Home Health Care 8 करोड़ लोगों की जान ले सकती है फ्लू जैसी ये बीमारी,...

8 करोड़ लोगों की जान ले सकती है फ्लू जैसी ये बीमारी, जारी हुई चेतावनी!

विश्व इन दिनों पैंडेमिक बीमारी के खतरों का सामना कर रहा है. यह इतनी खतरनाक बीमारी है कि यह लाखों लोगों की जान ले सकती है. Pandemic Disease

विश्व इन दिनों पैंडेमिक बीमारी के खतरों का सामना कर रहा है. यह इतनी खतरनाक बीमारी (Pandemic Disease) है कि यह लाखों लोगों की जान ले सकती है. इसकी वजह से विश्व अर्थव्यवस्था को भी संकट का सामना करने जैसी परिस्थिति उत्पन्न हो सकती है. ग्लोबल प्रीपेयरडनेस मॉनिटरिंग बोर्ड (जीपीएमबी) की तरफ से चेतावनी दी गई है.

जिसमें कहा गया है कि विश्व पैंडेमिक बीमारी के बड़े खतरे का सामना कर रहा है. एक इंटरनेशनल पैनल ने सरकारों को इसके लिए चेतावनी देते हुए इसके प्रति सावधान रहने की सलाह दी है. पैनल ने इसके खतरे (Pandemic Disease) को कम करने के लिए इस दिशा में काम करने का भी परामर्श दिया है.

विश्व बैंक और विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित एक सम्मेलन में ग्लोबल प्रीपेयरडनेस मॉनिटरिंग बोर्ड (जीपीएमबी) ने चेतावनी देते हुए कहा है कि इबोला, फ्लू और सार्स जैसी बीमारियां बेहद खतरनाक हैं. इन तमाम बीमारियों को वैश्विक स्तर पर नियंत्रित करना बहुत ही मुश्किल हो रहा है. तेजी से फैलने वाली इस बीमारी में लाखों लोगों को मौत के घाट उतारने, अर्थव्यवस्थाओं को बाधित करने और राष्ट्रीय सुरक्षा को अस्थिर करने की क्षमता है.

रिपोर्ट के मुताबिक कुछ सरकारी और इंटरनेशनल एजेंसियों ने पश्चिम अफ्रीका में वर्ष 2014 से 2016 में विनाशकारी इबोला आउटब्रेक जैसी घातक बीमारी (Pandemic Disease) से सतर्क रहने के लिए कई तरह के प्रयास किए लेकिन उसका कोई फायदा नहीं हुआ.

इसे भी पढ़ें: बच्चों की किडनी में क्यों होता है इंफेक्शन!

जानकारी के अनुसार, ”हालांकि कुछ सरकारी और अंतर्राष्ट्रीय एजेंसियों ने पश्चिम अफ्रीका में 2014 से 2016 के दौरान विनाशकारी इबोला आउटब्रेक जैसी घातक बीमारी से सतर्क और तैयार रहने के लिए कई प्रयास किए थे लेकिन यह प्रयास समग्र रूप से अपर्याप्त है।”

5 करोड़ लोगों की गई थी जान

रिपोर्ट में 1918 ‘स्पैनिश फ्लू’ पैंडेमिक (Pandemic Disease) का हवाला दिया गया. इस बीमारी की वजह से करीब 5 करोड़ लोगों ने अपनी जान गंवाई थी. चूंकि हर रोज भारी संख्या में लोग विमान के माध्यम से विश्व भर में घूम रहे हैं. इसके कारण हवा जनित यह बीमारी 36 घंटों से कम समय के अंदर विश्व भर में फैल सकती है और करीब 5 से 8 करोड़ लोगों की जान ले सकती है.

इस बीमारी में इतनी क्षमता है कि यह विश्व की करीब 5 फीसदी अर्थव्यवस्था को तबाह कर सकती है. डब्लूएचओ के डायरेक्टर जनरल टेड्रोस अधानोम के अनुसार इन बीमारियों के प्रकोप से हमें सतर्क रहने की जरूरत है.

इसलिए उन्होंने सभी देशों की सरकारों से खतरा फैलने (Pandemic Disease) से पहले बचाव के तरीके ईजाद करने का आह्वाहन किया है. उन्होंने कहा कि विश्व भर की सरकारों को स्वास्थ्य तंत्र को मजबूत बनाने में निवेश करने, नई तकनीकों में शोध के लिए फंड बढ़ाने, बेहतर समन्वय, संचार प्रणालियों में तेजी और लगातार निगरानी रखने की बात पर जोर दिया है.

विश्व बैंक के कार्यकारी चीफ एक्जीक्यूटिव और पैनल के सदस्य एक्सल वैन ट्रोटसेनबर्ग ने कहा ” गरीबी भी इस संक्रमण रोगों के फैलने का एक कारण है. डब्लूएचओ ने इस साल की शुरुआत में यह भी चेतावनी दी थी कि पैंडेमिक फ्लू (हवा जनित वायरस के जरिए फैलता है) का अन्य रूप अपरिहार्य है और विश्व को इसके लिए तैयार रहना चाहिए.#PandemicDisease

(योदादी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here