Home Trending MUMBAI RAINS: तेज बारिश हो या बाढ़, बच्चों के साथ ऐसे रहेंगे...

MUMBAI RAINS: तेज बारिश हो या बाढ़, बच्चों के साथ ऐसे रहेंगे सुरक्षित!

मानसून कभी-कभी खुशी के साथ आपदा भी लेकर आ जाती है. इसलिए पहले से सावधानी बरती जाए तो जान-माल की क्षति को रोकना संभव हो सकता है. (Mumbai Rains)

मुंबई में हो रही तेज बारिश (MUMBAI RAINS) ने लोगों का जनजीवन अस्त-व्यस्त कर दिया है. इस बारिश की वजह से वहां मानों बाढ़ जैसी स्थिति उत्पन्न हो गई है. ऐसा पहली बार नहीं हुआ है.

mumbai-rains

बारिश की वजह से हमेशा ही कोई न कोई राज्य इस तरह से संकट से जूझता है. जब कभी किसी राज्य में कई दिनों तक मुसलाधार बारिश होती रहती है तो वहां बाढ़ से हालात हो जाते हैं. ऐसे लोगों का घर से निकलना मुश्किल हो जाता है. क्योंकि आपदा (MUMBAI RAINS) कभी बता कर नहीं आती.

खाना-पानी समेत तमाम आधारभूत सुविधाओं में दिक्कत सामने आती है. इस तरह की परिस्थितियों में अगर कोई गरर्भवती है, घर में कोई बीमार है या फिर घर में कोई छोटा बच्चा है तो उन्हें ज्यादा मुश्किलों का सामना पड़ता है. हालांकि इस तरह की आपदाओं में प्रशासन की तरफ से तो व्यवस्था की ही जाती है.

लेकिन फिर भी अगर आप पहले से इसका सामना करने को तैयार रहें तो मुश्किलें थोड़ी कम हो जाती हैं. इसलिए आपदा (Mumbai Rains) से बचने के लिए पहले से सावधानी होना जरूरी है और हम यहां इस सावधानी के बारे में कुछ जरूरी बातों की जानकारी देने जा रहे हैं, जो हर किसी के लिए लाभदायक होगा.

इसलिए बाढ़ जैसी परिस्थिति में क्या करना उचित होगा और क्या नहीं यह जानकारी रखना आवश्यक है-

1. तेज बारिश (Mumbai Rains) में जब जनजीवन अस्त-व्यस्त हो तो इसमें घबराएं नहीं बल्कि धीरज रखें. खासकर बच्चों में इन सभी चीजों को लेकर घबराहट होती है. तो आपकी ड्यूटी है कि अपने साथ-साथ बच्चे को भी अंदर से मजबूती प्रदान करें.

उन्हें दिलासा देतें रहें कि सब कुछ बहुत जल्दी समान्य हो जाएगा. अगर आप अंदर से मजबूत रहते हैं तो कोई भी परेशानी का सामना आसानी से कर पाते हैं.

2. एक जरूरी बात है कि ऐसी परिस्थिति में बिजली से संचालित होने वाली चीजों से अपने साथ-साथ बच्चों की भी दूरी बनाए रखें. बारिश के दिनो में इस पानी की वजह से बिजली का झटका लगने का खतरा बना रहता है.

3. जब कभी कई दिनों तक लगातार बारिश होने की वजह से घर से आस-पास जलजमाव हो गया हो तो, फिर उस दौरान बिजली के मेन स्वीच को बंद करके ही रखें. इससे बिजली से होने वाला खतरा नहीं रहेगा.

mumbai-rains-traffic

बच्चों को पानी में जाने से रोकें –

4. बच्चों को पानी बहुत पसंद होती है. आपने देखा भी होगा बारिश शुरू (Tej Barish me Savdhani) होते ही ये घर से बाहर जाकर उछल-कूद करने लगते हैं. बार-बार समझाने पर भी वे घर के अंदर आने को तैयार नहीं रहते. तो बच्चों की इस आदत पर भी आपको ध्यान देने की जरूरत है.

यानी तेज बारिश की वजह से जमें हुए पानी में बच्चे को खेलने बिल्कुल भी नहीं जाने दें. क्योंकि यह पानी कई जगहों से होकर आने की वजह से यह गंदगी भरी होती है. इस पानी में जानलेवा कीटाणु भी होते हैं. बच्चे अगर इसमें जाएंगे तो यह उनके लिए बीमारियों का कारण बन सकती है.

5. पहले तो यह ध्यान रखें कि जरूरत ना हो तो घर से बाहर निकले हीं नहीं. लेकिन अगर निकलना ज्यादा जरूरी हो तो ख्याल रहे पानी की तेज धारा में चलने का प्रयास मत करें. इस तरह के पानी में बच्चों को तो बिल्कुल भी साथ लेकर नहीं जाएं. इसकी वजह है कि पानी की गहराई का आपको अंदाजा नहीं होता है. इसलिए बच्चों के लिए यह खतरनाक साबित हो सकता है.

6. सड़क पर अगर ज्यादा जल जमाव हुआ हो तो किसी कार लेकर भी उसमें मत जाएं. पानी की गहराई अगर 2 फीट होगी तो रास्ते में कार आपके लिए मुसीबत बन सकती है. यानी वह पानी के अंदर कभी भी बंद हो सकती है.

आपातकाल के लिए रखें यह व्यवस्था – Tej Barish me Savdhani

1. बाढ़ जैसी परिस्थिति में परिवार की सुरक्षा के लिए इमरजेंसी कीट तैयार रखना जरूरी होता है. जिसमें सबसे पहले खाने पीने की व्यवस्था रखें.

2. ऐसी परिस्थिति में ड्राई फूड आइटम्स रख सकते हैं. जैसे चूड़ा, बिस्किट, सत्तू, सूखी मिठाइयां समेत अन्य चीजें.

3. ऐसी परिस्थति में बिजली कनेक्शन नहीं होने पर घर में भी काफी मुश्किल होती है. इसलिए बैटरी से चलने वाले टॉर्च के साथ अतिरिक्त बैटरी भी रखें.

4. मोमबत्ती व माचिस की भी घर में व्यवस्था जरूर रखें.

5. फस्ट एड कीट में तत्काल जरूरत पड़ने वाली जरूरी दवाएं रखें.

6. अगर आपके आस-पास बाढ़ जैसे हालात उत्पन्न हो गए हों तो अपने पास आधार कार्ड, वोटर कार्ड समेत कैश रखें.

7. तेज बारिश के दौरान बिजली भी तेज चमकती है. बिजली से बचाव के लिए सावधानी बहुत आवश्यक है.

8. तेज बारिश के साथ-साथ अगर बिजली का भी उग्र रूप दिख रहा हो तो मुख्य रूप से वृक्ष व बिजली के खंभों से दूर रहें.

विद्धुतीय उपकरणों का इस्तेमाल करने से बचें – Tej Barish me Savdhani

1. जब तक ज्यादा जरूरी ना हो मोबाइल फोन व टेलीफोन आदि का इस्तेमाल करने से बचें.

2. अगर आप किसी जलस्त्रोत में नहा रहे हों तो जल्द से जल्द बाहर निकलकर समतल भूमि पर आ जाएं.

3. अगर आप किसी जंगली इलाके में घूमने निकले हों और उसी दौरान यह परिस्थिति उत्पन्न हो जाए तो ध्यान रखें कि पेड़ के नीचे कभी खड़े न हों.

4. धात्विक वस्तुओं से पूरी दूरी बनाए रखें.

अफवाहों से बचें – Mumbai Rains

1. बारिश के शुरू होने से पहले ही आस-पास के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र स्थल व सहायता के अन्य स्त्रोत की जानकारी रखें.

2. बारिश व बाढ़ जैसी परिस्थिति में जब जनजीवन अस्त व्यस्त हो जाता है तो कई तरह की आफवाहें फैलने लगती है. बारिश के आपदा में फंसे लोगों तक जब ये अफवाहें पहुंचती है तो उनके लिए यह परेशानी भरा होता है. इसलिए बेहतर है इस तरह के हालात में नेशनल डिजास्टर मैनेजमेंट ऑथोरिटी द्वारा दी गई जानकारियों पर ध्यान रखें.

3. संकट में फंसे होने पर सरकारी या गैर सरकारी संगठनों के संपर्क में रहने पर जान-माल की क्षति को कम किया जा सकता है.

4. न्यूज चैनलों पर ध्यान रखें. ताकि समय-समय की बाहरी गतिविधियों की जानकारी मिलती रहे.

5. नेशनल डिजास्टर मैनेजमेंट ऑथोरिटी की तरफ से भी लोगों के लिए सावधानी बरतने के निर्देश जारी किये जाते हैं. यह निर्देश जनहित के लिए होता है इसलिए इस पर पूरा ध्यान रखें.

6. पीने व खाना पकाने के लिए साफ पानी का व्यवहार करें. इसके लिए पानी में क्लोरीन की गोलियां डाल कर रखें.

तेज बारिश से बचाव के लिए सबका जागरूक होना जरूरी है. लोगों में अगर जागरूकता रहेगी तो वे इस तरह के आपदा से निपटने को तैयार रहेंगे. पहले से अगर इसकी तैयारी रहेगी तो जान-माल की हानि होने की संभावनाएं काफी कम रहेंगी. इसलिए सावधान रहें सुरक्षित रहें.

अगर आप हमारे इस लेख से संतुष्ट हैं तो कृप्या अन्य लोगों के साथ भी इसे जरूर साझा करें ताकि अधिक से अधिक लोगों को जागरूक किया जा सके. #HeavyRain

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here