Home Trending Muthulakshmi Reddi:भारत की पहली महिला विधायक व सर्जन!

Muthulakshmi Reddi:भारत की पहली महिला विधायक व सर्जन!

भारत की पहली महिला विधायक डॉ मुथुलक्ष्मी रेड्डी थीं. मुथुलक्ष्मी कई मामलों में ना सिर्फ देश की बल्कि विश्व की भी पहली महिला बनी थी. India's First Woman Legislator

भारत की पहली महिला विधायक डॉ मुथुलक्ष्मी रेड्डी (India’s First Woman Legislator) का जन्म वर्ष 1886 में आज ही के दिन तमिलनाडु के पुडुकोट्टई में हुआ था. मुथुलक्ष्मी कई मामलों में ना सिर्फ देश की बल्कि विश्व की भी पहली महिला बनी थी.

Muthulakshmi Reddi

मुथुलक्ष्मी देश की पहली महिला विधायक होने के साथ-साथ अपने नेक कार्यों की वजह से पूरी दुनिया में जानी जाती थी. आज उनका 133वां जन्मदिन है.

उनके जन्मदिन को खास बना कर याद करने के लिए आज Google ने Doodle बनाया है. अपने जीवन में उन्होंने एक सर्जन, शिक्षक व समाज सेविका के रूप में भी पहचान बनाई थी.

उन्होंने (India’s First Woman Legislator) देश में महिलाओं के प्रति होने वाले भेद-भाव को कम करने के लिए लड़ाई लड़ी थी. मुथुलक्ष्मी ने इतनी उपलब्धियां हासिल की थी कि उन्होंने दुनिया को दिखा दिया कि महिलाएं भी पुरुषों से कम नहीं हैं.

इन्होंने लोगों को बेहतर स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करने का भी काम किया. मुथुलक्ष्मी को शिक्षा से बहुत लगाव था. कहा जाता है कि मुथुलक्ष्मी के माता-पिता बाल्यावस्था में ही उनकी शादी करना चाहते थे.

लेकिन मुथुलक्ष्मी (India’s First Woman Legislator) ने इसका विरोध किया. अपने शिक्षा का अधिकार पाने के लिए उन्होंने घर वालों को समझाया. उन्होंने मद्रास से डॉक्टरी की पढ़ाई की.

जहां से उन्होंने मेडिकल की पढ़ाई की थी उस कॉलेज में वह मेडिकल की पहली व अकेली महिला थी. सरोजनी नायडु व एनी बेसेंट से उनकी यहीं दोस्ती हुई थी.

मेडिकल को किया अलविदा – Muthulakshmi Reddi

इस दोस्ती के बाद ही उनके करियर में बदलाव आया. सरोजनी नायडू के साथ परिचय होने के बाद डॉ मुथुलक्ष्मी ने अपने डॉक्टरी के करियर को अलविदा करते हुए राजनीति में शामिल हो गई थी.

जिसमें उन्हें सफलता भी मिली और वह मद्रास विधानसभा की सदस्य चुनी गई. विधानसभा सदस्य बनने के बाद उन्होंने महिलाओं के अधिकार की लड़ाई के लिए अपनी आवाज बुलंद की.

उन्होंने (India’s First Woman Legislator) छोटी उम्र की लड़कियों की शादी के विरुद्ध नियम बनाया. उन्होंने निस्वार्थ भाव से देश की सेवा की. उनका संपूर्ण जीवन समाज के प्रति समर्पित रहा.

>> इस सवाल ने अब्दुल कलाम को बनाया मिसाइल मैन

वर्ष 1954 में चेन्नई में आद्यार कैंसर इंस्टीट्यूट खोला. उनके सेवा भाव को देखकर वर्ष 1956 में उन्हें भारत सरकार की तरफ से पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था.

1968 में चेन्नई में उनका निधन हो गया. हर साल उनकी याद में तमिलनाडु में 29 जुलाई को अस्पताल दिवस मनाया जाता है.

Muthulakshmi Reddi

आइए जानते हैं मुथुलक्ष्मी के बारे में कुछ महत्वपूर्ण बातें – Muthulakshmi Reddi

1. जिस समय मुथुलक्ष्मी (India’s First Woman Legislator) बड़ी हो रही थी. उस वक्त समाज में बाल विवाह का चलन काफी था. खुद को शिक्षत करने के लिए उन्होंने बड़ी मशक्कत से अपने माता-पिता को राजी किया था.

2. जिस वक्त भारत पर अग्रेजों का शासन था उस समय वह सरकारी अस्पताल में सर्जन के तौर पर काम करने वाली पहली महिला थी.

3. मुथुलक्ष्मी ब्रिटिश भारत की पहली महिला विधायक रही. वह मद्रास विधानसभा के लिए 1927 में मनोनित हुई थी.

4. विधान परिषद की पहली महिला उपाध्यक्ष भी रही.

5. पुरुषों के महाविद्यालय में प्रवेश लेने वाली पहली महिला थीं

6. मद्रास म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन की पहली महिला अध्यक्ष रही.

7. वह प्रसिद्ध चिकित्सक, समाज सुधारक, स्वतंत्रता संग्राम सेनानी व पद्म भूषण से सुशोभित हैं.

8. महिलाओं व बच्चों के लिए उन्होंने ही पहली बार अस्पताल में अलग वार्ड की मांग रखी थी. इस मांग को सरकार की तरफ से मंजूरी भी मिली थी.

9. देवदासी प्रथा को समाज से हटाने के लिए मुथुलक्ष्मी ने ही कानून लाया था.

10. वर्ष 1954 में चेन्नई में आद्यार कैंसर इंस्टीट्यूट खोला.

11. वह शासकीय प्रशुति व नेत्र चिकित्सालय की पहली महिला चिकित्सक रहीं.

12. मुथुलक्ष्मी ऑल इंडिया वीमेन कांग्रेस की अध्यक्षा भी रही. इन्होंने वेश्यावृति व मानव तस्करी के खिलाफ कानून पास करवाया था.

13. ब्रिटिश सरकार को लड़कों की लिए शादी की न्यूनतम उम्र 21 साल व लड़कियों के लिए 16 साल करने की सिफारिश की थी.

14. वर्ष 1930 में उन्होंने मद्रास प्रोविंशियल काउंसिल से महात्मा गांधी की गिरफ्तारी के विरोध में इस्तीफा दे दिया था.

मुथुलक्ष्मी के महान कार्यों की वजह से ही भारत सरकार की तरफ से उन्हें 1956 में पद्मभूषण से नवाजा गया था. #MuthulakshmiReddi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here