Home Health Care इन 10 योगासनों से बच्चे रहेंगे तंदुरुस्त और इनरजेटिक!

इन 10 योगासनों से बच्चे रहेंगे तंदुरुस्त और इनरजेटिक!

तन व मन दोनों को सदैव स्वस्थ बनाए रखने का एक बेहतर साधन है योग. वर्तमान दौर में देखें तो योग के प्रति लोगों का झुकाव बढ़ा है और वे अपने साथ-साथ अपने बच्चे को भी योग के प्रति प्रेरित करते हैं. बच्चों के लिए कई योगासन ऐसे हैं जिन्हें आप भी उनके साथ कर सकते हैं. आपके साथ योगासन करने में बच्चे को मजा भी आता है और वे इसे सही से करते भी हैं. योग सिर्फ बड़ों के लिए ही नहीं बल्कि बच्चों के लिए भी लाभदायक होता है और यह बच्चों के विकास में भी सहायता करता है.

योगासन बच्चे को तनाव मुक्त कर उनका आत्मविश्वास बढ़ाता है. यह बच्चे को बीमार करने वाले टॉक्सिन को उनके शरीर से बाहर निकालकर उनके इम्यून सिस्टम को अच्छा बनाता है. पर ध्यान रहे कि बच्चों का शरीर नाजुक होता है इसलिए हर योगासन उनके लिए नहीं होता. अगर आप बच्चों से कठिन योगासन करवाएंगे तो उनके शरीर को क्षति पहुंच सकती है. इसलिए बच्चों से उनके लिए उपयुक्त आसन ही करवाएं और ये योगासन ऐसे हैं जिन्हें आप भी बच्चों के साथ कर सकते हैं.

kid doing yoga
soaringspirityogastudio

आइए बताते हैं कि बच्चों के लिए कौन-कौन से आसन हैं उपयुक्तः

1. बिल्ली/गाय आसनः

यह योगासन बच्चे की रीढ़ की हड्डी को मजबूती प्रदान करता है. इस योग की एक खासियत यह भी है कि यह अस्थमा जैसी बीमारी को नियंत्रित कर बच्चे में तनाव को भी कम करता है. अगर आप भी बच्चे के साथ इस आसन को करते हैं तो बच्चा उत्साहित होकर मजे के साथ आसन को करता है और इसका लाभ उठाता है.

करने का तरीका –

इस योगासन को शुरू करते हुए पहले आप बिल्ली की स्थिति ले लें. गाय पोज में अपने सर को थोड़ा उपर की ओर उठाते हुए सीने व पेट को नीचे की ओर झुका लें. इसके बाद सांस लेते हुए रीढ़ को थोड़ा उपर की ओर उठाएं और सांस छोड़ते हुए इसे फिर नीचे की तरफ लाएं. इस प्रक्रिया को बार-बार दोहराएं.

2. त्रिकोणासनः

त्रिकोणासन बड़ा मजेदार आसन है पर इसका मजा लेने के लिए आपको जंपिंग जैक का इस्तेमाल करना होगा. पैरों के सही व्यायाम के लिए त्रिकोणासन बहुत फायदेमंद है. व्यायाम के साथ ही इससे स्ट्रेचिंग भी हो जाती है.

करने का तरीका –

इस व्यायाम को शुरू करते ही पहले प्रति 3 जंपिंग जैक करने के बाद ही पैरों को खोल कर खड़े हो जाएं. अगले स्टेप में दाहिने पैर के अंगूठे को थोड़ा सा बाहर निकालकर और बाएं पैर के अंगूठे को थोड़ा अंदर करके खड़े रहें. इसके बाद एक तरफ झुकते हुए अपने सीधे हाथ को दाएं पैर की पिंडली से लगाएं और बाएं हाथ को सीधा कर लें. बिल्कुल इसी तरीके से दूसरी तरफ भी इस क्रिया को करें. बच्चे के लिए इस आसन का 5-6 बार अभ्यास करना सही रहेगा.

3. हैप्पी बेबी पोजः

इस योगासन की खासियत यह है कि अगर आप इसे करते हैं तो यह आपके शरीर को शांत करते हुए मन के तनाव व थकान को भी दूर करता है. सिर्फ यही नहीं रोजाना इसको करने से हड्ड्यों के जोड़ों के साथ-साथ रीढ़ की हड्डी में लचक पैदा करते हुए इसे मजबूती भी प्रदान करते हैं.

करने का तरीका –

इस आसन को करने के लिये सर्वप्रथम पीठ के बल लेटें. फिर दोनों हाथों और पैरों को छत की ओर उठाते हुए अपने पैरों को हाथों से पकड़ लें. इस स्थिति में ज्यादा देर तक नहीं बल्कि थोड़ी देर ही रहें व पुनः सामान्य स्थिति में आ जाएं.

childrens doing yoga
tarayogaizmir

4. तितली आसनः

तितली आसन को करने से वह शरीर और मन को शांत कर तनाव व थकान को दूर करने में बेहद मददगार साबित होता है. यह आसन शरीर को अंदर से चुस्त बनाता है। यह पेल्विक एरिया एक्सरसाइज में भी सहायता करता है.

करने का तरीका –

तितली आसन करने के लिए जरूरी है कि आप पहले पालथी मार कर बैठ जाएं और दोनों तलवों को एक दूसरे के साथ सटा लें. इसके बाद आप अपने घुटनों को तितली के पंखों की तरह उपर-नीचे करते हुए सांसों को भी अंदर-बाहर करते रहें.

5. नटराजासनः

यह आसन जांघों, पिंडली, पैर और टखनों में खिंचाव लाने में बेहद मददगार साबित होता है. इस आसन के अभ्यास से बच्चों के शरीर का संतुलन बना रहता है व बच्चे में एकाग्रता का भी विकास होता है.

करने का तरीका –

इस ट्री पोज आसन को करने के लिए पहले तो आप सीधे खड़े हो जाए. इसके बाद अपने बाएं पैर को उठाकर दाएं पैर के घुटने के अंदर की तरफ लगाएं. फिर हाथों को नमस्कार करने वाली मुद्रा में करते हुए थोड़ी देर तक इसी स्थिति में रहें. कुछ देर इसी स्थिति में रहने के बाद फिर सामान्य स्थिति में आ जाएं.

6. भुजंगासनः

भुजंगासन बच्चों में क्रिएटिविटी बढ़ाने के साथ-साथ उनकी मांसपेशियों को भी मजबूत बनाते हैं. इससे बच्चे की रीढ़, पीठ की हड्डी व फेफड़े भी मजबूत होते हैं. इसके अलावा यह आसन पाचन क्रिया को भी दुरुस्त रखता है.

करने का तरीका –

इस आसन को करने के लिए पहले पेट के बल सीधे लेट जाएं और दोनों हथेलियों को सीने के पास रखे. इसके बाद सांस लेते हुए सर, कंधे व सीने को ऊपर की तरफ उठाएं. फिर सांस छोड़ते हुए सर को नीचे लेकर आने के बाद थोड़ी देर आराम करें.

baby doing yoga
fastly

7. प्राणायामः

प्राणायाम करने से ध्यान लगाने की शक्ति विकसित होती है व मस्तिष्क में ऑक्सीजन से भरपूर रक्त संचार बढ़ जाता है. यह उच्च हृदय गति को घटाकर शरीर में रक्त प्रवाह को नियंत्रित करता है. प्राणायाम तनाव मुक्त करने का सबसे बढ़ियां साधन है.

करने का तरीका –

इस आसन को करने के लिए पहले सुखासन में बैठ जाएं. अब अपने हाथों को ज्ञान मुद्रा में रखें व लंबी सांस लेकर ॐ का उच्चारण करते हुए सांस छोड़ दें। इस क्रिया को 4-5 बार दोहराएं.

8. शितकारी शीतली प्राणायामः

शितकारी शीतली प्राणायाम ब्लड को प्यूरिफाई करके बच्चों को मानसिक व शारीरिक रूप से शांत करने में बहुत मददगार साबित होता है.

करने का तरीका –

इस आसन को शुरू करते हुए पहले सुखासन या पद्मासन में बैठ जाएं. फिर अपनी जीभ को दोनों तरफ से रोल करते हुए ट्यूब के आकार का बनाएं. अगर जीभ को रोल करने में कोई परेशानी हो रही हो तो अपने मुंह से ही छोटा सा ओ बनाएं. इसके बाद जीभ से सांस लेकर और इसे मुंह से छोड़ते रहें. अपनी सुविधानुसार कम से कम 10 बार इसे दोहराएं.

9. धनुरासनः

सीने, कंधे, बांह पेट व जांघों की स्ट्रेचिंग के लिए धनुरासन बेहद कारगर है. इस आसन से पीठ व पैरों की मांसपेशियों में मजबूती आने के साथ ही पाचनशक्ति भी बढ़ता है. इससे बच्चों का कॉन्फिडेंस लेवल भी बढ़ता है.

करने का तरीका –

पहले पेट के बल लेटते हुए अपने दोनों हाथों को सीधा रखें. अब दोनों पैरों को घुटनों से मोड़कर लंबी सांस भरते हुए सीने को उपर की तरफ उठाएं. दोनों हाथों से दोनों पैरों की एरियों को पकड़ते हुए धनुष आकार का बनाएं. इसके कुछ देर बाद सांस छोड़ते हुए पहले वाली स्थिति में आएं.

10. एकपदासनः

यह बच्चों के लिए बेहद लाभकारी है क्योंकि इसको करने से बच्चों में एकाग्रता व आत्मविश्वास बढ़ने के साथ ही उनका मानसिक संतुलन भी बना रहता है. पैरों को मजबूती प्रदान करने में भी यह लाभकारी है.

करने का तरीका –

सबसे पहले सीधे खड़े हो जाएं और अपने दाएं पैर को घुटने से मोड़कर बाएं पैर के घुटने के ऊपर या नीचे रखें. इस आसन को सिर्फ अकेले ही नहीं बल्कि दो बच्चे भी क साथ कर सकते हैं. दोनों बच्चे अगल-बगल में खड़े होकर एक दूसरे का हाथ पकड़कर भी यह आसन कर सकते हैं.

childrens doing yoga
yogajournal

आपके लिए कोलकाता स्थित टॉप 10 योगा सेंटरों की लिस्ट:

1. एनीटाइम फिटनेस

2. टेंपल ऑफ योगा

3. योगा क्योर इंस्टीट्यूट

4. सोमेंस वर्कआउट

5. मंत्रा

6. फॉरेवर फिट वर्कआउट

7. रियल योगा

8. मिस्टीक योगा

9. अरिजीत्स वर्कआउट

10. स्पर्श योगा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here