Home Health Care बच्चों के सिर में जूएं हैं तो आजमाएं ये उपचार – Headlice...

बच्चों के सिर में जूएं हैं तो आजमाएं ये उपचार – Headlice in childrens

सिर में जुएं रहने पर यह खून तो चूसते ही हैं इसके अलावा, खुजली, सिर दर्द और त्वचा संक्रमण जैसी समस्या भी देते हैं. (Headlice in childrens)

जुएं (Headlice in childrens) एक किस्म का कीट जिसका घर इंसान का सिर होता है. सिर में रहने पर यह खून तो चूसते ही हैं इसके अलावा, खुजली, सिर दर्द और त्वचा संक्रमण जैसी समस्या भी देते हैं. लेकिन अगर बच्चों के सिर में जुएं हो जाएं तो यह बहुत बड़ी परेशानी का कारण बनता है. क्यूंकि सिर में हमेशा खुजली की वजह से बच्चे का मन हमेशा बेचैन रहता है.

Headlice in childrens

सकूल हो या घर बच्चे को सुकून से रहने में कठिनाई होती है. आपको अगर बच्चे के सिर की त्वचा में लिख दिखे तो समझ लीजिए सिर में जुएं हैं. इसकी संख्या भी तेजी से बढ़ती है और यह एक व्यक्ति से दूसरे के अंदर बड़ी आसानी से प्रवेश कर जाता है.

अब जूं से संबंधित लक्षण, कारण और इसके घरेलू उपचार की जानकारी आपको देते हैंHeadlice in childrens

जूं के लक्षणHeadlice in childrens

  • बालों में किसी चीज का रेंगना महसूस होना.
  • गला, कंधा और सिर पर छोटे-छोटे दाने जैसा दिखना.
  • सिर में हमेशा खुजली रहना. यह खुजली जूं (Headlice in childrens) काटने पर होने वाली एलर्जिक रिएक्शन के कारण होता है.
  • त्वचा पर बालों के नीचे छोटे-छोटे सफेद अंडे जैसा दिखाई देना.
  • देखा जाता है कि जूं अंधेरे में ज्यादा सक्रिय हो जाते हैं. इस वजह से रात को नींद न आने के साथ-साथ व्यक्ति चिड़चिड़ापन महसूस करता है.
  • सिर की त्वचा में संक्रमण भी जूं होने के संकेत हैं.

बालों में क्यूं होते हैं जूएंHeadlice in childrens

जुओं को मेडिकल भाषा में पेडिक्युलोसिस कैपिटिस कहते हैं और यह सिर में संक्रमण की वजह से होती है. सिर का खून चूस कर ही जूएं जिंदा रहते हैं. सिर में जूएं होने के एक नहीं बल्कि कई कारण हो सकते हैं जैसे-

  • जिसके सिर में जूएं हैं उनका कंघी, तौलिया और टोपी साझा करने से जूएं दूसरे व्यक्ति के सिर तक चला जाता है.
  • जूएं प्रभावित इंसान के संपर्क में आते ही वो आपको भी अपना शिकार बना लेगा.
  • या फिर जूएं प्रभावित व्यक्ति के कपड़े या बिस्तर साझा करने पर भी यह फैलता है.
  • बच्चों में जुओं से राहत के लिए क्यूं बेहतर है घरेलू उपचार
  • वैसे तो जुओं के इलाज के लिए दवाएं भी मिलती है लेकिन इन दवाओं के दुष्प्रभाव भी होते हैं. आप चाहें तो अपने बच्चे को जुओं से छुटकारा दिलाने के लिए ओ.टी.सी दवाएं दे सकती हैं. लेकिन अगर आपके बच्चे के सिर में एलर्जी की समस्या है तो फिर किसी तरह की दवाओं का इस्तेमाल करना असुरक्षित होगा.

जुओं से छुटकारा पाने के घरेलू उपचारHeadlice in childrens

1. जैतून का तेल

बच्चे के सिर पर जैतून का तेल ज्यादा मात्रा में लगा दें. जैतून का तेल जूं एवं उनके अंडों को सांस नहीं लेने देता, जिससे घुटन के कारण जूओं की मौत हो जाती है. इस तेल को लगाने के 20 मिनट बाद आप बालों में कंघी करके मृत जुओं को निकालकर फिर शैंपू भी कर सकते हैं. बच्चों पर यह प्रक्रिया 4-5 बार दोहराएं और हर बार बच्चे का कपड़ा भी धोना मत भूलें.

2. बेबी ऑयल – Headlice in childrens

बच्चे के बालों पर थोड़ा सा बेबी ऑयल लगाकर कुछ मिनट मालिश करने के बाद सिर को शॉवर कैप से ढ़क दें. रात भर इसे ऐसे ही छोड़ दें और सुबह मृत जुओं को कंघी से निकाल दें. अब बाल सावधानी पूर्वक धो लें क्यूंकि बालों से गिरने वाला पानी आंख, कान और मुंह में ना जा पाए. कुछ दिनों बाद इसे वापस दोहराएं.

3. टी ट्री ऑयल

बच्चों के सिर से जुओं (Headlice in childrens) को निकालने के लिए टी ट्री ऑयल भी एक बेहतर घरेलू उपचार है. इसके लिए पहले टी ट्री ऑयल को पानी के साथ मिलाकर मिश्रण तैयार करें. अब इसे एक स्प्रे बॉटल में रखकर बच्चे के सिर पर स्प्रे कर दे. इसके बाद बच्चे के सिर को तौलिया से ढ़क दे. थोड़ी देर बाद अब बालों को अच्छे से धो दें. यह प्रक्रिया सप्ताह में दो बार आजमाएं.

इसे भी पढ़ें: बच्चे के पेट में कीड़े की समस्या से हैं परेशान, तो यहां देखिए उपाय

4. सिरका

आसुत का सिरका पहले बच्चे के बालों में लगा दें और फिर थोड़ी देर बाद बच्चे के बालों को अच्छे से सादे पानी से धो दें. इसके लिए सेब का सिरका भी इस्तेमाल कर सकते हैं. लेकिन याद रहे सिरका लगे बालों को धोने के बाद कंघी करते वक्त आप नारियल का तेल भी लगे सकते हैं.

5. नारियल तेल

नारियल तेल थोड़ा सा लेकर बच्चे के सिर की त्वचा पर अच्छे से लगाएं. दे घंटे बाद पतली वाली कंघी से मृत जुओं और अंडों को निकाल दें. अब बाल को शैंपू लगाकर अच्छे से धो लें. इस प्रक्रिया को सप्ताह में दो बार दोहराएं.

6. लहसुन

लहसुन के 8-10 टुकड़ों और नींबू के रस को पीसकर मिश्रण तैयार करें. इसे बच्चे के सिर में लगाकर 30 मिनट तक छोड़ दें. फिर सिर को हल्के गर्म पानी से धो दें. इससे त्वचा साफ हो जाएगी.

7. पेट्रोलियम जेली

जूएं सिर में घूमती रहती है और पेट्रोलियम जेली इसे घूमने से रोकता है. आप बच्चे के सिर में पेट्रोलियम जेली की मोटी परत लगा दें. अब रात में सोते समय सिर को तौलिया से ढ़क दें. सुबह उठकर अब मृत जुओं को सिर से निकालना होगा. इसके लिए आप पतली वाली कंघी और बेबी ऑयल का इस्तेमाल कर सकते हैं.

8. प्याज – Headlice in childrens

कुछ प्याज लेकर उसका रस निकालें और बच्चे के सिर में लगा दें. इसे 3-4 घंटे के लिए लगा रहने दे. समय हो जाने पर अब जूं निकालने वाली कंघी से इसे निकाल कर बालों को अच्छी तरह शैंपू करके धो दें. इस प्रक्रिया को 3-4 दिन दोहराएं और परिणाम देखें.

9. हेयर ड्रायर

बच्चे के सिर से जूएं (Headlice in childrens) निकालने का एक अचूक तरीका है हेयर ड्रायर. लेकिन इसका इस्तेमाल आप घर के बाहर करें तो बेहतर होगा. ताकि सिर से निकलने वाले जूएं घर में फैलने ना पाएं.

10. सेब

बच्चे के सिर पर मसले हुए सेब इस तरह लगाएं कि उसके बाल पूरी तरह ढ़ंक जाएं. एक घंटे के बाद बाल को अच्छे से धो दें. कुछ दिनों तक ऐसा करने पर यह प्रक्रिया भी कारगर साबित होगा.

11. नीम का तेल

बच्चे के शैंपू में नीम का तेल मिलाकर उसके बालों में शैंपू करें. फिर बालों में पतली वाली कंघी से जूएं निकालें. जुओं के संक्रमण को दूर करने के लिए नियमित रूप से शैंपू में नीम का तेल मिलाकर ही बालों में शैंपू करना होगा.

(योदादी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here