Home Health Care Cornflour Benefits in Hindi: मक्के के आटे और कॉर्नफ्लोर में अंतर

Cornflour Benefits in Hindi: मक्के के आटे और कॉर्नफ्लोर में अंतर

गुणों से भरपूर कॉर्नफ्लोर का सेवन करने से ऊर्जा के साथ-साथ न्यूट्रीशन भी भरपूर मात्रा में मिलती है. (Cornflour Benefits in Hindi)

दुनिया भर में विभिन्न तरह के अनाज (Cornflour Benefits in Hindi) उगाये जाते हैं. इन अनाजों का इस्तेमाल भी अलग-अलग तरीके से किया जाता है. आज हम इसी तरह के एक अनाज के बारे में बात करते हैं, जिसका उपयोग खाद्य पदार्थों के लिए विभिन्न ढ़ंग से किया जाता है. सेहत के लिए यह अनाज बहुत ही फायदेमंद है और उसका नाम मक्का है. यहां मक्का के स्टार्च रूप यानि मक्के के आटे (कॉर्नफ्लोर) के बारे में बताते हैं. आइए अब जानते हैं मक्के के आटे का इस्तेमाल कैसे किया जाता है और उसके क्या फायदे हैं.

कॉर्न फ्लोर और मक्के के आटे में अंतर

कॉर्नफ्लोर और मक्के के आटे में अंतरCornflour Benefits in Hindi

मक्के के आटे और कॉर्नफ्लोर को लोग एक ही समझते हैं लेकिन ऐसा नहीं है. दोनों में काफी अंतर है. मक्के का आटा कॉर्नमील फ्लोर होता है और कॉर्नफ्लोर मक्के का स्टार्च होता है. इसे कॉर्न स्टार्च भी कहा जाता है. मक्के का आटा मक्के के दानों को सुखाने के बाद उसे पीसकर बनाया जाता है. यह पीले रंग का होता है और दरदार या बारीक रूप में मिलता है. वहीं कॉर्न फ्लोर को मक्के के दानों से छिलका हटाकर और बिल्कुल पाउडर की तरह पीसकर तैयार किया जाता है. यह दिखने में सफेद पाउडर की तरह होता है.

कॉर्नफ्लोर में पाए जाने वाले पोषक तत्व

  • इसका सेवन करने से आपके स्वास्थ्य संबंधी कई सारे जरूरी पोषक तत्वों की पूर्ति हो जाती है. कॉर्न सूप, पिनट कॉर्न, स्वीट कार्न, कॉर्न सब्जी, मसाला कॉर्न समेत अन्य कॉर्न को आप अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं. इसमें तमाम आवश्यक पौष्टिक गुण होते हैं. इसका सेवन करने से शरीर स्वस्थ रहता है और ये वजन को बढ़ने नहीं देता है.
  • बेहतर स्वास्थ्य के लिए कॉर्न विटामिन मिनरलस पोषण से भरपूर एक रिच एंटीआक्सीडेन्ट अनाज है. इसमें कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, विटामिन, आयरन और पोषक तत्व भरपूर मात्रा में होते हैं. इसलिए इसका सेवन करना और भी ज्यादा लाभकारी साबित होता है.
  • गुणों से भरपूर इस अनाज का सेवन करने से ऊर्जा के साथ-साथ न्यूट्रीशन भी भरपूर मात्रा में मिलती है.
  • इसमें ऊर्जा 86 किलो कैलोरी, प्रोटीन 3.27 ग्राम, वसा 1.35 ग्राम, विटामिन ए 187 ग्राम, विटामिन सी 6.8 मिलीग्राम और कैल्शियम 2 मिलीग्राम होता है.
  • अगर आप कॉर्न फ्लोर का सेवन करते हैं तो इसके माध्यम से तमाम जरूरी व लाभदायक पोषक तत्वों की पूर्ति हो सकती है.
  • आपका बच्चा अगर पोषक तत्व वाला अन्य पदार्थों को खाना पसंद नहीं करता है तो बेहतर होगा आप उसे कॉर्न आसाना से खिला सकते हैं. क्योंकि सेहत के साथ-साथ स्वादिष्ट भी होता है.

इसे भी पढ़ें: कीवी फल से होने वाले 12 फायदे

कॉर्नफ्लोर का उपयोगCornflour Benefits in Hindi

1. इसका इस्तेमाल आमतौर पर सूप को गाढ़ा करने के लिए किया जाता है. साथ ही इसे आटे (Cornflour Benefits in Hindi) के रूप में भी उपयोग में लाया जाता है. इतना ही नहीं इसे कुछ बीमारियों के लिए मेडिकल थेरेपी व किसी भी व्यंजनों को स्वादिष्ट बनाने के लिए भी इसका इस्तेमाल होता है.

2. कॉर्नफ्लोर का उपयोग कटलेट, कोफ्ता व डीप फ्राइड फूड बनाते समय इसे बांधने के लिए किया जाता है.

3. किसी सब्जी की ग्रेवी को गाढ़ा करने हो तो इसका उपयोग कर सकते हैं.

4. दूध को गाढ़ा करने में भी इसका इस्तेमाल होता है ताकि आप घर पर स्वादिष्ट व्यंजन जैसे आइसक्रीम आदि बना सकते हैं.

5. इसे आलू टिक्की, केला टिक्की, पोहा टिक्की को क्रिस्पी बनाने में इस्तेमाल किया जाता है.

6. आमतौर पर यह पाउडर चीनी में एक एंटीकैकिंग एजेंट के रूप में शामिल किया जाता है.

7. गुलाब जामुन, रस मलाई व छैना में उपयोग कर सकते हैं.

8. बेकिंग के पहले फलों को कोट करने के लिए भी कॉर्नस्टार्च का उपयोग किया जा सकता है.

9. मंचूरियन ग्रेवी को गाढ़ा करना हो तो भी इसे आजमा सकते हैं.

10. कॉर्नफ्लोर का उपयोग बेबी पाउडर में भी किया जाता है.

11. बायोप्लास्टिक्स एवं एयरबैग के निर्माण में भी इसका इस्तेमाल होता है.

12. ग्लाइकोजन स्टोरेज डिजीज वाले मरीजों के लिए ब्लड शुगर के स्तर को सामान्य रखने के लिए यह उपयोगी होता है.

13. हलवा व कुकीज में भी इसका इस्तेमाल होता है.

कॉर्न फ्लोर के फायदेCornflour Benefits in Hindi

  • इसमें ग्लूटेन नहीं होता है, और इसका सेवन सिर्फ वे लोग करते हैं, जो गेंहू और इसके उत्पाद जैसे मैदा और सूजी को स्टोक करके रखने में असमर्थ होते हैं. ऐसे लोगों के लिए यह अच्छा विकल्प है.
  • वहीं इसमें फाइबर की मात्रा अच्छी होती है. इसकी प्रत्येक बड़ी चम्मच में लगभग 1 ग्राम फाइबर मौजूद होता है और ये मात्रा एक वयस्क मानव शरीर के लिए बहुत आवश्यक होता है. ठीक इसी तरह इसमें प्रोटीन भी अधिक मात्रा में होती है.
  • इस आटे में मौजूद अघुलनशील फाइबर जैसे ऐमिलोस, सेल्यूलोस और लिग्निन के कारण यह पाचन क्रिया को बहुत ही आसान बना देता है. यह आंतों के लिए भी लाभकारी होता है.

कॉर्न फ्लोर से नुकसान – Cornflour Benefits in Hindi

  • वैसे तो कॉर्नफ्लोर (Cornflour Benefits in Hindi) सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद है. लेकिन अधिकतर बाजारों में उपयोग होने वाले कॉर्न जेनेटिकली रूप से संशोधित किये जाते हैं. उस पर खतरनाक कीटनाशकों का छिड़काव भी किया जाता है. जो कि मानव शरीर के लिए हानिकारक साबित होता है. एक शोध के मुताबिक यह सभी फ्रक्टोस कॉर्न सिरप में अधिक होता हैं, जोकि कैंसर, फैटी लीवर, हाई कोलेस्ट्रॉल और डायबिटीज जैसी बीमारियों से जुड़े हैं.
  • जब इसे जेनेटिकली रूप से संशोधित किया जाता हैं, तब इसमें पाए जाने वाले पोषक तत्वों के अवशोषण की प्रक्रिया प्रभावित होती है. इसमें फाइटिक एसिड अधिक होते हैं जो शरीर को आवश्यक पोषक तत्वों को अवशोषित करने और उसका उपयोग करने से रोकता है.
  • इसके अलावा इसमें बहुत अधिक कैलोरीज एवं कार्बोहाइड्रेट होता है, जो वजन कम करने में बाधा उत्पन्न करता है. इसमें कार्बोहाइड्रेट की मात्रा अधिक होने के कारण यह डायबिटीज के मरीज के शरीर में ब्लड ग्लूकोस के स्तर को तुरंत ही बढ़ा देता है और ये बाद में फैट में परिवर्तित हो जाता है. इसलिए डायबिटीज व मोटापा की बीमारी वाले लोगों के वजन कम करने वाली डाइट में इसे शामिल नहीं किया जाता है.
  • अधिक मात्रा में इसका सेवन करने से यह आपके शरीर में एलडीएल को बढ़ा सकता हैं, जो एक खराब कोलेस्ट्रॉल होता है. अगर यह आपके शरीर में ऑक्सीडाइज्ड हो जाता है तो फिर यह एथेरोस्क्लेरोसिस का कारण बन सकता है. इसके अलावा इसका अधिक उपयोग करने से हृदय संबंधी समस्याएं हो सकती है.

(योदादी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here