Home Health Care Tips to Prevent Nail Infection in Hindi: नाखून के आसपास की त्वचा...

Tips to Prevent Nail Infection in Hindi: नाखून के आसपास की त्वचा में सूजन का कारण, लक्षण और बचाव

पैरोन‍िकिया नाखूनों की बीमारी है ज‍िसमें नाखून के आसपास की त्वचा में इंफेक्शन हो जाता है. (Tips to prevent nail infection)

नाखूनों के आसपास की त्वचा में एक तरह का इंफेक्शन (Tips to Prevent Nail Infection) हो जाता है, जिसे पैरोनिकिया नाम से जाना जाता है. इस इंफेक्शन की वजह बैक्टीरिया या फंगी हो सकता है. जो लोग अपनी हाथों को ज्यादा समय तक गीला रखते हैं या फिर जिनके हाथों में मॉइश्चर अधिक होता है, उनके नाखूनों में इंफेक्शन की आशंका ज्यादा रहती है. नाखूनों में इंफेक्शन होने पर इसके आसपास की त्वचा में दर्द, सूजन व रेडनेस की समस्या उत्पन्न होती है. अगर आप भी इस बीमारी से जूझ रहे हैं तो इससे बचाव और इलाज के बारे में यहां कुछ टिप्स दिए जा रहे हैं.  

Tips to Prevent Nail Infection in Hindi

स्किन में इसके मौजूद रहने पर नाखूनों में इस तरह का संक्रमण देखा जाता है. पैरोनिकिया में हाथ या पैर की एक या उससे ज्यादा उंगलियां संक्रमित होती हैं। यह संक्रमण अधिकतर नाखूनों के कोने में या फिर उसके नीचे होता है. इसके ज्यादातर मामले इलाज से ठीक हो जाते हैं.

इसे भी पढ़ें: हाथ-पैर में होने वाली झनझनाहट को दूर करने के घरेलू उपाय

नाखूनों में इंफेक्शन के लक्षण- Tips to Prevent Nail Infection in Hindi

1. नाखून और उसके आसपास की त्‍वचा में दर्द के साथ-साथ रेडनेस होना

2. नाखून के आसपास की स्किन में पस भरना

3. नाखून और इसके आसपास की त्‍वचा में सूजन होना

4. नाखूनों का उखड़ना

5. नाखूनों का डैमेज होना

नाखूनों में इंफेक्‍शन के कारण

व्यक्ति के नाखूनों में इंफेक्शन तब होता है जब इसके असपास की त्वचा डैमेज हो जाती है और बाहरी जर्म्स स्किन में आ जाते हैं। इसके कई सारे कारण हो सकते हैं जैसे-

  • बहुत सारे लोगों को नाखून काटने या चबाने की बुरी आदत होती है. ऐसे लोगों में नेल इंफेक्शन (Tips to Prevent Nail Infection) का खतरा अधिक रहता है.
  • जिन लोगों का हाथ ज्यादा समय तक गीला रहता है या फिर जिनके हाथों में दिन में कई बार केमिकल्स लगते हों, ऐसे लोगों में इंफेक्शन का खतरा अधिक रहता है.

नेल इंफेक्शन का इलाज- Tips to Prevent Nail Infection in Hindi

अगर आपके नाखूनों में इंफेक्शन है तो डॉक्टर आपको एंटी-बैक्टीरियल दवाएं दे सकते हैं. क्योंकि अगर आपके नेल में पस है तो इसका इलाज चिकित्सक से ही संभव है. वे नाखून के इंफेक्शन वाले हिस्से को सुन्न करके पस निकालकर उसमें दवा लगा देंगे. नाखून में इंफेक्‍शन अगर कम है तो आप इसका इलाज घर पर भी कर सकते हैं. आपके जिस नाखून में इंफेक्शन है उसे दिन में तीन से चार बार गुनगुने पानी में डुबो कर रखें. देखेंगे कि धीरे-धीरे इंफेक्‍शन ठीक हो जाएगा. दो से तीन दिनों में अगर ठीक नहीं हो तो फिर डॉक्टर को जरूर दिखाएं.  

नाखूनों के इंफेक्‍शन से बचाव

पैरोनिकिया बीमारी दो प्रकार की होती है- एक्यूट और क्रॉनिक. एक्यूट पैरोनिकिया में नाखून का इंफेक्शन महज कुछ दिनों या फिर कुछ घंटों के लिए होता है. जबकि क्रॉनिक पैरोनिकिया (Tips to Prevent Nail Infection) कुछ हफ्तों तक रह सकता है. हालांकि दोनों ही इंफेक्शन का इलाज संभव है. अगर आप कुछ आसान टिप्स को आजमाएंगे तो इस समस्या से छुटकारा मिल सकती है. जैसे-

1. नाखूनों को हमेशा छोटा रखने की कोशिश करें क्योंकि बड़े नाखूनों में इंफेक्शन जल्दी होता है.

2. नाखूनों को हमेशा साफ रखें.

3. हाथों को अधिक समय के लिए गीला न रखें.

4. नाखूनों को चबाने की आदत छोड़ दें.

5. अपने नाखूनों को नियमित रूप से माइल्ड क्लींजर से धोकर मॉइश्चराइजर लगाएं.

वैसे तो इस बीमारी का इलाज बहुत ही आसान है और यह बहुत जल्दी ठीक भी हो जाता है. लेकिन अगर कुछ दिनों में यह इंफेक्शन ठीक न हो तो फिर आपको चिकित्सक की सलाह लेनी चाहिए.

(योदादी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here