Home Calture Independence Day Speech in Hindi: स्वतंत्रता दिवस पर स्पीच

Independence Day Speech in Hindi: स्वतंत्रता दिवस पर स्पीच

स्वतंत्रता दिवस पर कर्तव्यों की बात होना जरूरी है. इसलिए भाषण में लोगों को कर्तव्यों के बारे में समझाएं. (Independence Day Speech in Hindi)

15 अगस्त (Independence Day Speech in Hindi) के दिन पूरे देश में स्वतंत्रता दिवस का पालन किया जाता है. 15 अगस्त 1947 को हमारा देश ब्रिटिश शासन से मुक्त हुआ था. भारत को ब्रिटिश शासन से आजादी दिलाने के लिए हमारे कई महापुरुषों ने बलिदान दिया है. जिसमें महात्मा गांधी, भगत सिंह और चंद्रशेखर आजाद जैसे लोगों की अहम भूमिका रही है. देश को आजादी मिलने की खुशी में प्रति वर्ष इस दिवस का पालन बड़े उल्लास के साथ किया जाता है.

Independence Day Speech

लेकिन स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर क्या भाषण दिया जाए यह सोचने में, इसकी तैयारी करने में वक्त लग जाता है. 15 अगस्त का दिन हम सभी के बचपन की यादों का भी एक महत्वपूर्ण हिस्सा है. इस विशेष अवसर पर हम सब स्पीच तैयार करके स्कूल जाते थे. क्यूंकि वहां हमें भाषण देना होता था. भाषण देने की प्रथा सिर्फ स्कूल तक की सीमित नहीं है बल्कि दफ्तरों में भी स्पीच दिए जाते हैं.

खासकर अगर आप किसी स्कूल में शिक्षक हैं तो यह दिन आपके लिए खास होता है और आपको स्पीच के लिए तैयारी करनी होती है. बहुत सारे लोगों को माइक पर बोलने में असहज महसूस होता है. लेकिन मेरी मानिए अपने विचारों को व्यक्त करने का इससे बेहतर मौका आपको नहीं मिल सकता है. रही बात स्पीट के लिए मैटर की तो इसमें आपकी सहायता के लिए कुछ आइडिया देते हैं. जिससे आपको मदद मिल जाएगी.

आइडिया- Independence Day Speech in Hindi

स्वतंत्रता दिवस (Independence Day Speech in Hindi) के अवसर पर कर्तव्यों की बात होना तो जरूरी है. इसलिए अपने भाषण में आसपास के लोगों को उनके कर्तव्यों के बारे में समझाएं. उन्हें यह जरूर समझाएं कि राष्ट्र निर्माण में हर एक व्यक्ति किस तरह छोटे-छोटे प्रयासों से अपना अहम योगदान निभा सकते हैं. जिसमें ट्रैफिक नियमों का पालन करना, दूसरों की मदद करना और गंदगी नहीं फैलाने जैसे विषय पर समझ सकते हैं.

अपने स्पीच में देश में हाल में घटी ऐसी घटनाएं जिस पर देश को गर्व है उसका जिक्र करें. लोगों को यह समझाने की कोशिश करें कि किस तरह हमारा देश एक के बाद एक गौरवपूर्ण इतिहास लिख रहा है.

इसे भी पढ़ें: गणतंत्र दिवस पर ऐसे लिखें निबंध

टिप्स-

सबसे पहले अपने स्पीच को लिख कर और फिर उसे बोलकर प्रैक्टिस कर लें. कोशिश करें कि आपका भाषण ना ही बहुत छोटा हो और ना ही बहुत लंबा हो. कई बार आपने लोगों को देखा होगा कि वे रटकर अपना स्पीच देते हैं. ऐसे में जब वे बीच में कोई लाइन भूल जाते हैं तो फिर वे नर्वस हो जाते हैं.

यह ध्यान रखना जरूरी है कि आपको सिर्फ औपचारिकता निभाना नहीं बल्कि अपनी बातों को लोगों तक पहुंचाना भी है. इसलिए अपनी बातों को लोगों के सामने रटना नहीं बल्कि बातचीत के लहजे में रखना ज्यादा प्रभावशाली होता है. आपकी स्पीच को लोग मन लगाकर सुनें इसके लिए बीच-बीच में छोटे-छोटे किस्सों और मुहावरों का जिक्र करते रहें. इसमें आप अच्छी शायरी और कविताएं भी शामिल कर सकते हैं.

ये रहे भाषण- Independence Day Speech in Hindi

मैं आप सभी गणमान्य लोगों को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं देता हूं/देती हूं. मैं बहुत गर्व महसूस कर रहा हूं कि मुझे इस खास अवसर पर बोलने का मौका मिला है. हमारे देश को 15 अगस्त 1947 में अंग्रेजों से आजादी मिली थी. भारत को आजादी के लिए बहुत संघर्ष करने पड़े और इस संघर्ष की गाथा बहुत बड़ी है, जिसे कुछ मिनटों में बयां नहीं किया जा सकता.

हर भारतीय के लिए यह दिन बहुत खास महत्व रखता है. देश की आजादी में स्वतंत्रता सेनानियों के योगदान को भूलाया नहीं जा सकता. उन्हीं के प्रयासों से आज हम सब आजाद है. यह दिन ना सिर्फ ब्रिटिश शासन से आजादी को दर्शाता है बल्कि इसमें देश की शक्ति भी निहित है. लंबी लड़ाई के बाद हमारे वीर योद्धाओं ने आज ही के दिन भारत को आजाद किया था. तभी से हम सब इस दिन स्वतंत्रता दिवस का पालन करते आ रहे हैं.

भारत आज हर क्षेत्र में बड़ी तेजी से विकास कर रहा है. चाहे वो तकनीक, शिक्षा, वित्त या फिर खेल क्षेत्र ही क्यूं ना हो, हर क्षेत्र में विकास हो रहा है. अगर आजादी नहीं मिलती तो यह सारा कुछ संभव नहीं था. भारत परमाणु ऊर्जा में समृद्ध देशों में से एक है. एशियन गेम्स, ओलंपिक, कॉमनवेल्थ जैसे गेम्स में भारत की सक्रिय भूमिका रहती है.

देश की प्रगति में अपना योगदान निभाएं-

भारत का गौरव (Independence Day Speech in Hindi) आज विश्व में ऊंचाई पर है. उद्योग हो या शिक्षा, भारत हर क्षेत्र में नई उंचाइयों को छू रहा है. वैज्ञानिकों के योगदान से आज भारत को अंतरिक्ष के क्षेत्र में कई सारी उपलब्धियां हासिल हुई है. इसका सबसे बढ़ियां उदाहरण चंद्रयान 2 है. देश के नागरिक का भी कर्तव्य बनता है कि वे देश की प्रगति में हर संभव अपना योगदान देते रहें. क्यूंकि कई क्षेत्रों में अभी भी देश को मजबूती की आवश्यकता है. हम सभी को देश की उन्नति के लिए एकजुट होकर काम करना जरूरी है.

अपना भाषण सुनने के लिए मैं आप सभी को धन्यवाद देते हुए एक शायरी पढ़कर अपनी स्पीच को विराम देना चाहता हूं/चाहती हूं.

तन हमारा मिसाल है मोहब्बत की
तेड़ता है दीवारें नफरत की
ये मेरी खुश नसीबी है जो मिली जिंदगी इस चमन में
और भुला न सके कोई भी इसकी खूशबू सातों जनम में…

जय हिन्द! वन्दे मातरम!

(योदादी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here