Home Health Care Palak khane ke fayde: पालक खाने के फायदे व नुकसान

Palak khane ke fayde: पालक खाने के फायदे व नुकसान

पालक न सिर्फ स्वादिष्ट बल्की स्वास्थ्य के लिए भी बहुत अच्छा होता है. ठंड के मौसम में पालक खाने के बहुत सारे फायदे हैं. Palak khane ke fayde

हरी सब्जियों में पोषक तत्वों की मात्रा भरपूर रहती है, तभी तो डॉक्टर अधिक से अधिक हरी सब्जियां (Palak khane ke fayde) खाने की सलाह देते हैं. अब जब बात हरी सब्जियों की हो रही हो तो पालक का स्थान इसमें सबसे उपर है. भारत में पालक खाने वालों की संख्या बहुत है. आपने भी कभी न कभी इसका स्वाद जरूर चखा होगा. इसे हिंदी में पालक जबकि अंग्रेजी में स्पिनच कहा जाता है.

Palak khane ke fayde

इस हरी सब्जी का वैज्ञानिक नाम स्पिनासिया ओलेरेसिया है. पालक न सिर्फ स्वादिष्ट बल्की स्वास्थ्य के लिए भी बहुत अच्छा होता है. पालक ठंड के मौसम में ज्यादा मिलती है ठंड और इस मौसम में पालक खाने के बहुत सारे फायदे हैं. आइए अब आपको पालक खाने के फायदे व नुकसान के बारे में बताते हैं. इससे पहले जान लेते हैं कि पालक कितने प्रकार के होते हैं.

गुणों के आधार पर पालक तीन प्रकार के होते हैंPalak khane ke fayde

1. सेवॉय पालक

2. सेमी-सेवॉय पालक

3. स्मूथ-लीफ पालक

पालक खाने के फायदेPalak khane ke fayde

1. आप अगर बढ़े हुए वजन से परेशान हैं तो पालक आपको वजन कम करने में मदद करेगा. क्योंकि इसमें वजन घटाने वाले गुण मौजूद होते हैं. वजन घटाने के लिए सबसे जरूरी है कैलोरी की कम मात्रा का सेवन करना. पालक कम कैलोरी वाला खाद्य पदार्थ है, इसलिए इसे आहार में शामिल कर आप अपने बढ़ते वजन को नियंत्रित कर सकते हैं.

2. कैंसर जैसी घातक बीमारी में भी पालक फायदेमंद साबित हो सकता है. चूकि पालक बीटा कैरोटीन और विटामिन-सी से भरपूर होता है. ये दोनों पोषक तत्व विकसित हो रही कैंसर कोशिकाओं से सुरक्षा प्रदान करने में मददगार साबित हो सकते हैं.

3. आंखों की समस्या से बचाव के लिए भी पालक फायदेमंद साबित हो सकता है. आंखों की रोशनी को स्वस्थ रखने के लिए गहरे हरे रंग के पालक का सेवन करने की सलाह दी जाती है. पालक में पाए जाने वाले विटामिन-ए और विटामिन-सी मुख्य रूप से आंखों में होने वाले मैक्यूलर डीजेनरेशन यानि नेत्र रोग के खतरे को कम कर सकता है.

इसे भी पढ़ें: मक्के के आटे और कॉर्नफ्लोर में अंतर

4. पालक में ल्यूटिन और जियाजैंथिन नामक यौगिक होते हैं. ल्यूटिन और जियाजैंथिन का सेवन एंटीऑक्सिडेंट गुण की तरह कार्य करता है. जो रेटिना के केंद्र बिंदु में पिगमेंट डेनसिटी को सुधारने में अहम भूमिका निभाता है.

5. हड्डियों को स्वस्थ बनाए रखने के लिए सबसे जरूरी पोषक तत्व है कैल्शियम. कैल्शियम हड्डियों के निर्माण से लेकर उसके विकास तक में मदद करती है. पालक (Palak khane ke fayde) में कैल्शियम पाई जाती है, इसलिए हड्डियों को मजबूत रखने के लिए आप पालक को दैनिक आहार में शामिल कर सकते हैं.

पालक के फायदे

6. मस्तिष्क स्वास्थ्य और तंत्रिका तंत्र के लिए भी पालक अच्छा होता है. पालक में मौजूद कैल्शियम नर्वस सिस्टम को सामान्य रूप से कार्य करने में मदद करता है. पालक विटामिन-के, ल्यूटिन, फोलेट और बीटा कैरोटीन जैसे पोषक तत्वों से भरपूर होता है. तभी तो इसका सेवन याददास्त शक्ति को मजबूत करने में मदद करती है.

7. पालक हार्ट अटैक के खतरे को भी कम करता है. पालक को नाइट्रेट पोषक तत्व से भरपूर सब्जियों में गिना जाता है, जो कि स्ट्रोक और हार्ट अटैक के कारण होने वाली मौत के जोखिम को कम कर सकता है.

8. इसका सेवन करने से ब्लड प्रेशर का जोखिम कम होता है. नाइट्रेट युक्त पालक (Palak khane ke fayde) ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद करता है. इसके अलावा पालक में पाए जाने वाले पेप्सिन उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करता है.

9. गर्भावस्था के दौरान सबसे अधिक एनीमिया का खतरा रहता है. यह स्थिति आयरन की कमी के कारण उत्पन्न होती है. चूकि पालक में आयरन की भरपूर मात्रा रहती है इसलिए यह एनीमिया के खतरे को कम करता है.

10. शरीर को स्वस्थ बनाए रखने के लिए इसका रोगमुक्त रहना जरूरी है. शरीर रोगमुक्त तभी रह सकता है जब इसकी इम्युनिटी मजबूत होगी. पालक में विटामिन-ई काफी मात्रा में पाई जाती है और विटामिन-ई रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने का कारगर उपाय है.

पालक खाने से होने वाले नुकसानPalak khane ke fayde

1. पालक का अधिक सेवन करने से यह हमारे शरीर में खनिज अवशोषण की क्षमता पर असर डालता है. शरीर में इतनी क्षमता नहीं रहती कि वो इन तत्वों को पर्याप्त मात्रा में ग्रहण कर सके. यह हमारे सिस्टम की कार्यप्रणाली में बाधा स्थापित और खनिज की कमी से संबंधित विभिन्न तरह की बीमारियों को जन्म दे सकता है.

2. अधिक पालक खाने पर पेट की परेशानी हो सकती है. पालक में फाइबर की पर्याप्त मात्रा रहती है. पालक के 1 कप सूप में 6 ग्राम फाइबर होता है. वैसे तो अच्छे पाचन के लिए फाइबर की आवश्कता होती है लेकिन इसका अधिक सेवन करने पर ये पाचनतंत्र को नुकसान पहुंचाता है. इससे गैस और कब्ज जैसी परेशानी हो सकती है. इसलिए बेहतर होगा कि पालक को अपनी डाइट में एक साथ बहुत नहीं बल्कि धीरे-धीरे शामिल करें.

3. पालक का अन्य किसी फाइबर युक्त पदार्थ के साथ सेवन करने से शरीर में फाइबर की मात्रा बढ़ जाती है. जिससे बुखार, सर दर्द व डायरिया की समस्या भी हो सकती है.

पालक खाने से नुकसान

4. ज्यादा मात्रा में पालक खाने से किडनी में स्टोन की परेशानी हो सकती है. इसमें मौजूद आर्गेनिक पदार्थ शरीर में जाकर यूरिक एसिड में बदल जाते हैं, जो कि शरीर के लिए बेहद नुकसानदायक हैं. इसके परिणामस्वरुप किडनी में स्टोन की समस्या उत्पन्न हो सकती है.

5. गठिया के मरीज को पालक का सेवन कम से कम करना चाहिए.

6. पालक की अधिकता से किसी तरह की एलर्जी जैसे खुजली, गले में जलन आदि की समस्या हो सकती है.

7. हमेशा याद रखें कि पालक को अपनी डाइट में शामिल करने के लिए एक प्रॉपर डाइट प्लान फॉलो करें. इससे आपके शरीर किसी तरह का नुकसान नहीं होगा.

(योदादी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here