Home Parenting हर बच्चा अलग है तो उनकी परवरिश भी अलग होगी!

हर बच्चा अलग है तो उनकी परवरिश भी अलग होगी!

बच्चे की परवरिश बहुत ही महत्वपूर्ण ड्यूटी है और इसमें हुई जरा सी चूक बच्चे के लिए नुकसानदेह साबित हो सकती है. Parenting tips

किसी भी माता-पिता के लिए बच्चे की परवरिश कोई आसान काम नहीं बल्कि सबसे महत्वपूर्ण ड्यूटी है. इसमें कहीं भी जरा सी चूक बच्चे के लिए नुकसानदेह हो सकती है. हर बच्चा समान नहीं होता इसलिए उनकी परवरिश (Parenting Tips) भी समान तरीके से नहीं की जा सकती है.

child care

बच्चे को ध्यान में रखकर यानी यह ऐसा विषय है जिसमें पूरी सूझ-बूझ के साथ कदम उठाने की आवश्यकता होती है. अच्छी परवरिश (Parenting Tips) वह नहीं होती जिसमें माता-पिता बच्चे को पूरी तरह कंट्रोल में ही रखते हैं. यानी बच्चे को बात-बात पर डांट-फटकार लगाना. बल्कि समय व बच्चे की जरुरतों को देखते हुए घर में शांतिपूर्वक माहौल बनाए रखना.

अच्छी परवरिश के कुछ जरूरी टिप्स –

1. बच्चे को दें छूट –

हर बच्चे में प्रतिभा छिपी होती है. लेकिन देखा जाता है कि माता-पिता उन प्रतिभाओं को निखारने के बजाय उसे दबाने की कोशिश में लगे रहते हैं. बच्चा जो बनना चाहता है उसे बनने से रोकते हैं.

बच्चे को जिंदगी की अपनी समझ के अनुसार ढालने की कोशिश करना गलत है. बच्चे यह उम्मीद मत रखें कि मैने अपनी जिंदगी में जो किया बच्चा भी वही करे. बल्कि उसे अपने अनुसार जिंदगी जीने में सहायता करें.

2. स्नेह जरूरी है पर हर डिमांड पूरी करना गलत – Parenting Tips

अकसर देखा जाता है कि माता-पिता बच्चे को प्यार करने का मतलब उसकी हर मांग को पूरी करना ही समझते हैं. पर यह आदत बिल्कुल गलत है. बच्चे की अगर हर मांग पूरी की जाती है तो फिर इसे प्यार नहीं मूर्खता कहते हैं.

ऐसे बच्चे आगे चलकर मां-बांप की बात सुनने से रहे. इसलिए ध्यान रखें कि बच्चे को वही चीजें दे जो उनकी जरूरत की हो. बच्चों की तो आदत होती है कि वे हर अच्छी बुरी चीजों को लोने की जिद्द करते रहते हैं. क्योंकि उनके अंदर समझदारी नहीं होती है. तब ऐसे में आपको ज्यादा दुलार दिखाने के बजाय समझदारी से काम लेने की जरूरत है.

3. बच्चे को बच्चा ही रहने दें –

क्या आप नहीं चाहते कि आपके बच्चे अपना बचपना बेहतर ढंग से जी सके? ऐसे से बहुत से माता-पिता होते हैं जो बच्चे के साथ बड़ों की तरह व्यवहार करते हैं. उनका बचपना छीनते हैं. बचपना तो जीवन का सबसे अनमोल क्षण होता है.

इस क्षण को उन्हें खुलकर जीने दें. जिस घर में छोटे बच्चे होते हैं वहां खुशियां भरी होती है. आप कितना भी टेंशन में रहते हों लेकिन बच्चे की एक मुस्कान व उसकी बचकाना हड़कतें चंद मिनटों में आपके दुःखों को दूर कर देता है. इसलिए बच्चे के साथ बड़ों जैसा व्यवहार बिल्कुल ना करें.

4. घर का माहौल खुशनुमा रखें – Parenting Tips

बच्चे के उपर सबसे अधिक प्रभाव घर के माहौल का ही पड़ता है. घर का वातावरण अगर खुशनुमा रहता है तो ऐसे में बच्चे अपने आप को वहां सुरक्षित महसूस करते हैं. लेकिन जब परिस्थितियां इसके विपरीत हो यानी घर का माहौल हमेशा टेंशन वाला हो.

हर कोई घर में टेंशन में रहे तो आप कैसे उम्मीद करेंगे कि आपका बच्चा ऐसे माहौल में खुश रहेगा. धीर-धीरे उसके उपर भी नकारात्मक प्रभाव पड़ना शुरू हो जाएगा. ऐसे में बच्चे का मानसिक विकास भी प्रभावित हो सकता है. इसलिए घर का माहौल खुशनुमा रखना बहुत जरूरी है.

5. दोस्त बनें बॉस नहीं –

यह तो आप अच्छी तरह जानते होंगे कि बच्चे प्यार के भूखे होते हैं. यह कथन बिल्कुल सहीं है. बच्चे के साथ अगर प्यार से पेश आया जाए तो वे बहुत आज्ञाकारी होते हैं. अच्छी परवरिश (Parenting Tips) के लिए यह एक बेहतर टिप्स है कि बच्चे के साथ हमेशा बॉस नहीं बल्कि दोस्त की तरह पेश आएं.

इसे भी पढ़ें:अपने बच्चे का ऐसे रखें ख्याल कि हमेशा रहे तंदुरुस्त!

ताकि वह आपसे हर बात खुलकर साझा कर सके. लेकिन अगर आप उसके साथ एक बॉस की तरह पेश आते हैं तो वह आपसे आंख मिलाकर बातें नहीं कर पाएगा. उसे अगर किसी तरह की परेशानी भी होगी तो आपसे बताने में सहमा सा रहेगा. जिसका परिणाम बुरा होता है.

child care

6. बच्चे सुनकर नहीं देखकर सीखते हैं –

सभी बच्चों का दिमागी विकास तेज गति से होता है. उनकी यह भी आदत होती है कि वे सुनने से ज्यादा देखी हुई चीजों को बहुत जल्दी सीखते हैं. खासकर वे अपने माता-पिता की ही नकल करते हैं. यह ध्यान रखना जरूरी है (Parenting Tips) कि आप जो-जो करते हैं आपका बच्चा उसे जरूर सीखेगा. तो ध्यान रखें कि आपकी आदतें बच्चे के सामने एकदम सही होनी चाहिए. ताकी बच्चे भी उसी के अनुरूप अपनी ज्ञान वृद्धि कर सकें.

7. बच्चे भी सिखाते हैं – Parenting Tips

बेहतर परवरिश (Parenting Tips) की एक और खास बात है कि इसमें बच्चों से भी आप बहुत कुछ सीख सकते हैं. जिसमें सबसे खास है उनका खुश रहना, खुलकर हंसना. आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में खुलकर हंसना, रिलेक्स रहना तो मानो गायब ही हो गया हो. इसलिए खुश रहने के तरीके बच्चों के सीखे जा सकते हैं.#Parenting

(योदादी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here