Home Health Care अनुपम अपील: कोरोना वायरस से बचना है तो करें ‘नमस्ते’

अनुपम अपील: कोरोना वायरस से बचना है तो करें ‘नमस्ते’

कोरोना वायरस शारीरिक संपर्क के कारण फैल रहा है. इसलिए लोग एक दूसरे का अभिनंदन करने के लिए हाथ मिलाकर हैलो बोलने के बजाय दूर से ही नमस्ते कर रहे हैं.

इस वक्त पूरी दुनिया में कोरोना वायरस की वजह से दहशत का माहौल है. अब तो भारत में भी इस जानलेवा वायरस ने दस्तक देकर खलबली मचा दी है. दिल्ली-एनसीआर में कोरोना के नए मामले प्रकाश में आने के बाद केंद्र व दिल्ली सरकार दोनों ही सावधान हो गई है. एक तरफ इसको लेकर देश में अलर्ट जारी है. तो वहीं इस वायरस से बचाव के लिए लोगों ने भारतीय परंपरा नमस्ते का सहारा लेना शुरू कर दिया है.

anupam-kher-namaste

दरअसल कोरोना वायरस शारीरिक संपर्क के कारण फैल रहा है. इसलिए लोग एक दूसरे का अभिनंदन करने के लिए हाथ मिलाकर हैलो बोलने के बजाय दूर से ही नमस्ते कर रहे हैं. विश्व स्वास्थ्य संगठन समेत तमाम स्वास्थ्य एजेंसियां इस वायरस से बचाव के उपाय बता रही हैं. जसमें इन एजेंसियों की तरफ से भी हाथ न मिलाने, गले न मिलने की हिदायत दी गई है.

अनुपन खेर ने जारी किया वीडियो

अब बॉलीवुड सेलिब्रिटीज भी लोगों को इस वायरस से बचाव के लिए सुरक्षात्मक कदम उठाने की अपील कर रहे हैं. इस कड़ी में अपनी बेबाक राय को लेकर चर्चा में रहने वाले बॉलीवुड अभिनेता अनुपम खेर भी ट्विटर पर 39 सेकेंड का एक वीडियो जारी किया है जिसमें वे लेगों को कोरोना से बचाव के उपाय बता रहे हैं.

अनुपन खेर लोगों से हाथ और गले ना मिलाने की अपील की है. उन्होंने कहा कि है लोगों को एक दूसरे से गले मिलने और हाथ मिलाने से बचना चाहिए. इसके बदले भारतीय संस्कृति को अपनाते हुए दोनों हाथों को जोड़कर नमस्ते करके अभिवादन करना ठीक रहेगा. क्योंकि इससे शारीरिक संपर्क नहीं होता और दोनों हाथ जोड़ने से व्यक्ति के अंदर ऊर्जा का संचार होता है.

वीडियो के साथ उन्होंने ट्वीट किया है कि “काफी लोग बता रहे हैं कि किसी तरह के संक्रमण से बचने के लिए हाथ धोते रहना चाहिए. मैं तो यह वैसे भी करता हूं. लेकिन साथ ही मैं यह भी सुझाव देना चाहता हूं कि पुरानी भारतीय परंपरा के अनुसार लोगों का अभिवादन करने के लिए नमस्ते करें. यह साफ-सुथरा, दोस्ताना और ऊर्जा को केंद्रित करने वाला है, करके दिखिए.”

खूब वायरल हो रहा वीडियो

इस वीडियो संदेश को मंगलवार शाम तक 99 हजार से भी ज्यादा बार लोगों ने देखा है. ट्वीटर पर इसे 12.5 हजार लाइक मिले थे जबकि इसे 16 हजार बार री-ट्वीट किया गया है. वहीं अभिनेत्री प्रीति जिंटा ने भारत में कोरोना वायरस की पुष्टि पर ट्वीट करके अफसोस जताया है.

प्रीति ने लिखा है कि दिल्ली और तेलंगाना में निकले कोरोना वायरस के दो मामलों के बारे में सुनकर दुखी हूं. इसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती कि यह कितना घातक साबित हो सकता है. कृपया मास्क पहनें और इसके साथ ही जरूरी एहतियात भी बरतें. दोस्तों सुरक्षित रहिए और अपना ख्याल रखिए.

करोना वायरस के भारत में आने का प्रभाव फिल्मों की शूटिंग पर भी पड़ना शुरू हो गया है. प्रोड्यूशर रॉनी स्क्रूवाला ने शोभिता धुलिपाला की फिल्म सितारा की शूटिंग स्थगित कर दी है. इसकी शूटिंग केरल में होने वाली थी. वहां कोरोना का मामला प्रकाश में आने के बाद केरल सरकार ने राज्य में आपदा का ऐलान किया है.

लोगों ने बदला अभिवादन का तरीका

बहुत सारे देशों में लोगों ने संक्रमण फैलने के भय से अभिवादन के लिए हाथ मिलाना बंद कर दिया है. जबकि कई देशों में लोगों ने इसका विकल्प निकाला है. कहीं लोगों को अभिवादन करते हुए देखा जा रहा है कि कहीं से पैर मिलाने के वीडियो आ रहे हैं.

1. इस जानलेवा वायरस के संक्रमण से बचने के लिए अमेरिका में कोहनी मिलाने व टकराने का तरीका अपनाया जा रहा है.

2. वुहान में लोग हाथ मिलाने की जगह एक दूसरे से क्रॉस फुटशेक कर रहे हैं. चीनी लोगों का दाएं पंजे से बाएं पंजे एवं बाएं पंजे से दाएं पंजे छुआते हुए वीडियो काफी वायरल हो रहा है. इस तरीके को वुहान शेक भी नाम दिया गया है.

इसे भी पढ़ें: पांव पसार रहा खतरनाक कोरोना वायरस

बीमारियों से भी बचाता है ‘नमस्ते’

आपको यह जानकर हैरानी होगी कि नमस्ते करने से आप कई तरह की बीमारियों से बच सकते हैं. भारत की यह वर्षों पुरानी परंपरा ना केवल आपक सभ्य भारतीय होने का गौरव प्रदान करती है बल्कि ये व्यक्ति को गंभीर बीमारियों से भी बचाती है. नमस्ते करना तो हमारी संस्कृति का प्रतीक है. भारतीयों की पहचान यह ‘नमस्कार’ या ‘नमस्ते’ सिर्फ परंपरा नहीं बल्कि इसके कई सारे भौतिक व वैज्ञानिक फायदे भी हैं.

‘अनाहत चक’ पर रहते हैं दोनों हाथ

नमस्ते करने के लिए दोनों हाथों को अनाहत चक पर रखा जाता है. फिर आंखें बंद करके सिर को झुकाया जाता है. हाथों को हृदय चक्र पर लाने से दैवीय प्रेम का बहाव होता है. सिर झुकाते हुए आंखें बंद करने का अर्थ है कि खुद को हृदय में विराजमान प्रभु को अपने आप को सौंप देना.

क्रोध शांत करता है ‘नमस्ते’

नमस्कार करने से लोगों का गुस्सा तुरंत शांत हो जाता है. क्योंकि नमस्ते करते वक्त आपके दोनों हाथ जुड़ते हैं, तो आप गुस्सा नहीं कर पाते हैं. आपको हाथ जोड़े देखने पर सामने वाले का भी गुस्सा शांत हो जाता है. अगर आपको किसी पर गुस्सा आए तो तुरंत हाथ जोड़ कर देखिए गुस्सा तुरंत शांत हो जाएगा.

आप हाथ मिलाने की बजाय नमस्ते करना पसंद करते हैं?

क्या है 'कोरोना वायरस'?

चीन में तेज गति से फैल रहे कोरोना वायरस ने भारत में भी पांव फैलाना शुरू कर दिया है. इस जानलेवा बीमारी के प्रति सतर्कता बहुत जरूरी है.पूरा लेख यहां पढ़ें: https://bit.ly/2ue8Tzc

Posted by Yodadi on Sunday, 2 February 2020

(योदादी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here