Home Education India’s Traffic Rules in Hindi: भारत में यातायात के नियम

India’s Traffic Rules in Hindi: भारत में यातायात के नियम

सुरक्षित ड्राइविंग के लिए सरकार द्वारा यातायात के कुछ नियम बने हैं. जिनका पालन करके सावधानी बरती जा सकती है. (India's Traffic Rules in Hindi)

हमारे देश की सड़कों पर सुरक्षित ड्राइव (India’s Traffic Rules in Hindi) करने के लिए भारत सरकार द्वारा यातायात के कुछ नियम बनाए गए हैं. जिनका पालन करके रोड पर सावधानी बरती जा सकती है. हम रोजाना न्यूज में रोड एक्सीडेंट के बारे में पढ़ते हैं. ये एक्सीडेंट भारत के खराब ड्राइवर और उनके द्वारा यातायात के नियमों का पालन ना करने की वजह से होता है.

India's Traffic Rules in Hindi

यानी इन दुर्घटनाओं की वजह चालकों द्वारा यातायात के नियमों का पालन नहीं करने के कारण होता है. आज के दिनों में तो आप देखते होंगे कि छोटे-छोटे बच्चे भी ड्राइविंग करते हैं. इन बच्चों को ना तो यातायात के नियमों की समझ होती है और ना ही वे इसका पालन करना चाहते हैं. ये बच्चे सिर्फ आगे निकलने की दौड़ में शामिल हो जाते हैं.

यातायात के नियमIndia’s Traffic Rules in Hindi

व्यक्ति अगर चाहे तो वो यातायात के कुछ नियमों का पालन करके खुद को और दूसरों को भी सुरक्षित रख सकता है. यहां भारत के यातायात नियमों के बारे में बताया गया है,जिनका पालन करके हम हमारे यातायात को बेहतर बना सकते है. जिससे यातायात की बड़ी समस्या से आसानी से छुटकारा मिल जाएगा.

चलिए जानते हैं यातायात नियमों के बारे में –

वाहन की पार्किंग का ध्यान रखें : आप अपने वाहन की पार्किंग कभी भी इस तरह से ना करें कि वह दूसरों के लिए मुश्किल बन जाए. अगर आपको थोड़े समय के लिए भी पार्किंग करनी है तो भी आप सही जगह पर ही करें, ताकि आपके वाहन से दूसरों को कोई दिक्कत ना हो.

ड्राइव करते समय ओवेरटेक ना करे : याद रखें कभी भी ड्राइविंग करते समय किसी से रेस ना लगाए. यह बिल्कुल भी जरूरी नहीं है कि अगर कोई आपसे आगे निकल गया, तो आप भी उससे आगे निकले और इसके लिए यातायात के नियमो को तोड़ें. अगर आप यातायात के नियमों का पालन करते हुए वाहन चलाते हैं तो यह आपके साथ-साथ दूसरों के लिए भी सुरक्षित होगा.

लगातार हॉर्न ना बजाएं : अगर आप लगातार हॉर्न बजाते हैं तो इसका यह मतलब नहीं है कि आगे लगा हुआ जाम जल्दी हट जाएगा. इस हॉर्न से सिर्फ सामने वाले व्यक्ति पर दबाव बनता है और ध्वनि प्रदूषण फैलता है. इससे बेहतर होगा कि आप थोड़ा इंतजार करें और सामने वाले को निकलने का मौका दें.

इसे भी पढ़ें: इतिहास के साथ कैसे है गोलगप्पे का संबंध, आइए जानते हैं

एक तरफा रोड : जब आप एक तरफा रोड मे होते हैं तो आप उसके नियम (India’s Traffic Rules in Hindi) को फॉलो करें. यह महज कुछ ही दूरी के लिए होता है. एक तरफा रोड ड्राइवर की सुविधा के लिए ही बना होता है इसलिए इसे फॉलो करें. अगर कोई व्यक्ति समय बचाने के लिए गलत साइड मे चलता है तो वह अपने साथ-साथ दूसरों का भी समय खराब करता है.

यातायात नियम…

लेन अनुशासन : अगर आप किसी लेन में हो तो फिर उसे जरूर फॉलो करें. बिना किसी अनुदेश के लेन को ना तोड़ें. अगर कोई व्यक्ति समय बचाने के लिए लेन को तोड़ता है तो वह आने वाले की अन्य वाहनो को प्रभावित करता है.

यू – टर्न : यह बात जरूर ध्यान रखिए की यू-टर्न ड्राइवर का अधिकार नहीं है बल्कि यह सिर्फ ड्राइवर की सुविधा के लिए बना होता है. आप जब कभी यू-टर्न पर हो तो आगे पीछे के ट्रैफिक को देख ले उसके बाद ही यू-टर्न लें.

हाथ सिग्नल : अगर आप कभी भी हाथ सिग्नल का उपयोग करते हैं, तो आपके पीछे चल रहे व्यक्ति के लिए सुविधा होती है. इससे आपके पीछे चलने वाला व्यक्ति आपके साइड को समझ कर सेफ ड्राइविंग कर सकता है.

यातायात संकेत और यातायात नीति : यातायात संकेत और यातायात नीति ड्राइवर को इसलिए दी जाती है ताकि वह इसे ठीक से पढ़े और फॉलो करे. यातायात संकेत और यातायात नीति देने का सबसे बड़ा कारण हमारी सड़कों की ट्रैफिक व्यवस्था को दुरुस्त करना है.

गति प्रतिबंध : वाहन चलाते समय गति सबसे बड़ा फैक्टर होता है. अक्सर देखा जाता है कि रोड अच्छा होने पर ड्राइवर गाड़ी की गति बढ़ा लेता है. परन्तु ऐसा नहीं करना चाहिए. हर चालक के लिए स्पीड लिमिट को फॉलो करना उचित है.

भारत में यातायात के मुख्य संकेत- India’s Traffic Rules in Hindi

किसी भी चालक के लिए यातायात के संकेत को फॉलो करना अति आवश्यक है. इससे सड़क दुर्घटना जैसे से बचा जा सकता है. यातायात के मुख्य तीन संकेत किसी भी शहर के चौराहों में लगे होते हैं. ये संकेत तीन रंगों को दर्शाते हैं. जिसके बारे में यहां बताया जा रहा है.

लाल बत्ती : यातायात के मुख्य तीन संकेतों (India’s Traffic Rules in Hindi) में से एक लाल बत्ती है, जिसका मतलब ठहरना होता है. यानी आप जब भी किसी चौराहें से गुजरते हैं और आपको वहां लाल लाइट जलती हुई नजर आये तो आपको वहां रुकना होगा.

पीली बत्ती : पीली लाइट का मतलब होता है कि अब चलने के लिए तैयार हो जाना. यानी जब आप लाल बत्ती देखकर रुकते हैं और इसके बाद पीली लाइट जलती है तो यह आपको चलने के लिए तैयार हो जाने का संकेत देती है.

हरी बत्ती : हरी बत्ती का मतलब होता है चलना. अर्थात् जब सिग्नल में हरी लाइट जल रही है तो इसका अर्थ है कि अब आप चल सकते हैं.

इस प्रकार आप यातायात के इन संकेतों को फॉलो करके दुर्घटना से बच सकते हैं.

(योदादी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here