Home Health Care कफ सिरप देने के पहले बच्चे की सेहत को लेकर ऐसे रहें...

कफ सिरप देने के पहले बच्चे की सेहत को लेकर ऐसे रहें सचेत

कफ सिरप का सही इस्तेमाल नहीं करने से बच्चे पर इसका बुरा असर भी हो सकता है. यानी बच्चा ठीक होने के बजाय बीमार पड़ सकता है. (cough syrup for kids)

बदलते मौसम में सबसे बड़ी समस्या बच्चों के साथ आती है. क्यूंकि मौसम परिवर्तन के दौरान वातावरण में मौजूद वायरस सक्रिय हो जाते हैं. यह वायरस बच्चों को तेजी से प्रभावित करते हैं. और वे तुरंत ही सर्दी-जुकाम व कफ (cough syrup for kids) के शिकार हो जाते हैं. अक्सर लोग इसे साधारण बीमारी समझकर गंभीरता से नहीं लेते और बाद में परेशानी शुरू हो जाती है.

Cough syrup for kids

सर्दी-जुकाम का असर सिर्फ नाक तक ही सीमित नहीं रहता बल्कि धीरे-धीरे इसका असर पूरे शरीर पर होता है. चूंकि बच्चों का इम्यून सिस्टम कमजोर होता है इसलिए बड़ों  के मुकाबले बच्चे जल्दी इस बीमारी की चपेट में आ जाते हैं. ऐसे में कई बार लोग बच्चे के जल्दी ठीक होने के लिए मेडिकल शॉप से सिरप लेकर ही दे देते हैं.

लेकिन क्या आप जानते हैं की दवा (cough syrup for kids) का सही से इस्तेमाल नहीं करने से बच्चे पर इसका बुरा असर भी हो सकता है. यानी बच्चा ठीक होने के बजाय कहीं और बीमार ही ना पड़ जाए. इसलिए कभी भी उन्हें कफ सिरप देते समय सावधानी जरूर बरतें.

सिरप (cough syrup for kids) देते समय नीचे दिए कुछ जरूरी बातों का ध्यान अवश्य रखें:

1. दवा लेते समय एक्सपायरी डेट नहीं देखने की गलती अक्सर लोग करते हैं. इसलिए कफ-सिरप हो या कोई अन्य दवा उसकी लेबल जरूर पढ़ लें.

2. बच्चे को कफ सिरप देते समय उसके साथ जो कैप आती है उसका या फिर चम्मच का इस्तेमाल करें. ध्यान रहे की खुराक बिलकुल भी ज्यादा मत दें. क्यूंकि खुराक से ज्यादा दवा देने पर बच्चे को नींद भी बहुत आएगी.

3. अगर आप बच्चे को कोई सिरप (cough syrup for kids) दे रहे हैं तो उसके साथ किसी तरह के घरेलू उपचार मत आजमाएं.

4. बच्चे को दवा हमेशा उम्र के हिसाब से ही दें. यानी दवा देते समय उम्र का ख्याल रखना भी जरूरी है.

5. लक्षण के अनुसार ही बच्चे को दवा दें.

6. खुराक के लिए जो निर्देश दिए गए हैं उसका सही से पालन करें. दवा अगर 2 बार देने के लिए बोलै गया है तो 2 ही बार दें.

इसे भी पढ़ें: बच्चों को क्यों होती है तेज खांसी – कारण, लक्षण और निवारण

7. यह जरूर ध्यान रखें की 2 खुराक दवा देने के बाद भी अगर बच्चे पर कोई असर नहीं होता है तो तुरंत डॉक्टर को दिखाएं.

8. एस्पिरिन युक्त दवा कभी भी 20 साल से कम उम्र के बच्चे को मत दें.

9. नींद लाने के लिए एंटीथिस्टेमाइंस युक्त दवाएं भी मत दें.

10. बच्चे को कफ सिरप (cough syrup for kids) हमेशा ही बैठाकर कर ही पिलायें. वरना दवा के गले में अटकने की संभावना रहती है.

Cough syrup for kids

12 महीने से ज्यादा उम्र के बच्चे को कफ सिरप (cough syrup for kids) के अलावा कुछ घरेलू उपचार से भी खांसी से राहत मिल सकती है.

1. बच्चे की खांसी ठीक करने के लिए तुलसी बहुत फायदेमंद है. इसके लिए पहले तुलसी के कुछ पत्ते पीस कर उसमे शहद मिला कर बच्चे को दें.

2. गुनगुने पानी में अदरक और नींबू का रस मिलाकर पीने  से भी लाभ मिलता है.

3. बच्चे को खांसी से राहत (Caugh syrup Precautions for Child) मिलने पर उसे तरल डायट देना चाहिए. जैसे सूप, स्मूदी या फिर फलों का ताजा जूस आदि. क्यूंकि बच्चे की  खांसी डिहाइड्रेट से भी बढ़ सकती है.

4. रात  के वक्त बच्चे को भाप खांसी में राहत मिलती है.  इसके लिए पहले बाथरूम में स्टीम बनायें. फिर बच्चे को बाथ टब में ले जाएं और उसे कुछ देर टब  में ही खेलने दें. बेहतर रिजल्ट के लिए  बाथटब में कुछ बूंदे मेंथोल व यूकेलिप्टस ऑयल की डाल दें. इससे बच्चे की छाती खुलेगी और खांसी  आराम मिलेगा. 

5. बेबी विक्स वेपोरब जो हल्के यूकेलिप्टस और मेंथोल से बना होता है उसे रात को सोने से पहले बच्चे की पीठ, छाती और गले पर लगा दें. ऐसा करने पर भी बच्चे को खांसी से राहत मिलेगी.#Caughsyrup

(योदादी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here