Home Health Care ज्यादा एक्सरसाइज से घट सकती है फैसले लेने की क्षमता!

ज्यादा एक्सरसाइज से घट सकती है फैसले लेने की क्षमता!

एक्सरसाइज करना सेहत के लिए फायदेमंद तो होता है. लेकिन जरूरत से ज्यादा व्यायाम आपकी सेहत के लिए घातक सिद्ध होता है. Disadvantages of Exercise

कोई भी काम एक दायरे में किया जाए तो ही सही होता है. अन्यथा उसका बुरा प्रभाव पड़ना लाजमी है. ठीक यही नियम आपकी सेहत पर भी लागू होता है. सेहत के ख्याल से एक्सरसाइज करना फायदेमंद माना जाता है. और हर किसी में एक्सरसाइज (Disadvantages of Exercise) की आदत होनी चाहिए.

over exercise

तंदरुस्त शरीर और आकर्षक व्यक्तित्व के लिए व्यायाम करना अच्छी बात है, लेकिन जरूरत से ज्यादा व्यायाम आपको स्वस्थ बनाने की बजाय बीमार कर सकता है. क्योंकि अगर आप किसी तरह की फिजिकल ऐक्टिविटी नहीं करते हैं तो यह शिथिलता भी आपके शरीर को कई तरह की बीमारियां दे सकती है.

लेकिन क्या आप जानते हैं कि अधिक एक्सरसाइज (Disadvantages of Exercise) आपकी सेहत पर बुरा प्रभाव भी डाल सकता है. सिर्फ सेहत नहीं बल्कि अधिक एक्सरसाइज दिमाग को भी नुकसान पहुंचाता है. ज्यादा एक्सरसाइज करने से फैसले लेने की क्षमता घट जाती है.

एक्सरसाइज भी दिमाग को करता है प्रभावित – Disadvantages of Exercise

एक नई स्टडी में यह बात सामने आई है कि जरूरत से ज्यादा एक्सरसाइज (Disadvantages of Exercise) करने से व्यक्ति का दिमाग प्रभावित होता है. यहां तक की हमारे फैसले लेने की क्षमता भी कम हो जाती है. विशेषज्ञों का मानना है कि इसकी वजह ओवर ट्रेनिंग सिंड्रोम है. जो कि अधिक एक्सरसाइज करने की वजह से होता है.

वैसे तो एक्सरसाइज को वजन कम करने के साथ-साथ खुद को फिट रखने का बेहतर तरीका माना जाता है. यही कारण है कि युवा अपना वजन कम करने के लिए एक्सरसाइज (Disadvantages of Exercise) का सहारा ले रहे हैं. लेकिन कभी-कभी देखा जाता है कि लोग जरूरत से ज्यादा ही एक्सरसाइज पर ध्यान देने लगते हैं. जिसका परिणाम व्यक्ति धीरे-धीरे मोटापे का भी शिकार होने लगता है.

एथलीटों पर हुई स्टडी – Disadvantages of Exercise

इस स्टडी में 35 वर्ष के 37 एथलीटों को शामिल किया गया था. उन्हें तीन हफ्ते तक अपनी एक्सरसाइज जारी रखने या फिर उसे 40 फीसदी तक बढ़ाने को कहा गया था. इस दौरान विशेषज्ञों द्वारा एथलिटों से कुछ सवाल भी पूछे गए थे.

इसे भी पढ़ें: खुद को इतना फिट कैसे रखती हैं हिना खान!

फिर अंत में सभी 37 एथलीटों का एमआरआई स्कैन किया गया. स्टडी पूरी होने पर पता चला कि तीन सप्ताह से ज्यादा एक्सरसाइज (Disadvantages of Exercise) करने वालों के व्यवहार में काफी बदलाव आया है. इन लोगों ने खुद को ज्यादा थका-थका भी महसूस किया है.

over exercise

विचार की प्रक्रिया में बदलाव –

विशेषज्ञों का मानना है कि ऐसे व्यक्ति के फैसले लेने की क्षमता प्रभावित होती है. यानी कई बार वह सही फैसले नहीं ले पाता है. यहां तक कि अपने जीवन के लक्ष्यों के प्रति उसके बर्ताव और विचार की प्रक्रियाओं में भी बदलाव आता है. यानी एक्सरसाइज जरूरी है लेकिन अधिक एक्सरसाइज हानिकारक भी है.

जरूरत से ज्यादा करना शरीर के लिए है हानिकारक – Disadvantages of Exercise

जरूरत से ज्यादा एक्सरसाइज भी सेहत के लिए हानिकारक है. क्योंकि अगर आप जरूरत से अधिक व्यायाम करते हैं तो उससे आपके शरीर हमेशा थकान बनी रहती है. थकान की वजह से आप कोई काम सही से नहीं कर पाएंगे. इसकी वजह से मूड भी चिड़चिड़ा रहता है.

वैसे तो कसरत करने से हमारे शरीर की कोशिकाओं को भरपूर ऑक्सीजन मिलता है. अधिक व्यायाम करने से शरीर में चुस्ती-फुर्ती नही रहती. इसके अलावा भी बहुत सारी समस्याएं हैं. जैसे नींद नहीं आना, मांसपेशियों का कमजोर होना, जोड़ों में दर्द, कमर दर्द, जैसी समस्याएं भी हो सकती हैं.

वहीं अधिक व्यायाम करने से रक्तचाप के स्तर में वृद्धि होती है जिससे हृदयाघात का खतरा बना रहता है. ज्यादा एक्सरसाइज करने वाले लोगों को एक शिकायत तो हमेशा ही रहती है कि उन्हें हमेशा सिर दर्द की समस्या रहती है. खासकर गर्मी के मौसम में आवश्यकता से अधिक व्यायाम सीधे तौर पर आपके दिमाग की नसों पर असर डालता है.

over exercise

जिससे आपको सिर में तेज दर्द का अहसास होता है. बस यही नहीं कुछ शोध यह भी बताते हैं कि अत्यधिक व्यायाम आपके मानसिक स्वास्थ्य पर विपरीत प्रभाव डालता है, जिससे आपके सोचने-समझने और किसी भी चीज को याद रखने की क्षमता घट जाती है.#Exercise

(योदादी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here