Home Health Care कहीं आपका बच्चा भी तो नहीं है मोटापे का शिकार?

कहीं आपका बच्चा भी तो नहीं है मोटापे का शिकार?

हर माता-पिता की यह सोच होती है कि वे अपने बच्चे को जितना ज्यादा खिलाएंगे उनका बच्चा उतना ज्यादा स्वस्थ और तंदुरुस्त होगा. लेकिन वास्तव में ऐसा होता नहीं है! इस विषय को गंभीरता से लेना बेहद जरूरी है. बहुत बार ऐसा देखा गया है कि बच्चे खाने के लिए बहुत ज्यादा आनाकानी करते हैं पर माता-पिता उसे जबरदस्ती खिलाने की लगातार कोशिश करते रहतें हैं और यह प्रयास तब तक जारी रहता है जब तक बच्चे को खिलाने में सफलता ना मिल जाए.

यह जानना बेहद जरूरी है कि बच्चे को कभी भी जबरदस्ती खिलाना उसके स्वास्थ्य के लिए बेहद हानिकारक हो सकता है. अधिकांशतः बच्चों में होने वाले मोटापे (obesity in children) का कारण माता-पिता द्वारा की गई जिद का ही नतीजा होता है. जबकि अपनी मर्जी के किया गया भोजन बच्चे के लिए लाभदायक सिद्ध होता है और इससे बच्चे स्वस्थ भी रहते हैं.

sciencenewsforstudents

आइए जानते हैं कि बच्चों को जबरदस्ती खाना खिलाना किस तरह उसके सेहत को प्रभावित करता है!

जबरदस्ती खाना खिलाने के प्रभाव –

1. बच्चे हो जाएंगे अत्यधिक मोटे

बच्चा जब खाना खाने बैठता है और उसके माता-पिता उसकी थाली में पड़े हर दाने को बगैर भूख के भी खाने पर जोर देते हैं तो बच्चा अपने शरीर द्वारा दिए गए संकेत को समझना बंद कर देते हैं और वह लगातार तब तक खाता रहता है जब तक उनके माता-पिता खिलाते रहते हैं. इस तरह बच्चे आवश्यकता से ज्यादा खा लेते हैं. तब जरूरत से ज्यादा खाए हुए खाने से जो कैलोरी मिलती है वह शरीर में फैट के रूप में जमा होना शुरू हो जाता है और धीर-धीरे बच्चा मोटापे का शिकार होने लगता है. इसलिए जरूरी है कि बच्चे को उतना ही खाना खिलाएं जितनी उसे भूख हो या वह जितना खाना चाहे.

2. बच्चे में सही पोषण की होगी कमी

बच्चे को मोटापे का शिकार बनाने में माता-पिता की जिद एक महत्वपूर्ण कारण है. खाना-खाने का भी हर किसी के शरीर का अलग विज्ञान है. भूख लगने पर अपनी इच्छा से खाया गया खाना ही अच्छे से हजम होता है और उससे शरीर को ज्यादा से ज्यादा पोषण मिलता है, पर जब बच्चे को जबरदस्ती खिलाया जाता है तो जबरदस्ती खाया गया खाना न तो पूरी तरह हजम हो पाता है और ना ही बच्चे को सही पोषण मिलता है. खाने को हजम करने के लिए जिन चीजों की आवश्यकता होती है वह बच्चे को अपनी मर्जी से खाए हुए खाने से ही मिलता है.

newsinvestigator

3. होगी कमजोरी की समस्या

जब बच्चे को उसकी इच्छा के विपरीत जरूरत से ज्यादा खाना खिलाया जाता है तो उसके शरीर में एक तरह का न्यूरोबायलॉजिकल इम्बैलेंस हो जाता है. शरीर में इसका लेवल गिरने पर बच्चे को बेहद थकान और कमजोरी महसूस होती है और बच्चा दिन भर सुस्त-सुस्त रहता है. ज्यादा खाना खाने के बाद जब बच्चा मोटापे का शिकार हो जाता है तो शरीर में एनर्जी रहने के लिए उसे दिन भर थोड़ी-थोड़ी देर पर कुछ न कुछ खाना पड़ता है. कई बार ऐसा देखा जाता है कि अपनी बार-बार खाने की आदत से स्वयं वह बच्चा भी बुरा महसूस करता है पर स्थिति ऐसी हो जाती है कि इसे नियंत्रित करने के लिए वह कुछ भी नहीं कर सकता.

4. बना रहता है दिल की बीमारी का खतरा

क्या आप जानते हैं कि अगर आप अपने बच्चे को जरूरत से ज्यादा खाना खिलाते हैं तो बच्चे के शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ जाती है और यह बच्चे के दिल व दिमाग दोनों को प्रभावित करतें हैं. शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ने पर वह हार्ट अटैक, हार्ट फेल्योर व स्ट्रोक जैसी दिल की कई गंभीर बीमारियों का खतरा पैदा कर सकती है. इसलिए बेहतर होगा कि आप बच्चे को कभी भी जबरदस्ती खाना खिलाने की कोशिश ना करें. अगर बच्चे खाना-खाने में आनाकानी करें तो कोशिश कीजिए कि बच्चे को उसकी पसंद का स्वस्थ खाना खिलाया जाए.

मोटापा कम करने के लिए अपनाएं ये उपाय –

punjabkesari

1. आउटडोर गेम्स के लिए करें प्रेरित

बच्चे को इंडोर गेम्स की बजाय आउटडोर गेम्स के लिए प्रेरित करें. आउटडोर गेम्स खेलने पर शरीर से अतिरिक्त कैलोरी की मात्रा कम होती है और बच्चा स्वस्थ रहता है.

2. करें व्यायाम के प्रति जागरूक

सेहतमंद रहने के लिए सुबह-सुबह सैर करना और व्यायाम करना हर किसी के लिए लाभदायक होता है. अगर आप बच्चे में सैर करने की आदत डालना चाहते हैं तो उसके साथ आप भी सैर पर जाएं क्योंकि बच्चा माता पिता को देख कर जल्दी सीखता है.

Read also: क्या आप भी अपने बच्चे के चाय की लत से हैं परेशान!

3. दें स्वस्थ स्नैक्स

हमेशा कोशिश करें की बच्चे को खाने में स्वस्थ स्नैक्स ही दिया जाए. जैसे फ्रूट सलाद, वेज रोल, लो फैट चीज, ब्राउन ब्रेड सैंडविच आदि. इन सबके सिवा बच्चे को फल व शहद भी खिलाएं.

punjabkesari

4. टीवी देखते वक्त रखें स्नैक्स से दूर

वैसे तो सभी बच्चे को टीवी देखते हुए स्नैक्स खाना पसंद होता है लेकिन टीवी देखते-देखते इसका सेवन करने से बच्चे में मोटापे की समस्या हो सकती है. इसलिए जब बच्चे टीवी देख रहे हों तो उन्हें स्नैक्स देने से बचें.

5. ज्यादा देर तक गेम ना खेलें बच्चे

आजकल के बच्चे हमेशा टीवी, कंप्यूटर व वीडियो गेम में व्यस्त रहना चाहते हैं. पर उन्हें ज्यादा देर तक इसमें व्यस्त होने से बचना चाहिए. मोटापा नियंत्रण करने में यह उपाय भी कारगर साबित होगा.

6. हेल्दी चीजें ही खिलाएं

जब आपका बच्चा हर बार खाना-खाने में आनाकानी करे तो उसे ऐसा आहार दें जिसे वह आसानी से खा ले और बच्चे के शरीर को सही पोषण भी मिले जैसे ड्राई फ्रूट्स, दूध, वेजिटेबल सूप, दलिया आदि. क्या आप जानते हैं कि इन सभी फूड्स में फाइबर की अधिक से अधिक मात्रा रहती है और इसका सेवन करने से पेट देर तक भरा रहता है। इससे बच्चे के शरीर को जरूरी सभी पोषक तत्व भी मिल जाते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here