Home Health Care कोरोना वायरस: रेस्तरां में खाने के क्या हैं रिस्क?

कोरोना वायरस: रेस्तरां में खाने के क्या हैं रिस्क?

कोरोना वायरस महामारी के बीच भले ही रेस्टोरेंट खुल चुके हों लेकिन खतरा तो अभी भी कम नहीं हुआ. Coronavirus - Risks of Eating in Restaurants

कोरोना वायरस महामारी के बीच भले ही रेस्टोरेंट खुल चुके हों लेकिन खतरा तो अभी भी कम नहीं हुआ. लंबे समय तक लॉकडाउन के बाद अब रेस्टोरेंट तो खुल गए हैं. रेस्टोरेंट में खाना खाने वाले लोग इससे काफी खुश भी हैं. यहां तक की लोगो ने रेस्तरां में अपना मनपसंद चीजें खाना शुरू भी कर दिया है. लेकिन क्या आपने ध्यान दिया है कि थोड़ी सी लापरवाही (Coronavirus – Risks of Eating in Restaurants) के कारण आपकी खुशी दुःख में तब्दील हो सकती है.

इसलिए अभी की स्थिति देखते हुए जब तक कोरोना वायरस महामारी है तब तक आपको बाहर के खाने से परहेज करना चाहिए. क्यूंकि अभी रेस्तरां में भोजन करना आपके लिए खतरनाक साबित हो सकता है. अगर आप भी अपने पसंदीदा रेस्टोरेंट में जाने की प्लानिंग कर रहे हैं तो इससे पहले रेस्तरां के कई अन्य जोखिमों के बारे में जानकारी रखना भी जरूरी है. क्यूंकि अगर आप रेस्तरां में जाने को लेकर लापरवाह रहेंगे तो कोरोना वायरस का खतरा बना रहेगा.

कोरोना वायरस के दौरान रेस्टोरेंट में खाने के 6 जोखिम:

1. अनजान खतरा – Coronavirus – Risks of Eating in Restaurants

जिन लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण के लक्षण नहीं दिख रहे हैं, सबसे ज्यादा खतरा उन्हीं लोगों को है. इस तरह के लोगों को तो खुद ही पता नहीं चलता कि वे अपने साथ वायरस लेकर घूम रहे हैं. ऐसे लोगों के संपर्क में आने वाले हर व्यक्ति में कोरोना वायरस का खतरा बढ़ जाता है. 

2. अनजान लोगों के साथ संपर्क – Coronavirus – Risks of Eating in Restaurants

कोरोना वायरस जैसी घातक बीमारी से बचाव के लिए अपने आस-पास के लोगों से कम से कम 6 फीट की दूरी बनाए रखना जरूरी है. जहां तक रेस्टोरेंट की बात है तो वहां जाने पर वेटर कई बार आपके संपर्क में आएगा. जिसकी वजह से आप खतरे में पड़ सकते हैं.

3. कटलरी हो या अन्य सामान कई लोगों ने छुआ होगा

ज्यादातर रेस्तरां में बैठे हर कस्टमर के जाने के बाद फर्नीचरों की सफाई नहीं की जाती. लेकिन ऐसा भी तो हो सकता है कि आपसे पहले बैठे व्यक्ति को कोरोना वायरस रहा हो. उस व्यक्ति ने मैन्यू कार्ड, नैपकिन, टेबलक्लॉथ आदि चीजों को छुआ हो. किसी भी रेस्तरां में कटलरी को रेस्टोरेंट के लोगों द्वारा छुआ जाता है. इसकी वजह से भी किसी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आकर आपको भी कोरोना वायरस हो सकता है.

4. सार्वजनिक स्थान का एसी भी है खतरनाक

कोरोना वायरस पर किए गए शोध में कई बार बताया गया है कि एयर कंडीशनर वाले बंद कमरे में रहने पर इस बीमारी का खतरा बढ़ जाता है. इस तरह के वातावरण में वायरस के एरोसोल हवा में भी हो सकते हैं. हवा के माध्यम से यह इंसान को बहुत जल्दी अपना निशाना बना सकता है.

5. रेस्तरां में स्वच्छता और सुरक्षा के मानदंडों का पालन जरूरी

सरकारी निर्देशानुसार कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए रेस्टोरेंट में तमाम गाइड लाइन्स का पालन किया जाता है. लेकिन अगर कोई रेस्तरां इनका पालन नहीं करता है तो फिर आप समझ ही सकते हैं कि ऐसे में कोरोना का खतरा कितना ज्यादा बढ़ सकता है.

6. फूड डिलिवरी में खतरा – Coronavirus – Risks of Eating in Restaurants

अगर हम फूड डिलिवरी की बात करें तो वहां खाना किस परिस्थिति में तैयार किया गया है ये तो आप नहीं जानते. आपको कैसे पता चलेगा कि उस रेस्तरां में हाइजिन का कितना ख्याल रखा गया है. और फिर जो डिलिवरी बॉय आपके लिए खाना लेकर आ रहा है कहीं वो भी कोरोना संक्रमित नहीं है? इसलिए जब आप उसके हाथ से खाना ले रहे होंगे तो इस बात का ख्याल रखना भी आवश्यक है.

इसके अलावा खाना बनने से लेकर पैकिंग तक की प्रक्रिया में एक नहीं बल्कि कई लोगों का हाथ लगता है. इनमें से अगर एक व्यक्ति भी संक्रमित हुआ तो डिलिवरी बॉय के माध्यम से कोरोना के आप तक पहुंचने में देरी नहीं लगेगी. इसलिए बेहतर होगा कोरोना वायरस से बचाव के लिए जितना हो सके घर का खाना खाने की ही कोशिश करें.

यह जानकारी आपको कैसी लगी, कमेन्ट कर हमें जरूर बताएं. इस लेख को अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें ताकि अधिक से अधिक लोग इससे लाभ ले सकें!

(योदादी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here