Home Education शिक्षक दिवस पर भाषण – Teacher’s Day Speech in Hindi

शिक्षक दिवस पर भाषण – Teacher’s Day Speech in Hindi

Teacher's Day Speech in Hindi: शिक्षक दिवस का दिन हमारे समाज में बहुत ही विशेष दिन माना जाता है. यह दिन गुरुओं को विद्यार्थियों द्वारा सम्मान देने का दिन है. भारत में शिक्षक दिवस साल 1962 से ही मनाया जा रहा है.

Teacher’s Day Speech in Hindi: शिक्षक दिवस का दिन हमारे समाज में बहुत ही विशेष दिन माना जाता है. यह दिन गुरुओं को विद्यार्थियों द्वारा सम्मान देने का दिन है. भारत में शिक्षक दिवस साल 1962 से ही मनाया जा रहा है. हमारे देश की शिक्षा व्यवस्था के विकास में भारत के पूर्व राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन का बहुत बड़ा योगदान था. उनके राष्ट्रपति बनने के बाद 5 सितंबर को उनके जन्मदिन के मौके पर कुछ छात्रों ने उनका जन्मदिन मनाने की बात की थी. लेकिन राधाकृष्णन ने कहा कि मेरा जन्मदिन मनाने से बेहतर है अगर इस दिन शिक्षक दिवस का पालन किया जाए, तो मुझे बहुत गर्व महसूस होगा.

Teachers-Day-Speech-in-Hindi

शिक्षक दिवस: Teacher’s Day Speech in Hindi

तभी से प्रतिवर्ष 5 सितंबर को शिक्षक दिवस का पालन किया जाता है. इस दिन डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन को याद करते हुए सभी शिक्षकों को सम्मान किया जाता है. इस दिन स्कूलों और कॉलेजों में समेत अन्य संस्थानों में विभिन्न तरह के सांस्कृतिक कार्यक्रम किए जाते हैं. शिक्षकों के सम्मान में बच्चे भाषण भी देते हैं. आप भी अगर शिक्षक दिवस के मौके पर भाषण देना चाहते हैं तो इस पोस्ट के माध्यम से आप अपनी स्पीच तैयार कर सकते हैं.

किसी भी विषय पर भाषण देना किसी व्यक्ति के मन का विचार और विषय विशेष में उसका ज्ञान होता है. किसी अन्य व्यक्ति के द्वारा लिखा गया भाषण अगर आप देते हैं तो वो उतना आकर्षित नहीं होता है. लेकिन अगर आप स्वयं के विचारों को श्रोताओं के सामने साझा करते हैं तो वो ज्यादा आकर्षणीय होता है. लेकिन आपकी सुविधा के लिए हम यहां भाषण का पैटर्न और भाषण बना देते हैं. इसकी सहायता से आप अपनी बुद्धि लगाकर अपना खुद का लिखा भाषण तैयार कर सकते हैं.

कैसा होता है भाषण का पैटर्नTeacher’s Day Speech in Hindi

1. आप जब अपना भाषण देने मंच पर आएं तो सबसे पहले कार्यक्रम के अध्यक्ष फिर मुख्य अतिथि और फिर मंच पर उपस्थित सभी अतिथियों का अभिनंदन करें.

2. अब आप भाषण की भूमिका बांधे की आज कौन सा दिन है. इसका महत्व क्या है. इसे क्यों मनाया जाता है और कैसे मनाया जाता है आदि.

3. अब जिस विशेष व्यक्ति की याद में यह दिवस मनाया जाता है उनका विस्तृत परिचय देते हुए उनकी उपलब्धियों को गिनाएं.

4. उसके बाद अब आप अपने द्वारा रचित किसी रचना या कविता के माध्यम से श्रोताओं का ध्यान अपनी ओर आकर्षित कर सकते हैं.

5. अब आप अपने प्रिय शिक्षकों के बारे में अपना विचार साझा कर सकते हैं. आप शिक्षक द्वारा मिले ज्ञान से अपने जीवन में आए किसी बदलाव को भी साझा कर सकते हैं. इस तरह की रोचक बातें साझा करने पर श्रोता इसे सुनने में दिलचस्पी लेते हैं.

6. अंत में आप सभी का धन्यवाद करते हुए अपनी गलतियों पर क्षमा याचना कर अपना स्थान ग्रहण कर लें.

7. जब आप भाषण देने के लिए मंच पर उपस्थित रहें तो डरें नहीं बल्कि पूरे उत्साह और साहस से श्रोताओं तक अपनी बात रखें. इससे आपका भाषण और अधिक आकर्षक लगेगा.

8. शिक्षक दिवस के अवसर पर आप अपने शिक्षकों के प्रति सम्मान व्यक्त करने के लिए उन्हें फूल और उपहार भी भेंट दे सकते हैं.

9. आप अगर स्टेज पर खड़े होकर भाषण देने में समर्थ नहीं हैं तो अपने शिक्षकों को आप लिखित संदेश के माध्यम से भी अपने विचार बता सकते हैं. यह उपहार अपके शिक्षक के लिए बहुत बड़ा उपहार होगा.

10. इस उपहार से शिक्षक खुश तो होंगे ही और वे इसे हमेशा के लिए संभाल कर भी रखेंगे. साथ ही आने वाली पीढ़ियों के साथ भी वे इस सम्मान को साझा करेंगे.

शिक्षक दिवस पर भाषण देखें – Teacher’s Day Speech in Hindi

आदरनीय अध्यक्ष महोदय/महोदया, मुख्य अतिथि और मंच पर आसीन आप सभी को नमस्कार. हमारे शिक्षकगण और तमाम श्रोताओं को भी मेरा नमस्कार.

आज के दिन हम सभी यहां शिक्षक दिवस मनाने के लिए एकत्रित हुए हैं. और सबसे पहले यहां उपस्थित सभी शिक्षक-शिक्षिकाओं को टीचर्स डे की हार्दिक शुभकामनाएं. इस विशेष अवसर पर आप सभी के सामने अपने विचार व्यक्त करने का जो मुझे मौका मिला है उसके लिए मैं आप सभी का आभारी हूं.

शिक्षक दिवस का पालन हर वर्ष 5 सितंबर को किया जाता है. इस दिन देश के पूर्व राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्मदिन है. राधाकृष्णन एक बहुत बड़े विद्वान और शिक्षक थे और उन्होंने अपने जीवन का 40 वर्ष शिक्षक के पेशे को दिया है. इन 40 वर्षों में उन्होंने शिक्षा जगत को उन्नत करने का हर संभव प्रयास किया. यानी शिक्षा के क्षेत्र में उन्होंने बहुत बड़ा योगदान दिया है. शिक्षा के प्रति उनकी लगन और शिक्षकों के प्रति उनका आदर देखते हुए ही उनके जन्मदिन को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है.

शिक्षक की भूमिका – Teacher’s Day Speech in Hindi

किसी बच्चे के बेहतर चरित्र निर्माण में उसके शिक्षक की भूमिका अहम होती है. शिक्षक ही हमें सही-गलत का फर्क बताकर हमारा सही मार्गदर्शन कर हमारे भविष्य को उज्जवल बनाने का प्रयास करते हैं. तभी तो शिक्षक का स्थान समाज में सबसे उपर माना जाता है. शिक्षक वह दीपक हैं जो विद्यार्थी के अंदर ज्ञान का प्रकाश भरते हैं.

महान कवि कबीरदास जी ने भी कहा था कि अगर हमारे सामने शिक्षक और भगवान एकसाथ खड़े होंगें तो हमें पहले अपने शिक्षक को चरण स्पर्श करना चाहिए. क्यूंकि एक शिक्षक के ज्ञान से ही हमें भगवान तक पहुंचने का सही मार्ग पता चलता है. टीचर बगैर किसी भेद-भाव के अपने सभी छात्रों में ज्ञान का प्रकाश डालते हैं. इस विशेष दिन पर सभी छात्रों का फर्ज बनता है कि वे अपने शिक्षकों का आभार व्यक्त करें. इससे शिक्षक और छात्र के बीच के रिश्ते को मजबूती मिलती है.

शिक्षा के बिना जीवन की कल्पना करना भी असंभव है. जैसे हमारे शरीर को भोजन की आवश्यकता पड़ती है वैसे ही जीवन के हर मार्ग में आगे बढ़ने और ऊंचाइयों को हासिल करने के लिए शिक्षा की भी जरूरत पड़ती है. शिक्षक अपने विद्यार्थियों को निःस्वार्थ भाव से शिक्षा प्रदान करते हैं. सही शिक्षा के माध्यम से ही शिक्षक हमारे अंदर की बुराइयों को दूर कर हमें एक बेहतर इंसान बनाते हैं.

हम सभी के जीवन में शिक्षकों के इस योगदान के लिए हमेशा अपने शिक्षकों का आदर और सम्मान करना हमारा फर्ज बनता है. शिक्षक दिवस के मौके पर मैं सभी शिक्षकों का आभार व्यक्त करता हूं. और एकबार फिर से आप सभी शिक्षकों को मेरी तरफ से शिक्षक दिवस की ढ़ेर सारी बधाई.

धन्यवाद!

(योदादी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here