Home Education स्वतंत्रता दिवस पर निबंध – Independence Day Essay in Hindi

स्वतंत्रता दिवस पर निबंध – Independence Day Essay in Hindi

प्रति वर्ष देश भर में 15 अगस्त के दिन स्वतंत्रता दिवस (Independence Day Essay in Hindi) का पालन किया जाता है. यहां स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त पर निबंध देखें.

भारतीय लोकतंत्र और हम देशवासियों के लिए 15 अगस्त का दिन बहुत ही महत्वपूर्ण है. साल 1947 में इसी दिन भारत को ब्रिटिश शासन से आजादी मिली थी. इस दिन को हमारे देश का सबसे स्वर्णिम दिन कहा जाता है. इस दिन को सेलिब्रेट करने के लिए प्रति वर्ष देश भर में 15 अगस्त के दिन स्वतंत्रता दिवस (Independence Day Essay in Hindi) का पालन किया जाता है. यहां स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त पर निबंध देखें. इसका उपयोग बच्चे अपने स्कूल अथवा अन्य स्थानों पर भाषण-लेखन के लिए कर सकते हैं!

Independence-Day-Essay-in-Hindi

स्वतंत्रता दिवस – 15 अगस्त पर निबंधIndependence Day Essay in Hindi

भारत आज दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है. लेकिन देश को आजादी दिलाने में हमारे स्वतंत्रता सेनानियों को कितनी कुर्बानियां देनी पड़ी. लंबे संघर्ष के बाद हमारा देश आजाद हुआ है. देश की आजादी के लिए महात्मा गांधी, भगत सिंह, चंद्र शेखर आजाद, नेताजी सुभाष चंद्र बोस, सरदार वल्लभभाई पटेल, सुखदेव, गोपाल कृष्ण गोखले, डॉ.राजेंद्र प्रसाद, मौलाना अबुल कलाम आजाद, लाला लाजपत राय, लोकमान्य बालगंगाधर तिलक जैसे हजारों स्वतंत्रता सेनानियों ने अपना बलिदान दिया था. तभी तो आज हम सब खुली हवा में सांस ले रहे हैं.

भारत को अंग्रेजों से मुक्ति दिलाने के लिए हमारे स्वतंत्रता सेनानियों ने ब्रिटिश सरकार के साथ दिन-रात एक करके लड़ाई की थी. इनमें से कईयों ने आराम और सुखी जीवन को त्याग कर अपने जान की कुर्बानी तक दे दी थी. महात्मा गांधी के अहिंसा आंदोलन ने देश की आजादी में अहम भूमिका अदा की थी.

जिसके फलस्वरूप हमें 200 सालों के ब्रिटिश शासन से मुक्ति मिली थी. भारत को आजाद करने में हर धर्म, हर जाति, हर नस्ल, हर रंग और के लोगों ने खूब बढ़-चढ़कर कर हिस्सा लिया था. इस स्वतंत्रता आंदोलन में ना सिर्फ पुरुष बल्कि महिलाओं ने भी हिस्सा लिया था. जिनमें विजय लक्ष्मी पंडित, कस्तूरबा गांधी, अरुणा आसफ अली, सरोजिनी नायडू, कमला नेहरू, एनी बेसेंट आदि शामिल हैं.

सरकारी स्तर पर होते हैं कार्यक्रम – Independence Day Essay in Hindi

स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम बड़े उत्साह और गौरव के साथ मनाया जाता है. इस मौके पर सरकारी स्तर पर कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है. जिसमें सबसे बड़ा कार्यक्रम दिल्ली स्थित लाल किले पर होता है. देश के प्रधानमंत्री यहां ध्वजारोहण करते हुए देश को संबोधित करते हैं. प्रधानमंत्री के इस भाषण को सुनने के लिए लोगों में उत्साह भी रहता है. हमारे राष्ट्रीय ध्वज को 21 तोपों की सलामी भी दी जाती है. फिर भारतीय सशस्त्र बल, अर्धसैनिक बल व एनसीसी कैडेट परेड करते हैं.

देश के महान स्वतंत्रता सेनानियों को श्रधांजलि दी जाती है. मौके पर कई अन्य कार्यक्रम भी होते हैं. आतंकवाद के खतरे को ध्यान में रखते हुए इस दिन दिन सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम रहते हैं. इसके अलावा हर राज्य में स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है, जिसमें राज्यपाल व मुख्यमंत्री मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहते हैं और वे पूरे सम्मान के साथ तिरंगा फहराते हैं.

इस दिवस का पालन करने के लिए तैयारी बड़े धूम-धाम से की जाती है. कार्यक्रम स्थल जैसे स्कूल, कॉलेज, ऑफिस आदि स्थानों पर राष्ट्रीय झंडा फहराने के साथ-साथ राष्ट्रगान “जन-गण-मन” या देशभक्ति गीत गाए जाते हैं. स्कूलों, कॉलेजों में इस दिन भाषण, निबंध, कविता, नाटक समेत अन्य कार्यक्रम भी आयोजित होते हैं. मिठाइयां भी बांटी जाती है.

कई वर्षों तक चली लंबी लड़ाई के बाद 14 और 15 अगस्त 1947 की मध्यरात्रि को भारत स्वतंत्र देश बन गया. पंडित जवाहरलाल नेहरू ने पहली बार दिल्ली के लाल किला में भारत के झंडे का अनावरण किया. मध्यरात्रि के स्ट्रोक पर उन्होंने “ट्रास्ट विस्ट डेस्टिनी” भाषण दिया था. उसी दिन से प्रति वर्ष प्रधानमंत्री पुरानी दिल्ली में लाल किले पर राष्ट्र ध्वज फहरा कर जनता को संबोधित करते हैं.

सुरक्षा के कड़े इंतजाम – Independence Day Essay in Hindi

स्वतंत्रता दिवस के मौके पर आतंकवाद का भय रहता है. इसलिए प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति की कड़ी सुरक्षा के अलावा मुंबई, दिल्ली, जम्मू कश्मीर जैसे कई शहरों को आतंकी हमलों से बचाने के लिए उस दिन लाल किले पर “नो फ्लाई जोन” घोषित है. सुरक्षा के मद्देनजर पूरे देश में पुलिस बल की तैनाती रहती है.

यह दिन हम भारतीयों के लिए बहुत गर्व का दिन है. हम सभी को उन शहीदों के प्रति श्रद्धा से सिर झुकाना चाहिए. साथ ही हम सबके फर्ज बनता है कि हर कोई ऐसा कार्य करे जिससे देश का नाम रोशन हो.

(योदादी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here