़ते मामले चिंता का विषय है. इनमें से अधिकांश आत्महत्या की वजह डिप्रेशन है. डॉ राजीव मेहता (मनोचिकित्सक) के अनुसार सबसे अधिक आत्महत्या लोग अवसाद की वजह से ही कर रहे हैं.

गहरी निराशा करती है आत्महत्या को प्रेरित – Student Suicide

गहरी निराशा में व्यक्ति शक्तिहीन हो जाता है. अंत में आत्महत्या के अलावा उसे और कोई रास्ता नजर नहीं आता और व्यक्ति मर जाना ही बेहतर समझता है. गहरी निराशा की चरम अवस्था ही इंसान को आत्महत्या के लिए प्रेरित करती है. वैसे तो अवसाद के कई कारण होते हैं.

लेकिन जितने भी कारण हैं उन सबको ठीक करने के लिए अलग-अलग उपाय हैं. किसी एक उपाय से इसे ठीक करना मुश्किल है. लेकिन हां एक बात बहुत महत्वपूर्ण है, जिस पर सभी को ध्यान देना जरूरी है. परिवार, दोस्त, रिश्तेदार आदि के साथ बातें करना और बेहतर संबंध रखना.

आज के दौर का आदमी अगर रोजाना अपने परिवार में या फिर दोस्तों-यारों के साथ मिल-बैठकर कुछ देर बातचीत में बिताये तो डिप्रेशन का स्तर तेजी से गिरता है. अगर हम रोज सिर्फ एक घंटा मोबाइल, टीवी और इलेक्ट्रॉनिक गैजेट को दूर रखकर अपने घर में परिवार के सदस्यों के साथ बातचीत करें तो यह भी अवसाद को दूर करने में काफी सहायक होगा. #Suicide

(योदादी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here