Home Pregnancy गर्भावस्था के दौरान व्यायाम कैसे होता है फायदेमंद, जानिए!

गर्भावस्था के दौरान व्यायाम कैसे होता है फायदेमंद, जानिए!

गर्भावस्था के दौरान व्यायाम करने से शिशु को भविष्य में अल्जायमर जैसी घातक बीमारी से बचाया जा सकता है. इस दौरान कसरत करने के और भी कई फायदे हैं, जो माँ व शिशु दोनों को लाभान्वित करते हैं.

किसी महिला के लिए माँ बनना दुनिया का सबसे अनमोल व अनोखा अनुभव होता है. माँ बनने का मतलब सिर्फ बच्चे का नया जन्म ही नहीं बल्कि महिला भी एक नई दुनिया में प्रवेश करती है. नई जिम्मेवारियों से रू-ब-रू होती है. गर्भावस्था के दैरान महिलाएं कई सारी परेशानियों से गुजरती हैं लेकिन नन्हीं-सी जान के हाथ में हाथ में आते ही वह तमाम परेशानियों को भूल जाती है और फिर वह एक नए जीवन की शुरुआत करती है.

इस नन्हें से मासूम के लिए वह न जाने क्या-क्या ख्वाब देखती है, लेकिन माँ के लिए सबसे जरूरी है कि बच्चे के नई दुनिया में प्रवेश करने से पहले वह अपनी सेहत का भरपूर ख्याल रखे.

Exercise in Pregnancy
Exercise during pregnancy | source: firstcrycdn

तभी बच्चे के साथ-साथ माँ भी स्वस्थ रूप से इस सुख को अनुभव कर सकें. महिलाओं के गर्भवती (pregnancy) होने के कुछ महीनों बाद से ही एकदम आराम की सलाह दी जाती है, जबकि एक अध्ययन के अनुसार जन्म लेने वाले बच्चे को भविष्य में अल्जायमर जैसी घातक बीमारियों से बचाने के लिए गर्भावस्था के दौरान हल्के काम के साथ व्यायाम करना भी जरूरी है.

अगर आप भी गर्भवती हैं तो हम आपको बताते हैं कि इस दौरान आपको कौन-कौन से व्यायाम (Exercise During Pregnancy) करना चाहिएः

क्यों जरूरी है व्यायाम (Why is exercise necessary)?

गर्भावस्था (pregnancy) के दौरान महिलाओं को एकदम से आराम ना करके थोड़ा बहुत काम करते रहने से माँ व बच्चे दोनों के हेल्थ के लिए लाभदायक होता है. गर्भावस्था के दौरान व्यायाम करने से शरीर में स्फूर्ति बनी रहती है, मांसपेशियों व जोड़ों का कसाव, लचीलापन व ताकत बढ़ती है. इसके सिवा कमर दर्द, ऐंठन समेत अन्य बीमारियों से भी छुटकारा मिलता है.

सीधे तौर पर कहें तो गर्भावस्था के दौरान व्यायाम करने से स्वास्थ्य संबंधी कई परेशानियों से बचा जा सकता है. इस दौरान जो महिलाएं शारीरिक रूप से सक्रिय रहती हैं उनका रक्तचाप और वजन भी नियंत्रित रहता है. नियमित एक्सरसाइज से महिलाओं के गर्भस्थ शिशु का वजन भी सामान्य रहता है.

गर्भावस्था में व्यायाम संबंधी जरूरी सुझाव (Suggestion about exercise during pregnancy):

1. आप भी अगर गर्भवती हैं और अपने व बच्चे के स्वास्थ्य का ख्याल रखना चाहती हैं तो व्यायाम जरूर करें लेकिन उससे पहले आप किसी डॉक्टर से इस बारे में सलाह भी लें. ताकि कोई ऊंच-नीच ना हो और आप चिकित्सक द्वारा दिए गए परामर्श के अनुसार सही व्यायाम करें.

2. यह जरूर ध्यान रखिए की व्यायाम शुरू करने से पहले वार्मअप और कसरत के बाद कूल डाउन होना चाहिए. शरीर में लचीलापन लाने के लिए आपके लिए साधारण व्यायाम करना ज्यादा सही रहेगा. सुरक्षा के लिहाज से साधारण व्यायाम ही आपके लिए सही रहेगा.

3. देखा जाए तो रोजाना व्यायाम करना सबसे बढ़िया है. शरीर को एकदम तंदुरुस्त रखने के लिए सप्ताह में 5 दिन रोजाना कम से कम 30 मिनट व्यायाम करना भी बहुत फायदेमंद होगा.

इसे भी पढ़ें: गर्भावस्था में रहना है स्वस्थ तो इन फलों से रहें दूर!

exercise during pregnancy
Exercise during pregnancy | source: amazonaws

4. गर्भवती महिला के शरीर में पानी की कमी नहीं होनी चाहिए. ऐसी परिस्थिति में महिलाओं में शारीरिक परिवर्तन होने की वजह से पानी की अधिक आवश्यकता पड़ती है. इसलिए जरूरी है कि व्यायाम करने से पहले और बाद में शरीर में पानी की पर्याप्त मात्रा रहे. इस दौरान ग्लूकोज वाला पानी ज्यादा फायदेमंद होता है. यह हमारे शरीर की रक्त कोशिकाओं और उतकों में आद्रता बनाए रखने के लिए जरूरी है. मां के दूध के लिए भी शरीर में पर्याप्त पानी कै होना बहुत महत्वपूर्ण है.

किसी महिला के लिए माँ बनना मात्र एक सुखद अनुभव ही नहीं है बल्कि नन्हीं जान के साथ वह खुद भी एक नई दुनिया में प्रवेश करती है. बच्चे के जन्म के बाद ऐसा अनुभव होता है मानों दुनिया की तमाम खुशियां उसके ऑंचल में हो!

इसका भी रखें ख्याल (Take care of it too)…

5. गर्भवती महिलाओं के पीठ व कमर में अक्सर दर्द की शिकायत सुनने में आती है. इससे राहत पाने में आपके लिए बैक एक्सरसाइज बहुत कारगर साबित होगा, पर हां ध्यान रखें कि इस तरह की एक्सरसाइज बगैर चिकित्सकीय सलाह के ना करें. आप चाहें तो शॉर्ट वॉक भी कर सकती हैं.

6. गर्मी के दिनों में आप अधिक थकान वाले किसी भी व्यायाम को ना करें क्योंकि इस दौरान थकाने वाले व्यायाम नुकसानदेह साबित हो सकते हैं. जबकि हल्के व्यायाम करना सेहत के लिए फायदेमंद होता है.

7. कसरत करना हर किसी के फायदेमंद होता है लेकिन गर्भकाल (Pregnancy) में व्यायाम करने से आपके शरीर का रक्त संचार सुचारू रहता है. स्वच्छ हवा आपके फेफड़ों तक पहुंचती है. इससे आपके साथ-साथ गर्भस्थ बच्चा भी लाभान्वित होगा.

आपके अनुकूल कुछ व्यायाम (Some Exercises That Favorable):

योग (Yoga) – गर्भावस्था (Pregnancy) के दौरान महिलाओं में शारीरिक परिवर्तन की वजह से योगा के दैरान उनका शरीर लचीलेपन की इजाजत नहीं देता. इसके बावजूद योग के कुछ चुनिंदा आसनों को करके आप चुस्त-दुरुस्त रह सकती है. रोजाना योगा करने से आपके शरीर में असामान्य रक्तचाप की समस्या समाप्त होगी और सुगर लेवल भी नियंत्रित रहेगा. आप चाहें तो योगा क्लास ज्वाइन करके भी इसका लाभ ले सकती हैं या फिर टी.वी शो भी इसका अच्छा माध्यम है.

yoga is good for future mother
Exercise during pregnancy | source: shopify

टहलना (Walking)– टहलना तो हर किसी की सेहत के लिए फायदेमंद है और टहलना सबसे अच्छा व्यायाम माना जाता है. इसलिए रोजाना सुबह शाम टहलने की कोशिश करनी चाहिए.

स्वीमिंग (Swimming) – मानव शरीर की कोशिकाओं को सुचारू रखने के लिए स्वीमंग भी अच्छा व्यायाम है. इसमें कसरत के साथ ही आनंद की भी अनुभूति होती है. गर्भवती महिलाओं के लिए भी यह व्यायाम अनुकूल माना जाता है. आपकी सहायता के लिए कई जगह अलग से स्वीमिंग सेंटर भी बनाए गए हैं.

वेट लिफ्टिंग (Weight lifting) – वजन उठाने से मांसपेशियों व जोड़ों का कसाव लचीलापन, व ताकत बढ़ने में सहायता मिलती है. वजन उठाना शरीर में जोश व स्फूर्ति बनाए रखने में सहायत होता है. आपको वजन उठाते समय पूरी सावधानी बरतनी होगी ताकि चोट ना लगे.

इसे भी पढ़ें: जानिए प्रेगनेंसी के दौरान कितना सोना है नुकसानदेह!

इन व्यायामों से बचें:

कुछ व्यायाम ऐसे होते हैं जो आपके साथ ही शिशु के लिए भी नुकसानदेह साबित हो सकता है. इसलिए उन व्यायामों को करने से बचना चाहिए.

1. जिस व्यायाम में गिरने का डर हो इसे बिल्कुल ना करें.

2. किसी क्रिया के दौरान सांस रोकना खतरनाक.

3. फुटबॉल, बास्केट बॉल व वॉलीबॉल भी ना खेलें.

4. ऐसे व्यायाम करने से बचें जिससे पेट पर दबाव बनें.

5. ऐसे व्यायाम भी ना करें जिसमें अधिक दौड़ना व कूदना हो और पैरों पर भी जोर पड़े.

running activity is unhealthy
Exercise during pregnancy | source: kinetic-revolution

6. ज्यादा झुकने वाले व्यायाम भी खतरनाक हो सकते हैं.

पहली बार माँ बनने का अहसास हर महिला के लिए खास होता है. आपकी खुशियों के इस अहसास को और खूबसूरत बनाने के लिए गर्भकाल (Pregnancy) के दौरान हमने आपको व गर्भस्थ शिशु की सेहत को ध्यान में रखते हुए स्वास्थ्य से जुड़े कुछ अहम व हल्के टिप्स सुझाए हैं. क्या आप नहीं चाहतीं की आपके साथ-साथ बच्चा भी स्वस्थ रहे? तो आप भी इस टिप्स का अनुसरण कर जरूर लाभान्वित हों और ‘योदादी’ के साथ अपने अनुभव को कमेंट कर जरूर शेयर करें. #हेल्दीमम्मी #हेल्दीचाइल्ड

Feature Image: hindustantimes

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here